पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भारत-इंग्लैंड मैच पर सट्टा:पुणे में स्टेडियम के बाहर से दूरबीन से मैच पर नजर रख रहे 33 सट्टेबाज गिरफ्तार; 4 कैमरे और 74 मोबाइल समेत 45 लाख का सामान जब्त

पुणे6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कमिश्नर कृष्ण प्रकाश ने बताया कि इस मामले के तार देश के अलग-अलग हिस्सों से जुड़े हुए हैं, इसलिए आने वाले दिनों में कुछ और लोग भी गिरफ्त में आ सकते हैं। - Dainik Bhaskar
कमिश्नर कृष्ण प्रकाश ने बताया कि इस मामले के तार देश के अलग-अलग हिस्सों से जुड़े हुए हैं, इसलिए आने वाले दिनों में कुछ और लोग भी गिरफ्त में आ सकते हैं।

पुलिस ने भारत और इंग्लैड के बीच पुणे में शुक्रवार को हुए दूसरे वनडे मैच के दौरान सट्‌टेबाजी कर रहे 33 लोगों को अरेस्ट किया है। ये लोग मैच पर दूरबीन से नजर रख रहे थे। इसी दौरान पिंपरी चिंचवड़ पुलिस ने उन्हें दबोच लिया। ये सभी देश के अलग-अलग हिस्सों के रहने वाले हैं और मैच के लिए पुणे आए थे, लेकिन कोरोना के बढ़ते खतरे की वजह से पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन (MCA) स्टेडियम में दर्शकों की एंट्री पर रोक लगा दी गई।

स्टेडियम के बगल की इमारत से रख रहे थे नजर
पिंपरी चिंचवड़ के कमिश्नर कृष्ण प्रकाश ने बताया कि सभी आरोपी MCA स्टेडियम के ठीक बगल में मौजूद एक ऊंची इमारत की छत पर चढ़कर दूरबीन से मैच पर नजर रख रहे थे। एक साथ इतनी संख्या में दूरबीन के सहारे मैच देखते हुए कुछ लोगों ने इन्हें नोटिस किया। उन्होंने 100 नंबर पर फोन करके इसकी जानकारी दी। इसके बाद एक टीम यहां पहुंची और 24 लोगों को हिरासत में लिया।

कृष्ण प्रकाश ने बताया कि आरोपियों से 74 मोबाइल फोन, 3 लैपटॉप, एक टैबलेट, 4 दूरबीन, 4 स्टिल कैमरे, एक स्पीकर, 1.26 लाख रुपए और 28,800 रुपए के बराबर फॉरेन करेंसी समेत कुल 45 लाख रुपए का माल बरामद हुआ है। उनके पास से एक इंडीवर कार भी मिली है।

पहाड़ी और फाइव स्टार होटल से चल रहा था गोरखधंधा
पकड़े गए लोगों से पूछताछ में पता चला कि कुछ लोग स्टेडियम के पास की एक छोटी पहाड़ी पर और कुछ एक फाइव स्टार होटल में बैठकर सट्‌टेबाजी कर रहे हैं। इसके बाद दोनों जगह छापा मार कर कुल 33 लोगों को पकड़ा गया।

आरोपियों के पास से कीमती सामान, नकदी के अलावा एक कार बरामद की गई है।
आरोपियों के पास से कीमती सामान, नकदी के अलावा एक कार बरामद की गई है।

कुछ और लोगों की हो सकती है गिरफ्तारी
सभी आरोपियों के खिलाफ IPC की धारा 353, 332, 269, 188 के तहत केस दर्ज किया गया है। कृष्ण प्रकाश ने बताया कि इस मामले के तार देश के अलग-अलग हिस्सों से जुड़े हुए हैं, इसलिए आने वाले दिनों में कुछ और लोग भी गिरफ्त में आ सकते हैं।

खबरें और भी हैं...