पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Farmers Protest (Kisan Andolan); Maharashtra Mumbai Tractor Rally Latest Update | Kisan Republic Day 2021 Parade And Andolan Today 26 January News Update

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

7 राज्यों से किसानों की रैली पर रिपोर्ट:अमृतसर में रैली के ट्रैक्टर ने दो महिलाओं को कुचला, फरीदाबाद में लाठीचार्ज के बाद धारा 144 लागू

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के लिए मंगलवार को पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के किसान पहुंचे। दिल्ली के अलावा देश के कई अन्य शहरों में भी किसान आंदोलन के समर्थन में ट्रैक्टर परेड निकाली गईं। इस दौरान पंजाब के अमृतसर में रैली का ट्रैक्टर बेकाबू होकर कई लोगों पर चढ़ गया। हादसे में दो महिलाओं की मौत हो गई, जबकि पांच लोग घायल हो गए।

आंदोलन के चलते हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर ने पानीपत का तय कार्यक्रम छोड़कर पंचकूला में तिरंगा फहराया। वहीं, फरीदाबाद में किसानों ने बैरिकेडिंग तोड़ने की कोशिश की, तो पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज किया। तनाव के बाद यहां धारा 144 लागू कर दी गई। राजस्थान, छत्तीसगढ़, झारखंड़, महाराष्ट्र में भी रैलियां निकाली गईं। हम बता रहे हैं सात राज्यों में दिनभर में क्या हुआ-

किसान आंदोलन पर 7 राज्यों की रिपोर्ट..

राजस्थान: मानेसर से वापस आए किसान
अलवर के शाहजहांपुर बॉर्डर से किसान सुबह 11 बजे दिल्ली के लिए रवाना हुए। पहला ट्रैक्टर आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले शहीदों के नाम का निकला। दोपहर तक तीन हजार से ज्यादा वाहन मानेसर के लिए रवाना हुए। परेड में ट्रैक्टरों से ज्यादा जीप और कारें शामिल थीं। हरियाणा पुलिस जयपुर-दिल्ली हाईवे से एक-एक ट्रैक्टर को आगे जाने दे रही थी। ज्यादातर वाहनों पर तिरंगा और किसान यूनियन के झंडे लगे थे और देशभक्ति के गाने बज रहे थे। शाहजहांपुर खेड़ा हरियाणा बॉर्डर से मानेसर पहुंचे किसानों को जब आगे नहीं जाने दिया गया, तो वे वहां से वापस लौट आए।

शाहजहांपुर बॉर्डर पर सुबह किसानों के लिए खाना तैयार किया गया।
शाहजहांपुर बॉर्डर पर सुबह किसानों के लिए खाना तैयार किया गया।

उत्तर प्रदेश: गाजियाबाद में पथराव, किसानों ने बैरिकेड तोड़े
उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में गाजीपुर बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच भिड़ंत हो गई। पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े तो किसानों ने पथराव कर दिया और गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की। किसानों का आरोप है कि पुलिस ने तय रूट पर भी बैरिकेड लगा दिए थे। किसानों ने अक्षरधाम में भी बैरिकेड्स को तोड़ दिया, जहां से वे सराय काले खां की तरफ बढ़ गए।

ये फोटो गाजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर की है। किसान यहां बैरिकेड तोड़ते हुए आगे बढ़े।
ये फोटो गाजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर की है। किसान यहां बैरिकेड तोड़ते हुए आगे बढ़े।

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी ने हर जिले में ट्रैक्टर मार्च निकाला। लखनऊ में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया। बस्ती, शामली और सिद्धार्थनगर में सपा कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प हुई। आंदोलन को देखते हुए लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे बंद किया गया था। वहीं, दिल्ली-एनसीआर और गाजियाबाद में इंटरनेट बंद कर दिया गया।

झारखंड: रांची में ट्रैक्टर रैली और मोटरसाइकिल पर जुलूस
किसानों के समर्थन में रांची के अलग-अलग हिस्सों में जुलूस निकाला गया। दोपहर दो बजे से वाम मोर्चा ने राजेंद्र चौक से मोरहाबादी तक करीब 4 किलोमीटर तक रैली निकाली। वहीं, राजद ने बिरसा चौक से मोरहाबादी तक 6 किलोमीटर तक बाइक जुलूस निकाला।

रांची में किसानों के समर्थन में बाइक रैली निकाली गई।
रांची में किसानों के समर्थन में बाइक रैली निकाली गई।

हरियाणा: फरीदाबाद में पुलिस के लाठीचार्ज के बाद तनाव
हरियाणा के फरीदाबाद में किसान आंदोलन उग्र हो गया। दिल्ली की तरफ बढ़ रहे किसानों को पुलिस ने सीकरी में बैरिकेड लगाकर रोकने की कोशिश की, लेकिन वे ट्रैक्टर लेकर जबरन आगे बढ़ने लगे। इस पर पुलिस ने किसानों पर लाठियां भांजनी शुरू कर दीं। घटना में कई किसान घायल हुए। 12 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

हरियाणा से दिल्ली की तरफ बढ़ रहे सभी ट्रैक्टर्स पर तिरंगा लगा था।
हरियाणा से दिल्ली की तरफ बढ़ रहे सभी ट्रैक्टर्स पर तिरंगा लगा था।

फरीदाबाद के जिला मजिस्ट्रेट यशपाल ने ट्रैक्टर परेड के मद्देनजर जिले में धारा 144 लागू करने के आदेश जारी किए हैं। किसी भी तरह के हथियार जैसे लाठी, तलवार, कुल्हाड़ी या फायर आर्म्स लेकर चलने पर पाबंदी लगा दी गई है।

हरियाणा की तरफ से दिल्ली जा रहे कुछ ट्रैक्टरों पर काले झंडे लगे दिखाई दिए।
हरियाणा की तरफ से दिल्ली जा रहे कुछ ट्रैक्टरों पर काले झंडे लगे दिखाई दिए।

पंजाब: अमृतसर में दो महिलाओं की मौत
अमृतसर के वल्लां गांव में मार्च के दौरान एक ट्रैक्टर के ड्राइवर ने अचानक कंट्रोल खो दिया। इससे ट्रैक्टर बेकाबू होकर भीड़ में शामिल लोगों पर चढ़ गया। इसमें दो महिलाओं की मौत हो गई, वहीं पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। ट्रैक्टर ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है।

अमृतसर के वल्लां गांव में लोगों को कुचलने वाले ट्रैक्टर को हटाते लोग।
अमृतसर के वल्लां गांव में लोगों को कुचलने वाले ट्रैक्टर को हटाते लोग।

दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च निकाल रहे किसानों के समर्थन में जालंधर में भी किसान व अलग-अलग संगठनों से जुड़े लोग सड़कों पर उतरे। भारतीय किसान यूनियन राजेवाल की अगुवाई में वाल्मीकि संगठनों के अलावा दूसरे धार्मिक संगठनों से जुड़े लोगों ने शहर में रैली निकाली। गुट के युवा नेता अमरजोत सिंह ने कहा- ट्रैक्टर मार्च कर रहे किसानों पर बल प्रयोग करना निंदनीय है। किसान अपने हक की मांग कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ : रायपुर में भी ट्रैक्टर मार्च
रायपुर में वामपंथी किसान संगठनों ने ट्रैक्टर मार्च निकालने का ऐलान किया था। वहीं, बिलासपुर में दोपहर एक बजे से ट्रैक्टर रैली निकलनी थी, लेकिन डेढ़ बजे तक सिर्फ दो ही ट्रैक्टर प्रदर्शन स्थल पर पहुंच सके थे।

ये फोटो बिलासपुर का है। दोपहर डेढ़ बजे तक रैली के लिए सिर्फ दो ट्रैक्टर पहुंचे थे।
ये फोटो बिलासपुर का है। दोपहर डेढ़ बजे तक रैली के लिए सिर्फ दो ट्रैक्टर पहुंचे थे।

महाराष्ट्र: आजाद मैदान में किसानों ने किया ध्वजारोहण
नासिक से 180 किलोमीटर का सफर तय कर मुंबई पहुंचे किसान पूरी रात आजाद मैदान में काटने के बाद अब लौटने लगे हैं। वापसी से पहले करीब 10 हजार से ज्यादा किसानों ने गणतंत्र दिवस के मौके पर आजाद मैदान में ध्वजारोहण किया। इस मौके पर महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले भी किसानों के साथ मौजूद थे।

मंगलवार को मुंबई के आजाद मैदान में ध्वजारोहण के वक्त मौजूद किसान।
मंगलवार को मुंबई के आजाद मैदान में ध्वजारोहण के वक्त मौजूद किसान।

मुंबई के कार्यक्रम की खास बात यह रही कि यहां बड़ी संख्या में महिलाएं भी किसानों के साथ पहुंची थीं। ध्वजारोहण के बाद किसान बस, ट्रेन और जीप के जरिए अपने-अपने गांव की तरफ रवाना हो गए।

मुंबई में ध्वजारोहण के बाद तिरंगे को सलामी देती हुई महिलाएं।
मुंबई में ध्वजारोहण के बाद तिरंगे को सलामी देती हुई महिलाएं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

और पढ़ें