• Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Cyclone Tauktae Mumbai Update; Maharashtra News | 11 People Killed, 6349 Villages Affected, Raigad Ratnagiri Thane Impact By Strom

चला गया ताऊ ते, पीछे छूटी तबाही:महाराष्ट्र में 11 लोगों की मौत, 6349 गांव प्रभावित; तूफान का सबसे ज्यादा असर मुंबई में, सैकड़ों पेड़ गिरे

मुंबई6 महीने पहलेलेखक: विनोद यादव
  • कॉपी लिंक
पेड़ गिरने की वजह से मुंबई के कई इलाकों में वाहनों को नुकसान पहुंचा। इससे ट्रैफिक भी प्रभावित हुआ। - Dainik Bhaskar
पेड़ गिरने की वजह से मुंबई के कई इलाकों में वाहनों को नुकसान पहुंचा। इससे ट्रैफिक भी प्रभावित हुआ।

चक्रवाती तूफान ताऊ ते महाराष्ट्र में भारी तबाही मचाकर आगे बढ़ गया। इससे 6,349 से ज्यादा गांव प्रभावित हुए हैं। 11 लोगों की मौत हुई है। जान गंवाने वालों में से 4 रायगढ़ जिले से, रत्नागिरी और ठाणे से 2-2, सिंधुदुर्ग और धुले से 1-1 हैं। एक व्यक्ति की मौत मुंबई के मीरा रोड इलाके में हुई है।

प्रभावित इलाकों में नुकसान का अनुमान लगाया जा रहा है। सिर्फ सिंधुदुर्ग जिले में 5.77 करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान हुआ है। मुंबई, ठाणे, पालघर, रायगढ़ और रत्नागिरी जिले में नुकसान की शुरुआती जानकारी आनी बाकी है।

मुंबई में 479 स्थानों पर पेड़ गिरे हैं और 60 से अधिक जगहों पर ट्रैफिक प्रभावित हुआ है। सैकड़ों वाहनों को नुकसान पहुंचा है। तूफान के चलते लोकल, मोनो रेल और उड़ानें भी प्रभावित हुई हैं। मौसम विभाग के मुताबिक ताऊ ते की वजह से मुंबई में 114 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली।

प्रभावित जिलों में पावर सप्लाई भी प्रभावित हुई
महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने बताया कि तूफान से ठाणे, सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी, रायगढ़, पुणे, पालघर और कोल्हापुर में कुल 188 इलेक्ट्रिक सब स्टेशन को नुकसान पहुंचा। इनमें से 133 सब स्टेशनों को सोमवार रात 9 बजे ठीक कर लिया गया। 1,095 फीडर्स को भी नुकसान पहुंचा है। इनमें से 656 ठीक किए गए।

ऊर्जा विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफान से 6349 गांवों में बिजली आपूर्ति प्रभावित हुई थी। इनमें से 2,689 गांवों में सुविधा बहाल हो गई है। अभी भी तूफान प्रभावित 16,001 डीटीसी, 119 हाइटेंशन और 209 लो-टेंशन की लाइनों को ठीक करने का काम चल रहा है।

तेज हवाओं की वजह से मुंबई स्थित देश का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन सेंटर धराशायी हो गया।
तेज हवाओं की वजह से मुंबई स्थित देश का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन सेंटर धराशायी हो गया।

मुंबई के इन इलाकों में जलजमाव
पेडर रोड के गमदिया जंक्शन, नेताजी पालकर चौक, आरटीआई जंक्शन, हिंदमाता जंक्शन, मिलन सब-वे, छेड़ा नगर जंक्शन, माटुंगा सर्कल, सायन सर्कल और घाटकोपर के डेरासर लेन समेत कई जगहों पर जल-जमाव हो गया। पुलिस कंट्रोल रूम से पता चला कि 6 लोगों को मामूली चोटें आई हैं।

मुंबई के कई इलाकों में गाड़ियों पर पेड़ गिरने से भारी नुकसान हुआ है।
मुंबई के कई इलाकों में गाड़ियों पर पेड़ गिरने से भारी नुकसान हुआ है।

लोकल ट्रेनों में न के बराबर दिखे लोग
तूफान के चलते लोकल ट्रेनों में सामान्य से भी कम यात्री दिखे। तेज हवाओं के कारण कई पेड़ धराशायी हो गए। विज्ञापन के बड़े-बड़े होर्डिंग और टीन शेड ओवर हेड लाइन पर गिरने से ट्रेनों की आवाजाही रुक गई। सोमवार दिनभर के लिए मोनो रेल सेवा को बंद रखा गया था, जबकि वर्सोवा से घाटकोपर के बीच मेट्रो सेवा अपने तय समय पर चलती रही।

मुंबई के भिंडी बाजार इलाके की झुग्गी बस्ती में भी पानी भर गया। इसे निकाला जा रहा है।
मुंबई के भिंडी बाजार इलाके की झुग्गी बस्ती में भी पानी भर गया। इसे निकाला जा रहा है।

मुंबई में 479 जगहों पर पेड़ गिरे
मुंबई में कुल 479 स्थानों पर पेड़ गिरे। बीएमसी के अनुसार, मुंबई शहर में 156, पूर्वी उपनगर में 78 और पश्चिम उपनगर में 243 स्थानों पर पेड़ गिरने की शिकायत मिली है। इस दौरान कुल 17 शॉर्ट सर्किट की भी शिकायतें आईं। शहर में 6, पूर्वी उपनगर में 2 और पश्चिम उपनगर में 9 स्थानों पर शॉर्ट सर्किट की घटनाएं सामने आईं।

पश्चिम मुंबई के कई इलाकों में सड़कों की स्थिति कुछ ऐसी रही।
पश्चिम मुंबई के कई इलाकों में सड़कों की स्थिति कुछ ऐसी रही।

भायंदर में एक इमारत का बड़ा हिस्सा गिरा
भायंदर पश्चिम के शिवसेना गली में एक जर्जर इमारत का बड़ा हिस्सा गिर गया। दमकल विभाग के मुताबिक इसमें करीब 70 लोग रह रहे थे। महानगर पालिका के दमकल विभाग की टीम ने इनमें से ज्यादातर लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया है। इस घटना में किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है।

मुंबई में BMC के कर्मचारियों को रेस्क्यू करते स्थानीय पुलिसकर्मी।
मुंबई में BMC के कर्मचारियों को रेस्क्यू करते स्थानीय पुलिसकर्मी।

कांग्रेस ने की मुआवजे की मांग
महाविकास आघाडी सरकार के प्रमुख घटक दल कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष नसीम खान ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट और मंत्री विजय वडेट्‌टीवार को पत्र लिख कर तूफान प्रभावित लोगों के लिए मुआवजे की मांग की है। खान ने बताया कि तूफान से सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी और रायगढ़ जिले के आम और केला उत्पादक किसानों को भारी नुकसान हुआ है। इसके अलावा बड़ी संख्या में लोगों के घरों को नुकसान पहुंचा है।

खबरें और भी हैं...