हनुमान चालीसा पर जारी है 'पॉलिटिक्स':राज्यपाल से मिलने पहुंचे किरीट सोमैया, राउत बोले-नवनीत राणा का अंडरवर्ल्ड से कनेक्शन

मुंबई9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीजेपी की ओर से किरीट सोमैया लगातार उद्धव सरकार पर हमलावर हैं, वहीं शिवसेना की ओर से संजय राउत ने मोर्चा संभाला हुआ है। - Dainik Bhaskar
बीजेपी की ओर से किरीट सोमैया लगातार उद्धव सरकार पर हमलावर हैं, वहीं शिवसेना की ओर से संजय राउत ने मोर्चा संभाला हुआ है।

महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा और लाउडस्पीकर का विवाद अब पूरी तरह से पक्ष और विपक्ष के बीच की लड़ाई का मुद्दा बन चुका है। खुद पर हुए हमले के बाद बीजेपी के पूर्व सांसद किरीट सोमैया आज एक डेलीगेशन के साथ राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने पहुंचे हैं। वे अपने केस में मुंबई पुलिस की शिकायत करेंगे। सोमैया का कहना है कि मुंबई पुलिस उनकी फेक एफआईआर सर्क्यूलेट कर रही है।

इस बीच राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार अमरावती से निर्दलीय संसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को लेकर शिवसेना सांसद संजय राउत ने एक बड़ा खुलासा किया है। उनके चुनावी हलफनामे को सार्वजनिक करते हुए यह दावा किया है कि राणा दंपति ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम के गुर्गे और बिल्डर युसूफ लकड़ावाला से 80 लाख रुपए का लोन लिया है।

संजय राउत का सवाल-क्यों नहीं हुई लकड़ावाला से पैसे लेने की जांच

इस मुद्दे पर बुधवार को संजय राउत ने कहा,'मैंने कल एक चुनावी हलफनामा पेश कर नवनीत राणा के अंडरवर्ल्ड कनेक्शन को सामने रखा है। 200 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी ने जिस यूसुफ लकड़ावाला को अरेस्ट किया था, उस लकड़ावाला से नवनीत राणा ने 80 लाख रुपए लिए थे। लकड़ावाला 'D' गैंग का फाइनेंसर था और उसे अरेस्ट करने के बाद ED ने उसके साथ लेन-देन करने वाले लोगों से पूछताछ की थी। मेरा सवाल ED और EOW दोनों से है कि आखिर किस वजह से नवनीत राणा से पूछताछ नहीं की गई।'

मुंबई में माहौल खराब करने के लिए अंडरवर्ल्ड दे रहा पैसे
संजय राउत ने आगे कहा कि मुंबई और महाराष्ट्र में माहौल खराब करने की जो कोशिश हो रही थी, उसके पीछे अंडरवर्ल्ड की एक बड़ी साजिश है। अंडरवर्ल्ड का एक बड़ा पैसा लगा हुआ है। अंडरवर्ल्ड यहां दहशत और टेरर निर्माण करना चाहता है। इसलिए वह ऐसे लोगों का पैसा देता है। हमने अभी सिर्फ एक खुलासा किया है, आने वाले समय में और खुलासे होंगे।

पूरी खबर यहां पढ़ें: संजय राउत का आरोप:शिवसेना सांसद ने कहा-राणा दंपति ने दाउद के गुर्गे यूसुफ लकड़ावाला से लिए 80 लाख, ED करे जांच

गिरफ्तारी के बाद सांसद नवनीत राणा को मुंबई की भायखला महिला जेल और उनके पति विधायक रवि राणा को तलोजा जेल में रखा गया है।
गिरफ्तारी के बाद सांसद नवनीत राणा को मुंबई की भायखला महिला जेल और उनके पति विधायक रवि राणा को तलोजा जेल में रखा गया है।

अदालत में राणा दंपति ने नहीं की कोई शिकायत
इस बीच मुंबई पुलिस ने दावा किया है कि रविवार को हुई पेशी के दौरान राणा दंपति ने अदालत के सामने यह कहा था कि उनके साथ किसी भी तरह का 'कोई खराब बर्ताव' नहीं हुआ है। उन्होंने अदालत से कोई शिकायत भी नहीं की थी। आज मुंबई पुलिस सांताक्रूज पुलिस स्टेशन का एक वीडियो जारी कर अपनी सफाई फिर पेश कर सकती है।

बता दें कि सांसद नवनीत ने लोकसभा स्पीकर को एक पत्र लिख आरोप लगाया कि उनके साथ गिरफ्तारी के बाद दुर्व्यवहार किया गया और नीची जाति का बोल पानी भी नहीं दिया गया। जिसके बाद मुंबई पुलिस ने खार पुलिस स्टेशन का एक वीडियो जारी किया था, जिसमें दोनों चाय पीते हुए नजर आ रहे हैं।

संजय राउत के खिलाफ नवनीत की शिकायत दर्ज
इस बीच राणा दंपति पर कथित तौर पर अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में शिवसेना सांसद संजय राउत के खिलाफ नागपुर में एक शिकायत दर्ज कराई गई है। नवनीत की लिखित शिकायत एक पेन ड्राइव में थी, जिसमें कथित तौर पर राउत द्वारा राणा दंपति को निशाना बनाने वाले कथित अभद्र भाषा शामिल हैं। उन्होंने मांग की है कि राउत पर एससी और एसटी (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया जाए, क्योंकि वह अल्पसंख्यक समुदाय से है और राउत ने बार-बार खुद का उपहास किया है।

इस आरोप में हुई है राणा दंपति की गिरफ्तारी
नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा जो एक निर्दलीय विधायक भी हैं, को शनिवार को उनके मुंबई आवास से गिरफ्तार किया गया था, क्योंकि उन्होंने बांद्रा में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के घर 'मातोश्री' के बाहर 'हनुमान चालीसा' का पाठ करने की घोषणा की थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार प्राप्त करने के लिए शहर की यात्रा से पहले मुंबई में तनाव को 'उकसाने' के कारण मुंबई पुलिस ने इस जोड़े को गिरफ्तार किया था। पुलिस को उनकी ड्यूटी करने से रोकने के आरोप में भी मामला दर्ज किया गया था। एक रात थाने में बिताने के बाद दंपति को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। दोनों पर राजद्रोह के अलावा एक अन्य केस में पुलिस के काम में बाधा पहुंचाने के भी आरोप है।

फडणवीस को महाराष्ट्र अपना नहीं लगता: सामना
इसी मुद्दे पर शिवसेना ने पार्टी के मुखपत्र 'सामना' में पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस पर निशाना साधा है। शिवसेना ने लिखा है कि 2019 में सत्ता गंवाने के बाद से फडणवीस जैसे लोगों को यह राज्य अपना नहीं लगता। महाराष्ट्र का नमक उन्हें बेस्वाद लगने लगा है। महाराष्ट्र पर कठोर कार्रवाई करें, यानी क्या करें? तो इस मंडली को लगता है इसलिए राष्ट्रपति शासन लगाकर किनारे हो जाएं।

मुंबई पुलिस ने खोली नवनीत राणा की पोल

सामना में आगे लिखा है,'नवनीत राणा ने छल किया, उन्हें सादा पानी भी नहीं दिया, वह पिछड़ी समुदाय से हैं इसलिए उनका छल किया गया। मुंबई के पुलिस आयुक्त संजय पांडे ने राणा दंपति की खार पुलिस स्टेशन में भी शाही मेहमान नवाजी का वीडियो ही सामने ला दिया। लिहाजा, राणा से ज्यादा श्री फडणवीस की पोल-खोल हो गई है। दूसरा ऐसा कि नवनीत राणा कब से पिछड़े समुदाय की हो गई? उनका जाति प्रमाण-पत्र जाली साबित हुआ है। उन्होंने देश को धोखा दिया है।'