• Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Maharashtra Covid Cases News And Updates: 69 Elderly People Living In Old Age Home Of Bhiwandi Became Corona Positive

महाराष्ट्र पर फिर कोरोना का खतरा:भिवंडी के वृद्धाश्रम में 69 बुजुर्ग पॉजिटिव, दक्षिण अफ्रीका से लौटे संक्रमित शख्स की 'ओमिक्रॉन’ जांच हुई

मुंबई2 महीने पहले
मातोश्री वृद्धाश्रम में मौजूदा समय में 100 से ज्यादा लोग रहते हैं। सभी का कोरोना टेस्ट करवाया गया है।

दक्षिण अफ्रीका से महाराष्ट्र पहुंचा एक शख्स कोरोना संक्रमित पाया गया है। कोविड-19 के सबसे खतरनाक कहे जा रहे वेरिएंट ‘ओमिक्रॉन’ के बढ़ते खतरे को देखते उसकी जांच शुरू हो गई है। इस बीच मुंबई से सटे ठाणे के भिवंडी में एक वृद्धाश्रम में रह रहे 69 वरिष्ठ नागरिक कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। राहत की बात यह है कि इनमें से सभी की हालत सामान्य है।

जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजा गया सेंपल
कल्याण डोम्बिवली नगर निगम की डॉक्टर प्रतिभा पनपाटिल ने बताया, ‘दक्षिण अफ्रीका से डोम्बिवली लौटने वाला एक व्यक्ति कोविड पॉजिटिव पाया गया है। यह पता करने के लिए कि वह ‘ओमिक्रॉन’ पॉजिटिव है या नहीं, उसके सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेज दिए गए हैं।’ इसके बाद अधिकारी व्यक्ति के परिवार की भी कोविड जांच करने की तैयारी कर रहे हैं।

पूरे परिवार की हुई है टेस्टिंग
डॉक्टर पनपाटिल ने आगे बताया, ‘उन्होंने दक्षिण अफ्रीका से दिल्ली और दिल्ली से मुंबई यात्रा की थी। उन्हें नगर निगम के आइसोलेशन रूम में रखा गया है। उनके भाई की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है। बाकी परिवार की रिपोर्ट आज आनी है।’ अच्छी बात यह है कि दक्षिण अफ्रीका से लौटन के बाद शख्स किसी के भी संपर्क में नहीं आया है।

ओमिक्रॉन वेरिएंट के सबसे पहले मामले की पुष्टि दक्षिण अफ्रीका में ही हुई थी। हाल ही में भारत सरकार ने स्वास्थ्य सुरक्षा के मद्देनजर अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए नए नियम भी जारी किए हैं।

भिवंडी में संक्रमित सभी बुजुर्गों की स्थिति सामान्य
ठाणे के भिवंडी के पड़घा के पास खडावली में मातोश्री वृद्धाश्रम में संक्रमित सभी 69 बुजुर्गों की हालत सामन्य है। सभी को इलाज के लिए ठाणे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस वृद्धाश्रम में 100 से ज्यादा लोग रहते हैं। पिछले हफ्ते यहां कुछ लोगों में बुखार के लक्षण दिखने लगे थे। एक बुजुर्ग का कोरोना टेस्ट इसलिए कराया गया, क्योंकि इलाज शुरू करने के बाद भी उनका बुखार कम नहीं हुआ। इसके बाद एहतियात के तौर पर वृद्धाश्रम मैनेजमेंट ने सभी की टेस्टिंग करने का फैसला किया।

खबरें और भी हैं...