इंजीनियर बेटे का मां को टेक्निकल गिफ्ट:PPE किट पहनने पर डॉक्टर मां गर्मी से परेशान हो रही थी, बेटे ने PPE किट को कूल रखने वाली डिवाइस बना दी

पुणे5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
निहाल ने एक ऐसा डिवाइस तैयार किया है जो गर्मी के मौसम में शरीर को अंदर से कूल रखता है। निहाल को यह डिवाइस बनाने का आइडिया अपनी डॉक्टर मां की गर्मी में होने वाली कंडिशन को देख कर आया। - Dainik Bhaskar
निहाल ने एक ऐसा डिवाइस तैयार किया है जो गर्मी के मौसम में शरीर को अंदर से कूल रखता है। निहाल को यह डिवाइस बनाने का आइडिया अपनी डॉक्टर मां की गर्मी में होने वाली कंडिशन को देख कर आया।

कोरोना वायरस के खतरे को कम करने में PPE किट सबसे मददगार साबित हो रही है। हालांकि इसे लगातार पहनने के कारण गर्मी के मौसम में डॉक्टर्स को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस समस्या का हल ढूंढ निकाला है पुणे के 19 साल के निहाल सिंह ने। निहाल ने एक ऐसा डिवाइस तैयार किया है जो गर्मी के मौसम में शरीर को अंदर से कूल रखता है। निहाल को यह डिवाइस बनाने का आइडिया अपनी डॉक्टर मां की गर्मी में होने वाली कंडिशन को देख कर आया।

इस डिवाइस का फायदा सभी स्वास्थ्यकर्मी, कोरोना वॉरियर्स और डॉक्टर्स के साथ मरीजों की सेवा में जुटे उनके परिजन भी उठा सकते हैं। इंजीनियरिंग कॉलेज के स्टूडेंट निहाल सिंह आदर्श द्वारा डिजाइन डिवाइस को बनाने का काम मई 2020 में मुंबई के 'के.जे सोमैया इंजीनियरिंग कॉलेज' में बतौर प्रोजेक्ट शुरू हुआ था। निहाल के इस प्रोजेक्ट में कॉलेज के टीचर्स ने उनकी मदद की है।

इस डिवाइस की कीमत लगभग साढ़े 5 हजार रुपए है।
इस डिवाइस की कीमत लगभग साढ़े 5 हजार रुपए है।

डॉक्टर मां को राहत देने के लिए बनाया यह डिवाइस

निहाल ने कहा कि उन्होंने इसे अपनी मां डॉ. पूनम कौर की तकलीफ को ध्यान में रखकर बनाना शुरू किया था। वे आदर्श क्लिनिक, पुणे में कोविड -19 मरीजों का कई महीनों से इलाज कर रही हैं। इस डिवाइस का नाम 'कोव-टेक' (Cov-Tech) है। यह डिवाइस बनाने के लिए निहाल को भारत सरकार के विज्ञान एवं तकनीकी विभाग से 10 लाख रुपए की सहायता भी मिली है।

निहाल ने बताया, 'मैं कुछ नया करने की कोशिश कर रहा था। मैंने देखा कि कोविड मरीजों का इलाज करने वाले डॉक्टर्स और मां को पीपीई किट में बहुत परेशानी होती है। ऐसे में मैंने इस डिवाइस को विकसित करने के बारे में सोचा। मेरे आइडिया को कॉलेज ने सिलेक्ट किया और परमिशन दी कि मैं पुणे से मुंबई कॉलेज में लॉकडाउन के दौरान इस प्रोजेक्ट पर काम कर सकूं।'

अपनी मां डॉ. पूनम कौर के साथ निहाल।
अपनी मां डॉ. पूनम कौर के साथ निहाल।

ऐसे काम करता है यह डिवाइस
यह एक कॉम्पेक्ट वेंटीलेशन सिस्टम है। निहाल ने बताया कि जब हम यह डिवाइस बना रहे थे तो हमारा उद्देश्य यही था कि यह बहुत सस्ता हो। इस डिवाइस में एक फैन लगा है और यह बैट्री से कनेक्टेड रहता है। दोनों को PPE किट पहनने वाले की कमर में बांधा जाता है। फैन का एक हिस्सा अंदर और दूसरा किट के बाहर होता है। यह बाहर से ठंडी हवा लेकर किट में डालता है और इसके अंदर की गर्म हवा गर्दन के पास खुले हिस्से से बाहर निकल जाती है।

पुणे की एक कंपनी कर रही है निहाल के डिवाइस का कॉमर्शियल उत्पादन
निहाल ने बताया कि उन्होंने इसका फर्स्ट बैच बना दिया है और इसका बहुत पॉजिटिव रिस्पॉन्स देखने को मिला है। हमने रांजनगांव में 'संजय टेक्नो प्लास्ट' नाम की कंपनी से पार्टनरशिप किया है। वहां यह डिवाइस मैक्सिमम कैपेसिटी में बनाया जा रहा है। सरकार से इसे बनाए जाने में लगने वाली सभी मंजूरी मिल गई है।

बार-बार इस्तेमाल किया जा सकता है यह डिवाइस
निहाल ने बताया कि PPE किट एक बार के इस्तेमाल के बाद फेंक दिया जाता है जबकि इस डिवाइस का इस्तेमाल जितनी बार PPE किट बदला जाएगा, उतनी बार किया जा सकता है।

इस तरह से बॉडी पर फिट किया जाता है यह डिवाइस।
इस तरह से बॉडी पर फिट किया जाता है यह डिवाइस।

सिर्फ साढ़े 5 हजार है डिवाइस की कीमत

इस कूल डिवाइस की कीमत लगभग साढ़े 5 हजार रुपए है और इसे बड़ी आसानी से पीपीई किट में फिट किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि यह डिवाइस केवल 100 सेकेंड के अंदर उपयोगकर्ता को ताजी हवा प्रदान करता है।

खबरें और भी हैं...