महाराष्ट्र के धुले में शर्मसार करने वाली घटना:कोरोना पॉजिटिव की मौत के बाद 10 घंटे एम्बुलेंस का करते रहे इंतजार, मजबूरी में कचरा उठाने वाली गाड़ी से शव श्मशान तक ले जाया गया

धुले7 महीने पहले
वीडियो वायरल होने के बाद ग्राम पंचायत अब इस बात की जांच करवा रही है कि परिवार के आरोप कितने सही हैं।

संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच महाराष्ट्र से बेहद शर्मनाक वीडियो सामने आया है। यहां के धुले इलाके में 70 साल के कोरोना पॉजिटिव की मौत के बाद शव 10 घंटे तक घर पर पड़ा रहा। परिवार का आरोप है कि जिला प्रशासन की ओर से एम्बुलेंस नहीं मिली, जिसके बाद मजबूरी में परिवार को शव को कचरा ले जानी वाली गाड़ी में लादकर ले जाना पड़ा। वीडियो वायरल होने के बाद जिला प्रशासन ने इस मामले में जांच बैठा दी है।

परिवार को 10 घंटे तक मिला सिर्फ आश्वासन
घटना शनिवार शाम की धुले जिले के सामोड़े गाव की है। यहां के ठाकुर परिवार के 70 साल के मरीज की मौत शुक्रवार और शनिवार की दरम्यानी रात 2 बजे हुई थी। परिवार का कहना है कि सही समय पर इसकी सूचना ग्राम पंचायत के सदस्यों को दे दी गई, इसके बावजूद दोपहर 12 बजे तक एम्बुलेंस नहीं मिली। 10 घंटों के दौरान परिवार ने कई बार फोन भी किया, लेकिन उसका कोई असर नहीं हुआ। ग्राम पंचायत की ओर से सिर्फ यही आश्वासन मिलता रहा कि एम्बुलेंस आ रही है।

परिवार का कहना है कि वे लगातार ग्राम पंचायत के ऑफिस में फोन करते रहे लेकिन एम्बुलेंस नहीं भेजी गई।
परिवार का कहना है कि वे लगातार ग्राम पंचायत के ऑफिस में फोन करते रहे लेकिन एम्बुलेंस नहीं भेजी गई।

मजबूरी में परिवार ने शव को कचरा गाड़ी में ले जाने का फैसला किया
संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए आखिर में 12 बजे दोपहर को ठाकुर परिवार के लोगों ने शव को एक कचरा गाड़ी में रखा श्मशान घाट पर ले जाकर अंतिम संस्कार किया। हालांकि, परिवार के सदस्यों ने किसी तरह से PPE किट का इंतजाम कर लिया था। ग्राम पंचायत अब इस बात की जांच करवा रही है कि परिवार के आरोप कितने सही हैं।

धुले में अबतक 30 हजार से ज्यादा मरीज मिले

रविवार को महाराष्ट्र के धुले में 383 नए संक्रमित मरीज मिले और 2 मरीजों की डेथ हुई। इसी के साथ कुल मृतकों का आंकड़ा यहां बढ़कर 478 पहुंच गया है। जिले में अब तक 30,712 मरीज कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। हालांकि, इनमें से 26,235 मरीज ठीक होकर घर भी जा चुके हैं। जानकारी के मुताबिक, अब तक यहां 78 हजार से ज्यादा लोगों को वैक्सीन की पहली और 7800 से ज्यादा लोगों को दूसरी डोज दी गई है।

खबरें और भी हैं...