पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Leakage In Oxygen Tank In Nashik: Half An Hour Had To Be Halted To Rectify Supply, 171 On Oxygen Support And 67 Patients On Ventilator

नासिक में बड़ा हादसा:सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक लीक होने से सप्लाई 30 मिनट रुकी रही, 24 मरीजों की मौत, 33 की हालत नाजुक

नासिक2 महीने पहले
अस्पताल में करीब आधे घंटे ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से मरीजों की हालत बिगड़ने लगी।

महाराष्ट्र के नासिक में बुधवार को सरकारी अस्पताल में बड़ा हादसा हो गया। नगर निगम के जाकिर हुसैन अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक लीक हो गया। इसे रिपेयर करने में 30 मिनट का वक्त लगा और इतनी देर ऑक्सीजन सप्लाई रोक दी गई। इसके चलते 24 मरीजों की मौत हो गई और 33 की हालत अभी नाजुक है। मौतों की पुष्टि नासिक के जिलाधिकारी सूरज मांढरे ने की है।

नासिक के मेयर सतीश कुलकर्णी ने देर शाम दो और मौतों की पुष्टि की। दोपहर दो बजे के करीब हुई इस घटना में 22 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी। राज्य सरकार ने मामले की जांच हाई पावर कमेटी से कराने की घोषणा की है।

सरकारी अस्पताल में मरीजों को कुर्सियों पर बैठाकर इस तरह से ऑक्सीजन दी जा रही है।
सरकारी अस्पताल में मरीजों को कुर्सियों पर बैठाकर इस तरह से ऑक्सीजन दी जा रही है।

अस्पताल में 238 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर

जिस वक्त ऑक्सीजन सप्लाई रोकी गई, उस वक्त 171 मरीज ऑक्सीजन पर और 67 मरीज वेंटीलेटर पर थे। ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से अस्पताल में अफरातफरी का माहौल बन गया।

इन लोगों ने अपनी आंखों के सामने अपनों को दम तोड़ते देखा है। ये चीत्कार उसी दर्द से उठी है, जिसे सहना मुश्किल है।
इन लोगों ने अपनी आंखों के सामने अपनों को दम तोड़ते देखा है। ये चीत्कार उसी दर्द से उठी है, जिसे सहना मुश्किल है।

जानकारी के मुताबिक, टैंक से आने वाले सप्लाई पाइप में लीकेज हुआ था। अभी इसे सुधार दिया गया है। इस लीकेज के दौरान 20 किलो लिक्विड ऑक्सीजन बर्बाद हुई। फिलहाल हॉस्पिटल के साथ जिला प्रशासन ने भी इस लीकेज की जांच शुरू कर दी है।

गृह मंत्री ने दुख जताया
हादसे पर गृह मंत्री अमित शाह ने संवेदना जाहिर की। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा, 'नासिक के एक अस्पताल में ऑक्सीजन लीक होने से हुई दुर्घटना का समाचार सुन दुखी हूं। इस हादसे में जिन लोगों ने अपनों को खोया है, उनकी इस अपूरणीय क्षति पर अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। बाकी सभी मरीजों की कुशलता के लिए ईश्वर से प्रार्थना करता हूं।'

ऑक्सीजन टैंक में लीक की रिपेयरिंग के लिए जाते वर्कर्स। इसी रिपेयरिंग के लिए सप्लाई 30 मिनट रोकनी पड़ी।
ऑक्सीजन टैंक में लीक की रिपेयरिंग के लिए जाते वर्कर्स। इसी रिपेयरिंग के लिए सप्लाई 30 मिनट रोकनी पड़ी।

बहू को अपने सामने तड़पकर दम तोड़ते देखा
इस घटना में एक महिला की भी मौत हुई है। उसके ससुर ने बताया कि 4 दिन पहले अस्पताल लेकर आए थे। हालत में लगातार सुधार हो रहा था, लेकिन ऑक्सीजन सप्लाई रुकते ही तबीयत खराब होने लगी और उसकी मौत हो गई। उन्होंने कहा कि मैंने उसे अपनी आंखों के सामने तड़पता हुआ देखा। मैं इधर-उधर भाग रहा था, लेकिन कोई उसकी मदद के लिए आगे नहीं आया। हॉस्पिटल प्रशासन भी कोई जवाब नहीं दे पाया।

अपने परिजन की मौत पर बिलख-बिलखकर रोते इस आदमी ने भास्कर को बताया कि अपने सामने बहू को तड़प-तड़पकर दम तोड़ते देखा।
अपने परिजन की मौत पर बिलख-बिलखकर रोते इस आदमी ने भास्कर को बताया कि अपने सामने बहू को तड़प-तड़पकर दम तोड़ते देखा।

मंत्री जी को देर से लगी मौतों की खबर
अस्पताल में मौतों की शुरुआती जानकारी सामने आते ही महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे से सवाल हुए। उन्होंने कहा कि हमें नासिक में ऑक्सीजन लीकेज की जानकारी मिली है। मैं लगातार वहां के प्रशासन से संपर्क में हूं और जानकारी ले रहा हूं। मौतों के बारे में उन्होंने कोई बयान नहीं दिया।

इसके करीब 45 मिनट बाद उन्होंने मौतों की बात स्वीकारी और कहा- वॉल्व में लीकेज हुआ था। इससे ऑक्सीजन सप्लाई रुकी। जिन मरीजों की मौत हुई, उनमें वेंटिलेटर पर मौजूद 11 मरीज भी शामिल हैं।

हादसे पर PM मोदी ने दुख जताया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से मरीजों की जान जाने पर दुख जाहिर किया। उन्होंने पीड़ित परिवारों से संवेदना जताई।

खबरें और भी हैं...