पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुंबई में बत्ती गुल होने का मामला:ऊर्जा मंत्री नितिन राउत बोले- बिजली आपूर्ति ठप होने की घटना किसी के द्वारा जानबूझकर की गई हरकत हो सकती है

मुंबई8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नितिन राउत ने सोमवार को ही इस पूरे मामले की जांच का आदेश दे दिया था। - Dainik Bhaskar
नितिन राउत ने सोमवार को ही इस पूरे मामले की जांच का आदेश दे दिया था।
  • राउत ने मीडिया से कहा कि महानगर, ठाणे और नवी मुंबई में बिजली आपूर्ति ठप होना कोई छोटा मुद्दा नहीं है

महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने बुधवार को कहा कि दो दिन पहले मुंबई में बिजली आपूर्ति ठप होने की घटना, किसी के द्वारा जानबूझकर की गई हरकत हो सकती है। राउत ने मीडिया से कहा कि महानगर, ठाणे और नवी मुंबई में बिजली आपूर्ति ठप होना कोई छोटा मुद्दा नहीं है।

उन्होंने कहा,"हम 400 केवी कलवा-पड़घा लाइन पर काम कर रहे थे और लोड को सर्किट एक से दो पर ट्रांसफर किया गया था। लेकिन कुछ तकनीकी समस्या के कारण खारगर इकाई बंद हो गई। मुंबई में हाई लेडिंग हुई जो नहीं होना चाहिए था।"

जांच के लिए केंद्र की टीम मुंबई पहुंची
राउत ने कहा, "इसीलिए हमें आशंका है कि किसी ने जानबूझकर यह काम किया। इस मुद्दे पर चर्चा करने के लिए केंद्र सरकार का एक तकनीकी दल यहां है और जांच समिति भी बनाई जाएगी।" मंत्री ने कहा कि केंद्र का दल एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट सौंप देगा।

मुंबई समेत कई इलाकों में नहीं थी तीन घंटे बिजली
मंत्री ने कहा कि 2011 में भी इस तरह की घटना हुई थी। उस वक्त जिस समिति ने जांच की थी उसकी रिपोर्ट का भी अध्ययन किया जाएगा। सोमवार को ग्रिड फेल होने के कारण पूरे मुंबई रीजन यानी मुंबई, ठाणे, मुंबई, नवी मुंबई और पनवेल समेत कई इलाकों में लाइट गुल हो गई थी। इसकी वजह से लोकल ट्रेन, ट्रैफिक लाइट्स, ऑफिस, हाईकोर्ट समेत कई प्रतिष्ठान तीन घंटे तक ठप हो गए थे।

मुंबई में बिजली की कितनी खपत?

मुंबई में इस समय करीब रोजाना 3000-3200 मेगावाट बिजली की खपत होती है। हालांकि, दिन और रात में खपत का रेशो अलग होता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, अडानी इलेक्ट्रिसिटी मुंबई लिमिटेड मुंबई उपनगरों में 27 लाख कंज्यूमर्स को बिजली देता है। इसमें करीब 21 लाख घरेलू उपभोक्ता है। वहीं, टाटा पावर मुंबई में लगभग 7 लाख उपभोक्ताओं को बिजली की आपूर्ति करता है।

खबरें और भी हैं...