पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Anil Deshmukh CBI Investigation Update; Parambir Singh | Uddhav Thackeray Sharad Pawar Govt, Maharashtra Home

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

100 करोड़ की वसूली:मुंबई पहुंचकर CBI ने मामला दर्ज किया, परमबीर से होगी पूछताछ; महाराष्ट्र सरकार जांच के फैसले के खिलाफ SC पहुंची

मुंबई13 दिन पहले

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगे 100 करोड़ की वसूली का टारगेट देने के आरोपों की जांच के लिए CBI की एक टीम मंगलवार को मुंबई पहुंची। इस मामले में CBI ने प्राथमिकी दर्ज कर ली है। हालांकि हाईकोर्ट ने इस मामले में FIR दर्ज किए बिना ही जांच करने को कहा है, लेकिन बिना किसी लिखित कंप्लेंट के CBI जांच शुरू नहीं कर सकती थी। इसीलिए इस मामले में प्राथिमिकी (Preliminary Enquiry या PE) दर्ज की गई है।

जांच एजेंसी इस मामले में आरोप लगाने वाले पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह से भी पूछताछ करेगी। बॉम्बे हाईकोर्ट ने सोमवार को इस मामले की CBI जांच के आदेश दिए थे। इसके कुछ ही घंटों बाद देशमुख ने इस्तीफा दे दिया था। सोमवार देर रात ही उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और वकील अभिषेक मनु सिंघवी से मुलाकात की। इसके बाद मंगलवार को CBI जांच के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर दी। इधर एक अपडेट ये भी है कि ED ने मंगलवार को मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में शिवसेना विधायक प्रताप सरनाइक के नजदीकी योगेश देशमुख को गिरफ्तार कर लिया है।

ACB संभाल चुके अभिषेक दुलार की अगुआई में CBI जांच शुरू
CBI की टीम सबसे पहले परमबीर सिंह का बयान दर्ज करेगी। इस टीम को हिमाचल प्रदेश कैडर के 2006 बैच के IPS अभिषेक दुलार हेड कर रहे हैं। IIT दिल्ली से इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग करने वाले दुलार स्टेट विजिलेंस और एंटी करप्शन ब्यूरो को भी संभाल चुके हैं। वे शिमला, मंडी और कुल्लू के पुलिस अधीक्षक रहे हैं। विजिलेंस डिपार्टमेंट में उनके काम को देखते हुए ही उन्हें इस केस की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

CBI परमबीर से ये 10 सवाल कर सकती है

1. आपको कब और कैसे 100 करोड़ की वसूली के बारे में जानकारी मिली, इसे डिटेल में बताएं?

2. सचिन वझे ने जब इस मामले का खुलासा किया गया तो आपने सबसे पहला कदम क्या उठाया?

3. आपने इस वसूली मामले को रोकने का प्रयास किया या नहीं? आपने कोई भी FIR या शिकायत क्यों नहीं दर्ज करवाई?

4. 16 साल तक सस्पेंड रहने पर सचिन वझे को किस आधार पर फिर से बहाल किया गया? इसमें आपकी क्या भूमिका थी?

5. क्राइम ब्रांच में कई सीनियर होने के बावजूद वझे को ही CIU का हेड क्यों बनाया गया?

6. प्रोटोकॉल नियम को दरकिनार करते हुए वझे सीधे आपको क्यों रिपोर्ट करते थे?

7. आपने उनके ज्वॉइन करने के तुरंत बाद लगभग सभी बड़े महत्वपूर्ण केस उन्हें क्यों सौंपे?

8. एक असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर होने के बावजूद वझे के रसूख पर आपको कभी संदेह नहीं हुआ?

9. एंटीलिया केस की जानकारी मिलने के बाद ज्यूरिस्डिक्शन नहीं होने के बावजूद वझे को इसकी जांच क्यों सौंपी गई?

10. सचिन वझे को स्पेशल पॉवर देने के लिए क्या कभी किसी पॉलिटिकल व्यक्ति ने दबाव बनाया था?

दिलीप पाटिल ने गृह मंत्री का पदभार ग्रहण किया
महाराष्ट्र के नए गृह मंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने मंगलवार दोपहर बाद पदभार ग्रहण कर लिया। पदभार ग्रहण करने के बाद पाटिल ने कहा कि बेहद मुश्किल समय में मुझे एक चैलेंजिंग रिस्पांसिबिलिटी सौंपी गई है। उन्होंने कहा कि जो निर्णय माननीय हाईकोर्ट की ओर से दिया गया है उसे चैलेंज करने का निर्णय राज्य सरकार ने लिया है। हमारी यह कोशिश रहेगी कि पुलिस डिपार्टमेंट सिस्टम से चले। सोमवार शाम को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल को चिट्ठी लिखकर देशमुख का इस्तीफा मंजूर करने की सिफारिश की थी, जिसे राज्यपाल ने मंजूर कर लिया था।

NCP नहीं चाहती थी देशमुख का इस्तीफा
देशमुख के इस्तीफे के बाद महाविकास अघाड़ी सरकार में तालमेल की कमी से सवाल उठ रहे हैं। असल में कहा जा रहा है कि शिवसेना देशमुख का इस्तीफा बहुत पहले से चाह रही थी, लेकिन NCP के दबाव में CM कोई कठोर कदम नहीं उठा पा रहे थे। हालांकि, एक रिटायर्ड जज की अध्यक्षता में जांच कमेटी गठित किए जाने के बाद से माना जा रहा था कि शिवसेना देशमुख का इस्तीफा चाहती है।

उधर, NCP देशमुख के खिलाफ तत्काल एक्शन की जगह उनके मंत्रालय को बदलना चाहती थी, लेकिन हाई कोर्ट के CBI जांच के आदेश के बाद CM ठाकरे ने जजमेंट की कॉपी मंगवाई और यह संकेत दिया कि वे जल्द इस मामले में कार्रवाई कर सकते है। इसके बाद ही माना जा रहा है कि देशमुख ने इस्तीफा दिया है।

गठबंधन में शामिल कांग्रेस भी नाराज
महा विकास अघाड़ी में सहयोगी कांग्रेस भी राजनीतिक घमासान और खुद को तरजीह न मिलने से नाखुश है। एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने पूरे घटनाक्रम पर कहा, 'यह तीन पार्टियों वाली सरकार है। जो भी होता है, सभी सहयोगियों को उसके परिणाम भुगतने पड़ेंगे। हालांकि वझे-देशमुख विवाद को NCP का मामला माना जा रहा है। NCP ने CM से विचार-विमर्श किया क्योंकि उन्हें करना पड़ा, लेकिन उन्होंने हमारी राय जानने की जहमत नहीं उठाई। अगर यह एक राजनीतिक लड़ाई है तो तीनों पार्टियों को साथ मिलकर लड़ना होगा। देशमुख के इस्तीफे से MVA की समस्याएं खत्म होना मुश्किल है, बल्कि ये और बढ़ेंगी।'

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

और पढ़ें