पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुंडे की पत्नी का दावा करने वाली महिला गिरफ्तार:एक महिला समेत दो लोगों संग मारपीट का है आरोप, करुणा शर्मा की कार से बरामद हुई पिस्तौल; रविवार को प्रेस कांफ्रेंस कर करने वाली थी बड़ा खुलासा

बीड21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पिस्तौल मिलने के बाद विशाखा घाडगे नाम की महिला की कंप्लेंट पर करुणा शर्मा और अरुण मोरे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। - Dainik Bhaskar
पिस्तौल मिलने के बाद विशाखा घाडगे नाम की महिला की कंप्लेंट पर करुणा शर्मा और अरुण मोरे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

महाराष्ट्र के बीड जिले के परली से रविवार को गिरफ्तार हुई करुणा शर्मा नाम की महिला को अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। करुणा वहीं महिला हैं, जिन्होंने कुछ दिनों पहले मंत्री धनंजय मुंडे की दूसरी पत्नी होने का दावा किया था। करुणा के साथ गिरफ्तार हुए अरुण मोरे नाम के शख्स को 3 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा गया है। दोनों पर एक महिला और एक पुरुष पर हमले का आरोप है। पुलिस ने यह भी दावा किया है कि करुणा शर्मा की कार से एक पिस्तौल बरामद हुई है। सोमवार को इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है।

खुलासे से पहले हुई गिरफ्तारी
करुणा शर्मा ने पहले सोशल मीडिया पर यह कहा था कि वे रविवार को परली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मंत्री धनंजय मुंडे को लेकर कुछ नए खुलासे करेंगी। रविवार दोपहर वे जैसे ही परली के श्री वैद्यनाथ मंदिर इलाके में पहुंची, वहां कुछ लोगों ने उनकी गाड़ी को रोक लिया। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस की एक टीम करुणा को लेकर पुलिस स्टेशन आ गई। इसके बाद उनकी कार की जांच की गई और जांच के दौरान उसमें से एक पिस्तौल बरामद हुई।

करुणा शर्मा की कार से यह पिस्तौल बरामद हुई थी।
करुणा शर्मा की कार से यह पिस्तौल बरामद हुई थी।

पिस्तौल मिलने के बाद करुणा को किया गया अरेस्ट
पिस्तौल मिलने के बाद विशाखा घाडगे नाम की महिला की कंप्लेंट पर करुणा शर्मा और अरुण मोरे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। विशाखा ने करुणा पर जातिसूचक गाली देने का भी आरोप लगाया है। जिसके बाद उनके खिलाफ SC-ST एक्ट के तहत भी केस दर्ज किया गया है। बीड के एसपी राजा रामास्वामी ने शिकायत के हवाले से कहा कि उस समय करुणा के साथ आए अरुण मोरे ने गुड्डू तंबोली नाम के एक व्यक्ति पर चाकू से हमला भी किया है।

इन धाराओं में हुई दोनों की गिरफ्तारी
रामस्वामी के मुताबिक, रविवार को हुई घटना के संबंध में विशाखा घाडगे की शिकायत पर करुणा शर्मा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 307 (हत्या का प्रयास), 323 (जानबूझकर चोट पहुंचाना), 504 (अपमान करना), 506 (आपराधिक धमकी) और 34 (समान मंशा) और अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) कानून के तहत मामला दर्ज किया गया और दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।

गिरफ्तारी के बाद करुणा ने कहा कि धनंजय मुंडे मुझे धोखा देने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने मुझे फंसने के लिए मेरी कार में जबरन रिवॉल्वर डलवाई। मैं परली के वैजनाथ मंदिर में दर्शन के लिए गई थी और मेरी कार को तोड़ने का प्रयास किया गया।

करुणा शर्मा की बहन ने भी लगाया था आरोप
करुणा शर्मा की बहन रेणु शर्मा ने भी धनंजय मुंडे के खिलाफ मुंबई के ओशिवारा पुलिस स्टेशन में पहले शिकायत दर्ज करवाई थी, इसके बाद महाराष्ट्र में खूब हंगामा हुआ। हालांकि, तकरीबन 10 दिन बाद रेणु ने यू-टर्न लेते हुए मुंडे पर लगे आरोप को मानसिक तनाव में लगाए आरोप कहते हुए वापस ले लिया था। रेणु के इस आरोप के बाद मुंडे भी मीडिया के सामने आये थे और उन्होंने यह स्वीकार किया था कि वे उनका करुणा संग संबंध रहा है और शर्मा से उनके दो बच्चे भी हैं।

इस मामले की तुरंत जांच होनी चाहिए: फडणवीस
इस संबंध में नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस ने सोमवार को कहा कि करुणा की गिरफ्तारी से कानून-व्यवस्था की तस्वीर साफ नजर आ रही है। इस घटना की गहनता से जांच होनी चाहिए। इस देश में सभी को बोलने का अधिकार है। इससे कोई वंचित नहीं रह सकता। कार में पिस्टल डालने को लेकर जो भी आरोप लगे हैं, वे बेहद गंभीर हैं, मामले की सच्चाई सभी के सामने आनी चाहिए।

खबरें और भी हैं...