पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संक्रमण की दर्दनाक कहानी:पुणे के एक परिवार के 4 सदस्यों की 8 दिन में कोरोना से मौत, आखिरी बची महिला की हालत भी गंभीर

पुणे2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतकों में दो भाई (बाएं) और उनके माता-पिता शामिल हैं। - Dainik Bhaskar
मृतकों में दो भाई (बाएं) और उनके माता-पिता शामिल हैं।

कोरोना की दूसरी लहर से देश में हो रही मौतों की संख्या अब डराने लगी है। ऐसी ही एक खबर पुणे से है। यहां सिर्फ 8 दिन में एक परिवार के 4 सदस्यों की मौत संक्रमण की वजह से हो गई। इनमें माता-पिता और उनके दो बेटे शामिल हैं। परिवार में सबसे पहले बड़े भाई संक्रमित हुए थे। इसके बाद उनकी हालत खराब होती गई। बड़े बेटे से संक्रमण उनके माता-पिता तक पहुंचा और फिर छोटा भाई और पत्नी भी संक्रमित हो गए। पत्नी को छोड़कर सभी ने एक-एक कर दम तोड़ दिया।

सभी एक छत के नीचे पुणे के हड़पसर इलाके में रहते थे। मरने वालों में लक्ष्मण, सुमन, श्यामसुंदर और विजय कोचेकर शामिल हैं। किसी एक हॉस्पिटल में जगह न मिलने की वजह से पांचों का इलाज अलग-अलग हॉस्पिटल में चल रहा था। धीरे-धीरे सभी की हालत गंभीर होती गई और आखिरकार एक महिला के अलावा पूरा परिवार दुनिया से चला गया।

महिला के लंग्स में 50% से ज्यादा संक्रमण
डॉक्टर्स के मुताबिक, सबसे पहले सुमन कोचेकर ने 16 अप्रैल को दम तोड़ा। इसके बाद उनके पति लक्ष्मण का निधन हुआ। 22 अप्रैल को श्यामसुंदर और फिर शुक्रवार को विजय की सांसें टूट गईं। श्यामसुंदर की पत्नी वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। उनके लंग्स में 50% से ज्यादा इंफेक्शन फैल चुका है।

पुणे में 1.16 लाख एक्टिव केस
जिले के अस्पतालों में एक लाख 16 हजार मरीजों का इलाज चल रहा है। अब तक 11,790 मरीजों की मौत दर्ज हुई है। जिले में मृत्यु दर 1.54% और रिकवरी रेट 85.11% है।

पिछले 24 घंटे में मिले 9,841 मरीज
पुणे जिले में बीते 24 घंटे में 9,841 मरीज मिले हैं। राहत की बात यह है कि इन 24 घंटे में 9,186 लोग रिकवर होकर अस्पताल से घर लौट गए। इस दौरान 115 मौतें दर्ज की गई हैं। जिले में कोरोना के संक्रमितों का आंकड़ा 7 लाख 63 हजार 194 तक पहुंच गया है। इनमें 6.49 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं।

खबरें और भी हैं...