• Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Maharashtra Home Minister Anil Deshmukh Claims, Case Filed In Mumbai Not Yet Given To CBI; Father Opposes Riya's Appeal In Supreme Court

सुप्रीम कोर्ट में सुशांत केस:महाराष्ट्र सरकार ने सीबीआई जांच का विरोध किया, कहा- बिहार सरकार के पास सिर्फ जीरो एफआईआर दर्ज करने का अधिकार

मुंबईएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई 11 अगस्त को होनी है। इसमें अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने केस को पटना से मुंबई ट्रांसफर करने की अपील की है। - Dainik Bhaskar
सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई 11 अगस्त को होनी है। इसमें अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने केस को पटना से मुंबई ट्रांसफर करने की अपील की है।
  • रिया ने सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में केस को पटना से मुंबई ट्रांसफर करने की अपील की थी
  • सुशांत के पिता के केस पर सीबीआई ने भी रिया और उसके परिवार के खिलाफ अलग से केस दर्ज किया है

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में रिया चक्रवर्ती द्वारा दर्ज याचिका पर 11 अगस्त को अगली सुनवाई होगी। इससे पहले शनिवार को सुशांत के पिता और महाराष्ट्र सरकार ने अलग-अलग इस मामले में जवाब दाखिल किया है। महाराष्ट्र सरकार ने सीबीआई जांच का विरोध करते हुए कहा गया कि बिहार सरकार के पास सिर्फ जीरो एफआईआर दर्ज करने का अधिकार है। वहां केस दर्ज कर इसे मुंबई ट्रांसफर कर देना चाहिए था। वहीं, सुशांत के पिता केके सिंह ने केस को मुंबई ट्रांसफर करने की रिया की याचिका का विरोध किया। उन्होंने कहा कि रिया गवाहों पर दबाव बना सकती हैं।

इससे पहले महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने बताया कि सुशांत केस में मुंबई पुलिस ने जो केस दर्ज किया था, उसकी जांच मुंबई पुलिस द्वारा ही की जा रही है। यह मामला केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा नहीं लिया गया है, जैसा कि मीडिया द्वारा रिपोर्ट किया जा रहा है, यह गलत है। मुंबई पुलिस में इस सिलसिले में सीआरपीसी की धारा-174 के तहत एडीआर फाइल किया गया है।

सीलबंद लिफाफे में महाराष्ट्र सरकार ने जवाब दाखिल किया
महाराष्ट्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में सीलबंद लिफाफे में जांच रिपोर्ट अदालत में जमा करवाई। जवाब में कहा कि बिहार पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने में नियम का पालन नहीं किया। इस मामले में सिर्फ जीरो एफआईआर दर्ज हो सकती है। इसके बाद यह केस मुंबई पुलिस को सौंपना चाहिए था। महाराष्ट्र पुलिस की ओर से नियम से काम किया गया। बता दें कि बिहार सरकार की सिफारिश पर सुशांत की मौत मामले में सीबीआई ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

रिया की अर्जी पर सुशांत के पिता का सुप्रीम कोर्ट में जवाब
सुशांत के पिता की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दायर हलफनामे में रिया की केस ट्रांसफर अर्जी का विरोध करते हुए कहा कि रिया इस मामले से जुड़े गवाहों को प्रभावित कर सकती हैं। उन्होंने सिद्धार्थ पिठानी पर दबाव बनाया है। इसलिए रिया की अर्जी खारिज होनी चाहिए। रिया ने जब खुद सीबीआई जांच की मांग की तो अब इस मामले से परहेज क्यों कर रही हैं। इस मामले की सुनवाई 11 अगस्त को होनी है।

खबरें और भी हैं...