क्रूज ड्रग केस में नया ट्विस्ट:वानखेड़े पर रिश्वत का आरोप लगाने वाले प्रभाकर सैल ने कहा- मुझे NCB ने पूछताछ के लिए बुलाया ही नहीं

मुंबई7 महीने पहले

आर्यन खान से जुड़े क्रूज ड्रग्स केस में सोमवार को नया ट्विस्ट आ गया। समीर वानखेड़े और केपी गोसावी पर रिश्वत का आरोप लगाने वाले प्रभाकर सैल ने कहा है कि NCB ने उनसे पूछताछ ही नहीं की है। प्रभाकर के वकील तुषार एन खंडारे सोमवार को NCB के अफसरों से मिले और उन्हें बताया कि पूछताछ के लिए बुलाए जाने पर प्रभाकर कभी भी NCB ऑफिस आएंगे।

प्रभाकर ने अपने वकील के जरिए भेजी चिट्ठी में कहा है कि NCB की विजलेंस विंग ने उन्हें पूछताछ के लिए कोई समन ही नहीं दिया। उन्होंने लिखा, 'मुझे मीडिया रिपोर्ट्स के माध्यम से पता चला है कि NCB ने समन भेजकर मुझे पूछताछ के लिए बुलाया है। मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं मुझे कोई समन नहीं भेजा गया है और न ही NCB की टीम ने मुझसे कोई संपर्क किया है। मुझे बुलाया जाएगा तो मैं उनके पास जाऊंगा और बयान दर्ज करवाने के साथ सभी सबूत भी दूंगा।'

प्रभाकर का आरोप है कि वानखेड़े और गोसावी के बीच करोड़ों की घूस लेने की बात हुई थी।
प्रभाकर का आरोप है कि वानखेड़े और गोसावी के बीच करोड़ों की घूस लेने की बात हुई थी।

प्रभाकर ने लगाया था यह आरोप
आर्यन ड्रग्स केस में प्रभाकर NCB का स्वतंत्र गवाह है। उसका दावा है कि रेड के दौरान वह भी क्रूज पर मौजूद था। प्रभाकर ने दावा किया था कि NCB ने उससे पंचनामा पेपर बताकर खाली कागज पर जबरन साइन करवाए थे। उसे आर्यन या किसी और की गिरफ्तारी के बारे में नहीं पता था।

प्रभाकर ने आरोप लगाया था कि उसने गोसावी को फोन पर डिसूजा को 25 करोड़ रुपये की मांग के बारे में बात करते हुए सुना था और मामला 18 करोड़ पर तय हुआ था, क्योंकि उन्हें आठ करोड़ रुपये समीर वानखेड़े को देने थे।

प्रभाकर के आरोप के बाद NCB कर रही जांच
प्रभाकर के आरोपों के बाद NCB की विजलेंस विंग ने 4 सदस्यों की टीम बनाकर मामले में जांच शुरू की थी। समीर वानखेड़े जांच टीम के सामने पेश हुए थे और अपनी सफाई रखी थी। जांच के दौरान विजलेंस टीम ने मुंबई पुलिस से मदद की अपील करते हुए, मुंबई पुलिस कमिश्नर को पत्र लिख कर प्रभाकर सैल को NCB की विजिलेंस टीम के सामने पेश करवाने की बात कही थी। चिट्ठी में दावा किया गया था कि दो दिन तक बुलाने के बाद भी प्रभाकर पेश नहीं हुए हैं। NCB की विजलेंस टीम इस मामले में कई स्वतंत्र गवाहों से पूछताछ कर चुकी है।