पूर्व सांसद किरीट सोमैया ट्रेन से उतारे गए:मंत्री हसन मुशरिफ पर 127 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप लगाने के बाद सबूत जमा करने जा रहे थे कोल्हापुर, पुलिस ने ट्रेन से उतारा

कोल्हापुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
13 सितंबर को सोमैया ने ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुशरिफ पर 127 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप लगाया था। इसमें मामले की जांच के लिए वे अपने कुछ साथियों के साथ कोल्हापुर जा रहे थे। - Dainik Bhaskar
13 सितंबर को सोमैया ने ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुशरिफ पर 127 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप लगाया था। इसमें मामले की जांच के लिए वे अपने कुछ साथियों के साथ कोल्हापुर जा रहे थे।

कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए कलेक्टर द्वारा लगाई गई रोक के बावजूद कोल्हापुर जा रहे भाजपा नेता किरीट सोमैया को सतारा जिले के कराड स्टेशन पर पुलिस ने ट्रेन से उतार हिरासत में ले लिया था। तकरीबन 4 घंटे तक गवर्नर सर्किट हाउस में रखने के बाद सोमैया को पुलिस ने जाने दिया है। उनपर धारा 144 के उल्लंघन का आरोप है।

किरीट सोमैया महालक्ष्मी एक्सप्रेस में मुंबई से कोल्हापुर जा रहे थे। 13 सितंबर को सोमैया ने ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुशरिफ पर 127 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप लगाया था। इसमें मामले की जांच के लिए वे अपने कुछ साथियों के साथ कोल्हापुर जा रहे थे। सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए सोमैया ने फिर एक बार मंत्री हसन मुशरिफ के परिवार पर 100 करोड़ के घोटाले का आरोप लगाया है।

इससे पहले अपर पुलिस अधीक्षक तिरुपति काकड़े के आदेश पर पूर्व सांसद किरीट सोमैया सुबह पांच बजे कराड में महालक्ष्मी एक्सप्रेस से उतारे गए। इस दौरान उन्होंने कहा, "प्रशासन और पुलिस मेरे दुश्मन नहीं हैं। मैं उनके अनुरोध पर उतर रहा हूं।" कोल्हापुर के अतिरिक्त जिला अधीक्षक तिरुपति काकड़े खुद सोमैया को ट्रेन से उतारने कराड रेलवे स्टेशन गए थे। हालांकि, मुंबई से रवाना होने के बाद पुलिस ने सोमैया को कोल्हापुर से पहले के दो स्टेशनों पर उतरने का अनुरोध किया था।

कोल्हापुर आने पर परिणाम भुगतने की मिली थी धमकी

पूर्व सांसद ने मंत्री हसन मुशरिफ के खिलाफ 127 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप लगा था। सोमैया ने कहा था कि हसन मुशरिफ के द्वारा किए गए घोटाले का पूरा सुबूत मैंने इनकम टैक्स विभाग को दिया है जो तकरीबन 2700 पन्नों का है।इसी मामले में सबूत जुटाने के लिए किरीट 20 और 21 सितंबर को कोल्हापुर में मुशरिफ की फैक्ट्री का दौरा करने वाले थे। मुशर्रफ के समर्थक एनसीपी कार्यकर्ताओं ने चेतावनी दी थी कि अगर सोमैया कोल्हापुर आए तो उन्हें परिणाम भुगतने होंगे। इन सभी घटनाक्रमों को देखते हुए कोल्हापुर के जिला कलेक्टर ने सोमैया को यहां आने पर प्रतिबंध लगा दिया था।

किरीट सोमैया को ट्रेन से उतारने के लिए अपर पुलिस अधीक्षक तिरुपति काकड़े भी कराड रेलवे स्टेशन पहुंचे थे।
किरीट सोमैया को ट्रेन से उतारने के लिए अपर पुलिस अधीक्षक तिरुपति काकड़े भी कराड रेलवे स्टेशन पहुंचे थे।

ईडी में करेंगे मुशरिफ की शिकायत
13 सितंबर को सोमैया ने कहा था कि हसन मुशरिफ और उनके परिवार ने मनी लॉन्ड्रिंग, हवाला ट्रांजैक्शन और शेल कंपनियों के जरिए 127 करोड़ रुपए का ट्रांजैक्शन किया है। आपको बता दें हसन मुशरिफ फिलहाल महाराष्ट्र सरकार में ग्राम विकास मंत्री और एनसीपी के नेता हैं। सोमैया ने कहा कि वे ईडी में भी मुश्रीफ की शिकायत करेंगे।

'यह घोटाला बड़ा हो सकता है'
सोमैया ने कहा था कि मुश्रीफ की पत्नी साहिरा हसन मुशरिफ के नाम पर संताजी घोरपड़े शुगर मिल में 3 लाख 78 हज़ार के शेयर दिखाए गए है। मुशरिफ के ऊपर सीआरएम सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड नाम की शेल कंपनी के जरिये घोटाले का आरोप है। कुछ साल पहले हसन मुशरिफ परिवार पर इनकम टैक्स का छापा भी पड़ा था।

अनिल परब पर भी आरोप
इसके पहले किरीट सोमैया राज्य के परिवहन मंत्री अनिल परब, मिलिंद नार्वेकर, मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर समेत पर अवैध निर्माण कार्य और जमीन कब्जा करने का आरोप लगा चुके हैं। इसके अलावा भावना गवली, रविन्द्र वायकर, जितेंद्र आव्हाड, छगन भुजबल, यशवंत जाधव, यामिनी जाधव और मिलिंद नार्वेकर पर घोटाले का आरोप लगा चुके हैं।

खबरें और भी हैं...