आर्यन की रिहाई में नियमों का रोड़ा:हाईकोर्ट के ऑर्डर की टाइमिंग, सेशंस कोर्ट में कागजी कार्रवाई और ट्रैफिक के कारण आज भी जेल में कटेगी रात

मुंबईएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान का घर लौटने का 26 दिनों का इंतजार शुक्रवार को भी खत्म नहीं हो सका। सही समय पर बेल ऑर्डर नहीं पहुंचने के कारण अब उन्हें एक और रात मुंबई की आर्थर रोड जेल में बितानी होगी।

जेल सूत्रों के मुताबिक आर्यन कई घंटों तक जेलर के ऑफिस में अपने सामान के साथ इंतजार करते रहे। अब यह तय है कि आर्यन शनिवार को सुबह 11 बजे के आसपास ही जेल से बाहर आ सकेंगे।

देर से आया हाईकोर्ट का ऑर्डर
आर्यन की जमानती रिहाई में देरी के लिए मुंबई का ट्रैफिक, सेशंस कोर्ट की कार्रवाई और हाईकोर्ट से देर में आया ऑपरेटिव जजमेंट सबसे बड़ा कारण रहा। जस्टिस नितिन साम्ब्रे की कोर्ट ने दोपहर तकरीबन 3.30 बजे यह जजमेंट हाईकोर्ट की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया था। नियम के अनुसार, इसकी सर्टिफाइड कॉपी लेकर स्पेशल NDPS कोर्ट पहुंचना था। इसमें भी कुछ समय लग गया।

सेशंस कोर्ट की कार्रवाई में लगा समय
तकरीबन 4.30 बजे एक्ट्रेस जूही चावला उनकी जमानती बनने सेशंस कोर्ट पहुंची और इसके बाद की प्रक्रिया में एक घंटे से जादा का समय लगा। वे शाम 6 बजे सेशंस कोर्ट से बाहर निकलीं। इस दौरान राजस्व विभाग में आर्यन का सिक्योरिटी बॉन्ड भरा गया और अन्य कुछ सरकारी पेपर पर उनके वकील की ओर से सिग्नेचर किए गए। इन सब में भी टाइम लग गया।

जेल के लिए 5.30 की समय सीमा तय थी
NDPS कोर्ट से आर्थर रोड जेल तकरीबन 6 किलोमीटर दूर है। शाम 6 बजे तक आर्यन का बेल ऑर्डर जेल के बाहर लगी जमानती पेटी तक नहीं पहुंच पाया। नियम के अनुसार, जमानती पेटी में शाम 5.30 बजे तक पहुंचे रिलीज ऑर्डर को ही कंसीडर किया जाता है। माना जा रहा है कि मुंबई के ट्रैफिक की वजह से भी जमानती ऑर्डर समय से जेल की पेटी तक नहीं पहुंचा।