नवी मुंबई में रिश्तों का कत्ल:मामूली विवाद के बाद रिटायर्ड पुलिसकर्मी ने दो बेटों को गोली मारी; एक की मौत, दूसरा वेंटिलेटर पर

मुंबई4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वारदात के बाद आरोपी भागा नहीं। पुलिस ने उसे अरेस्ट कर लिया है। - Dainik Bhaskar
वारदात के बाद आरोपी भागा नहीं। पुलिस ने उसे अरेस्ट कर लिया है।

नवी मुंबई में सोमवार देर रात एक रिटायर्ड पुलिसकर्मी ने अपने दो जवान बेटों को गोली मार दी। इनमें से एक की मौत हो गई है और दूसरा, जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा है। शुरुआती जांच में वजह घरेलू कलह बताई जा रही है। जिंदा बचे बेटे की हालत भी गंभीर बनी हुई है। डॉक्टर्स ने गोली निकाल ली है, लेकिन अभी भी उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है। ऐरोली के इंद्रावती अस्पताल में उसका इलाज जारी है।

जांच में सामने आया है कि दोनों बेटे पिता से अलग रह रहे थे। तीनों के बीच अक्सर झगड़े की आवाजें पड़ोसियों ने सुनी थीं। नवी मुंबई पुलिस के मुताबिक, सोमवार देर रात भगवान पाटिल ने दोनों बेटों विजय और अजय को घर पर बुलाया और फिर से तीनों के बीच झगड़ा शुरू हो गया। इसके बाद पाटिल ने अपने बेटों पर चार गोलियां चलाईं। इसमें एक गोली कांच से टकराई और दो गोली बड़े बेटे विजय के पेट में लगी। एक गोली छोटे बेटे को लगी है। दोनों को पड़ोसी पास के हॉस्पिटल में ले गए। इलाज के दौरान बड़े बेटे ने दम तोड़ दिया।

वारदात के बाद पड़ोसियों से बात करते हुए आरोपी पुलिसकर्मी।
वारदात के बाद पड़ोसियों से बात करते हुए आरोपी पुलिसकर्मी।

गाड़ी की सर्विसिंग के पैसे को लेकर हुआ विवाद मामले की जांच करने वाले नवी मुंबई पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि 71 साल के रिटायर्ड पुलिस अधिकारी भगवान पाटिल और उनके बेटों के बीच गाड़ी की सर्विसिंग को लेकर विवाद शुरू हुआ था। इसके बाद नौबत पहले मारपीट तक आई और फिर उन्होंने अपनी पिस्तौल से 4 गोलियां चला दीं। वारदात के बाद आरोपी वहां से भागा नहीं। फिलहाल हमने उसे अरेस्ट कर लिया है।

खबरें और भी हैं...