कुएं में गिरते ही बिल्ली बनी शेर:दोनों पैरों पर खड़े होकर तेंदुए से ली टक्कर, पहले जान बचाने के लिए भाग रही थी

नासिक2 महीने पहले
दोनों तकरीबन 10 घंटे तक कुंए में फंसे रहे और एक दूसरे से लड़ते रहे।

महाराष्ट्र के नासिक से हैरत में डालने वाला एक वीडियो सामने आया है। यहां एक कुएं में फंसी बिल्ली और तेंदुए के बीच लड़ाई देखने को मिली। दोनों गलती से कुंए में गिर पड़े थे और जान बचाने के लिए एक ही हिस्से में खड़े हो गए। घटना का वीडियो किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है। इसे सोशल मीडिया में खूब शेयर किया जा रहा है।

सबसे खास बात यह है कि तेंदुए से डर कर भागने वाली बिल्ली कुंए में गिरते ही भयमुक्त हो गई और दोनों पैरों पर खड़े होकर शेर की तरह उसे पंजा मारती नजर आई।

पश्चिमी नासिक डिवीजन के उप वन संरक्षक पंकज गोर्ग ने कहा, 'बिल्ली का पीछा करते हुए तेंदुआ कुएं में गिर गया। बाद में उसे बचा लिया गया और उसे जंगल में छोड़ दिया गया।' पंकज गोर्ग के मुताबिक, संभव है कि बिल्ली को पकड़ने के चक्कर में भागते हुए दोनों इसमें गिरे थे।

पंप चालू करने जा रहे शख्स को दिखे दोनों
पंकज गोर्ग ने कहा कि रविवार को यह घटना नंदुरशिंगोट-वावी रोड के पास कांकोरी शिवारा में हुई है। यहां एक खेत से सटा हुआ पुराना कुआं बरसात के कारण लबालब हो गया है। यहीं के रहने वाले सुकदेव बुचकुल कुएं पर बिजली का पंप चालू करने जा रहे थे, तभी उन्हें तेंदुए की आवाज सुनाई दी। इसके बाद बुचकुल ने घटना की जानकारी किसान गणेश सांगले और पूर्व उप पंच रामनाथ सांगले को दी। सांगले ने फौरन वन विभाग के अधिकारियों को इसकी सूचना दी।

पिंजड़े की सहायता से तेंदुए का रेस्क्यू ऑपरेशन किया गया
वन परिक्षेत्र अधिकारी मनीषा जाधव ने बताया कि हम अपनी टीम के साथ यहां पहुंचे और दोनों का रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। कुएं में गिरे तेंदुए को देखने के लिए भारी संख्या में लोग यहां जमा हो गए थे। कुआं गहरा होने के कारण तेंदुए को बाहर निकालने में दिक्कत आई।

दोनों को बाहर निकालने के लिए हाइड्रोलिक क्रेन मंगवाई गई। इसके बाद दोपहर करीब ग्यारह बजे एक पिंजड़ा कुंए में डाला गया और शाम चार बजे के आसपास तेंदुआ उसमें आकर बैठा और क्रेन की मदद से उसे बाहर निकाला गया।

मनीषा जाधव के मुताबिक, यह पांच से साढ़े पांच साल का नर तेंदुआ है। इसके बाद सिन्नर के एक वन पार्क में बने हॉस्पिटल में उसका मेडिकल किया गया और फिर रात में जंगल में छोड़ दिया गया। तेंदुए को निकालने के बाद एक युवक को क्रेन की सहायता से कुंए में फिर उतारा गया और बिल्ली को भी सही सलामत रेस्क्यू किया गया। यह कुआं 50 से 60 फीट गहरा है, जिसमें 28 फीट तक पानी था।

खबरें और भी हैं...