महाराष्ट्र में गर्भवती रेंजर को लात-घूंसों से पीटा:पूर्व सरपंच ने 3 महीने की प्रेग्नेंट फॉरेस्ट रेंजर को बाल पकड़कर खींचा, लातें मारीं; पेट पर भी कूदा

सतारा4 महीने पहले

महाराष्ट्र के सतारा जिले में पूर्व सरपंच ने महिला फॉरेस्ट रेंजर की लाठी-डंडों और लात-घूसों से बुरी तरह पिटाई की। महिला अधिकारी तीन महीने की प्रेग्नेंट थीं और आरोपी भी यह बात जानता था। इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद अब महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे ने कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिया है।

घटना पलासवड़े गांव में बुधवार को हुई, जहां पूर्व सरपंच रामचंद्र जानकर ने पत्नी के साथ मिलकर महिला वन रेंजर सिंधु सनप और उनके पति सूर्यजी थोम्ब्रे को डंडों से पीटा। सिंधु और सूर्याजी थोम्ब्रे पर यह हमला तब हुआ, जब वे ड्यूटी पर थे और गश्त के लिए निकले थे।

जो वीडियो सामने आया है, उसमें आरोपी सिंधु सनप को अमानवीय तरीके से पीटते नजर आ रहे हैं। सरपंच ने महिला की गर्दन पैर से दबाई और पेट पर कूद गया। वारदात के बाद आरोपी फरार हो गए थे। उन्हें पकड़ने के लिए पुलिस की दो टीमों का गठन किया गया था। सतारा पुलिस ने सरपंच और उसकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपी महिला अधिकारी पर कूद गया और उन्हें बुरी तरह पैरों से पीटा।
आरोपी महिला अधिकारी पर कूद गया और उन्हें बुरी तरह पैरों से पीटा।

पैसे न देने पर की गई पिटाई
सूर्याजी थोम्ब्रे के मुताबिक, ''गश्ती के दौरान सरपंच की पत्नी ने उन्हें थप्पड़ मारना शुरू कर दिया। सिंधु सनप ने बीच-बचाव किया तो उन्होंने डंडों से पीटना शुरू कर दिया। मैंने पूरे मामले का वीडियो शूट किया है।"

पीड़ित महिला अफसर ने बताया, '' मैंने 3 महीने पहले जॉइन किया था, शुरू से ही पूर्व सरपंच मुझे धमकी देते थे, मुझसे पैसे मांगते थे। काम से लौटते समय उन्होंने मेरे साथ मारपीट की, मेरे पति को चप्पलों से पीटा।'' यह भी कहा जा रहा है कि आरोपी पूर्व सरपंच के खेतों में कुछ मजदूर काम करते थे और महिला अधिकारी के कहने पर उन्होंने काम छोड़ दिया था। इसी बात से वह नाराज चल रहा था।

आरोपी ने महिला अधिकारी के बाल पकड़ कर खींचे।
आरोपी ने महिला अधिकारी के बाल पकड़ कर खींचे।

पेट में पल रहे बच्चे की भी जांच
सतारा के SP अजय कुमार बंसल ने बताया, "गर्भवती फॉरेस्ट रेंजर की मेडिकल जांच की जा रही है। मामले में अगर भ्रूण को कोई नुकसान पहुंचता है तो आगे की कार्रवाई में इसे भी शामिल किया जाएगा।" सतारा की एएसपी अर्चना दलाल ने कहा कि दोनों आरोपियों पर आईपीसी की धारा 352, 353 व 354 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

महिला आयोग ने मांगी रिपोर्ट

इस मामले के तूल पकड़ने के बाद राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष रूपाली चाकणकर ने कहा कि आयोग ने इस मामले को गंभीरता से लिया है और सतारा पुलिस से एक हफ्ते में रिपोर्ट मांगी है। आयोग ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश भी दिए हैं।

महिला अधिकारी ने भी हर संभव तरीके से बचाव का प्रयास किया।
महिला अधिकारी ने भी हर संभव तरीके से बचाव का प्रयास किया।

ऐसी हरकत बर्दाश्त नहीं करेंगे: आदित्य ठाकरे
राज्य के पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने इस घटना का संज्ञान लिया है। ठाकरे ने ट्वीट किया, "आरोपियों को आज सुबह गिरफ्तार कर लिया गया है और सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस तरह की हरकतें बर्दाश्त नहीं की जाएंगी।"