100 करोड़ की वसूली का आरोप:अनिल देशमुख के खिलाफ दर्ज FIR के संबंध में राज्य सरकार की याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट में अब 8 जून को होगी सुनवाई

मुंबई6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह के आरोप के बाद अनिल देशमुख ने गृहमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था। - Dainik Bhaskar
मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह के आरोप के बाद अनिल देशमुख ने गृहमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था।

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह द्वारा लगाये 100 करोड़ की वसूली का आरोप झेल रहे महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर याचिका पर अब 8 जून को सुनवाई होगी। इस याचिका में राज्य सरकार की ओर से देशमुख के खिलाफ दर्ज FIR के 2 पैराग्राफ को हटाने और उनके खिलाफ CBI द्वारा की जाने वाली कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की गई थी। याचिका में यह भी आरोप लगाया गया कि CBI उच्च न्यायालय द्वारा दिए गए निर्देशों से परे जाने की कोशिश कर रही है।

CBI ने इन दो पैराग्राफ में पिछले साल कोरोना संकट काल के दौरान निलंबित API सचिन बझे की बहाली और कुछ पुलिस अधिकारियों के तबादले का उल्लेख किया है। इसी को लेकर राज्य सरकार को आपत्ति है। याचिका में राज्य सरकार की ओर से कहा गया है कि अदालत ने अपने 5 अप्रैल के आदेश में परमबीर सिंह के आरोप की जांच का आदेश दिया था। वझे की बहाली और ट्रांसफर के मामले पर कोर्ट ने कोई टिप्पणी नहीं की थी।। इसके बाद मामले की सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने अगली सुनवाई तक देशमुख के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने का निर्देश दिया है।

गृह विभाग को CBI के इन मुद्दों पर भी है आपत्ति
गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा दायर याचिका में कहा गया है कि CBI सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश का उल्लंघन कर रही है, जिसमें देशमुख के खिलाफ बिना FIR के जांच करने को कहा गया था। याचिका में यह भी कहा गया है कि महाराष्ट्र देश के कुछ ऐसे राज्यों में से है, जहां राज्य सरकार की अनुमति के बिना CBI कोई जांच नहीं कर सकती है। इस मामले में CBI ने राज्य सरकार की अनुमति के बिना मामलों की जांच की है। याचिका में यह भी कहा गया है कि CBI ने दिल्ली विशेष पुलिस स्थापना अधिनियम की धारा 6 के प्रावधानों का उल्लंघन किया है।

मंगलवार को देशमुख के करीबी के घर पड़ा था ED का छापा
इससे पहले मंगलवार को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शिवाजीनगर में महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के करीबी सहयोगी सागर भटेवार के घर छापा मारा था। सागर को देशमुख का बिजनेस पार्टनर कहा जा रहा है।

सूत्रों के मुताबिक, ED की टीम मंगलवार को सुबह करीब 9.30 बजे सागर के घर पहुंची और तलाशी ली। हालांकि टीम के सदस्यों ने यह नहीं बताया कि तलाशी के दौरान कौन से दस्तावेज मिले हैं, लेकिन सूत्रों का दावा है कि कई तरह के दस्तावेज ED टीम अपने साथ ले गई है।

पहले भी छापेमारी कर चुकी है CBI
इससे पहले मार्च महीने में CBI ने देशमुख के नागपुर और मुंबई स्थित घरों व अन्य ठिकानों पर छापे भी मारे थे। CBI की FIR के आधार पर ही ED ने भी देशमुख के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के तहत ECIR दर्ज की है।

इस केस में देशमुख के अलावा उनके कुछ करीबियों को भी संदिग्ध माना गया है। सागर के घर छापे की कार्रवाई को देशमुख के इन सभी करीबियों पर ED का शिकंजा कसने की शुरुआत माना जा रहा है।