• Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • A Nurse Administered Anti Rabies Injection To A Person Who Arrived In Thane To Get The Corona Vaccine, A Doctor And A Nurse Were Suspended

बड़ी लापरवाही:ठाणे में एक व्यक्ति को कोविड वैक्सीन की जगह एंटी रैबीज का इंजेक्शन लगाया गया, एक डॉक्टर और नर्स सस्पेंड

मुंबई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नगर निगम ने कहा है कि मरीज गलती से एंटी रैबीज इंजेक्शन वाली लाइन में लग गया था, इसलिए यह कन्फ्यूजन हुआ। - Dainik Bhaskar
नगर निगम ने कहा है कि मरीज गलती से एंटी रैबीज इंजेक्शन वाली लाइन में लग गया था, इसलिए यह कन्फ्यूजन हुआ।

कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच डॉक्टर्स और नर्सों की लापरवाही भी सामने आती रही हैं। ताजा मामला ठाणे से सामने आया है। यहां मंगलवार को वैक्सीनेशन ड्राइव के दौरान एक व्यक्ति को नर्स ने एंटी रैबीज (कुत्ते के काटने पर लगने वाला इंजेक्शन) का इंजेक्शन लगा दिया। हालांकि, इसकी जानकारी मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर आरोपी नर्स और इस ड्राइव के इंचार्ज डॉक्टर को सस्पेंड कर दिया गया है।

ठाणे नगर निगम के एडिशनल कमिश्नर संदीप मालवी ने बताया कि घटना ठाणे के कलावा इलाके के हेल्थ सेंटर की है। हमने एंटी रैबीज का इंजेक्शन लगाने वाली नर्स और डॉक्टर को सस्पेंड कर दिया है। इस पूरे मामले की जांच करवाई जा रही है और जिसे टीका लगाया गया है, उसे डॉक्टर्स की निगरानी में रखा गया है।

गलत लाइन में लगने से हुआ कन्फ्यूजन
संदीप मालवी ने बताया कि हेल्थ सेंटर पर राजकुमार यादव कोवीशील्ड वैक्सीन की डोज लेने आए थे, लेकिन गलती से जाकर उस कतार में लग गए जहां एंटी रैबीज इंजेक्शन लगाया जाता है। वहीं, हेल्थ सेंटर की नर्स कीर्ति पोपरे ने राजकुमार यादव के केस पेपर को देखे बिना ही इंजेक्शन लगा दिया। संदीप ने आगे कहा कि टीका लगाने से पहले मरीज के केस पेपर की जांच करना नर्स का फर्ज था।

यूपी में भी ऐसी लापरवाही सामने आई थी
उत्तर प्रदेश के शामली में भी बीते मार्च में ऐसी ही लापरवाही सामने आई थी। यहां 3 महिलाओं को कोरोना की जगह एंटी रैबीज का इंजेक्शन लगा दिया। इनमें से 70 साल की एक महिला की तबीयत खराब होने पर मामले का खुलासा हुआ। तीनों महिलाओं की उम्र 60 साल से ज्यादा थी।

खबरें और भी हैं...