पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Mansukh Hiren Death Case (Aurangabad) Car Connection; Sachin Vaze, National Investigation Agency Latest News And Updates

मनसुख मर्डर केस में नया दावा:चोरी की कार में मनसुख की हत्या की गई; उसके पीछे चल रही गाड़ी में सचिन वझे था, सबूत मिटाने के लिए गाड़ी नष्ट करने का शक

मुंबई2 महीने पहले
एंटीलिया मामले में गिरफ्तार सचिन वझे फिलहाल ज्यूडिशियल कस्टडी में है। उस पर हिरेन की हत्या करवाने का शक है।- फाइल फोटो।

महाराष्ट्र ATS के एक अधिकारी ने दावा किया है कि एंटीलिया केस से जुड़े ठाणे के बिजनेसमैन मनसुख हिरेन की हत्या औरंगाबाद से चुराई गई मारुति की इको कार में हुई थी। ATS के हाथ लगे CCTV फुटेज से यह बात सामने आयी है। यह गाड़ी पिछले साल नवंबर में चोरी हुई थी।

अधिकारी ने बताया कि चोरी हुई गाड़ी के साथ एक दूसरी गाड़ी भी देखी गई थी। शक है कि मनसुख का शव मिलने से एक दिन पहले यानी 4 मार्च को इस दूसरी गाड़ी को मुंबई पुलिस का सस्पेंड API सचिन वझे चला रहा था। हालांकि, हिरेन का शव रेती की खाड़ी से 5 मार्च को मिला था, लेकिन अभी तक यह गाड़ी नहीं मिली है। हो सकता है कि इसे नष्ट कर दिया गया हो।इस गाड़ी की नंबर प्लेट कुछ दिन पहले मुंबई की मीठी नदी से बरामद हुई थी। NIA की टीम कारों को डिस्मेंटल करने वाले गैराज में इसके बारे में पता लगा रही है।

कार के मालिक ने यह दावा किया था
नंबर प्लेट की तस्वीरें सामने आने के बाद कार के मालिक विनय खुद पुलिस स्टेशन पहुंचे और इसकी पहचान की थी। उन्होंने बताया कि MH-20-FP-1539 नंबर वाली उनकी कार 16 नवंबर 2020 को चोरी हुई थी। उन्होंने इसकी FIR दर्ज करवाई थी। FIR की कॉपी भी वे साथ लाए थे। हालांकि, अभी तक न ATS और न ही NIA को कार के सबूत मिले हैं।

मनसुख ठाणे का एक ऑटो पार्ट विक्रेता था और सचिन वझे को काफी समय से जानता था।
मनसुख ठाणे का एक ऑटो पार्ट विक्रेता था और सचिन वझे को काफी समय से जानता था।

क्या है पूरा मामला?
25 फरवरी को दक्षिण मुंबई के में मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक से भरी स्कॉर्पियो गाड़ी खड़ी मिली थी। रात एक बजे यह गाड़ी एंटीलिया के बाहर खड़ी की गई थी। अगली दोपहर को इस पर पुलिस की नजरें गईं और तलाशी में कार से 20 जिलेटिन की रॉड बरामद हुई थीं। 5 मार्च को इस स्कॉर्पियो के मालिक मनसुख हिरेन का शव मिला था। बाद में महाराष्ट्र ATS ने मनसुख की हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू की। इसके बाद 13 मार्च को सचिन वझे को गिरफ्तार किया गया। बाद में दोनों केस की जांच NIA के जिम्मे सौंप दी गई।

अब तक 5 लोगों की गिरफ्तारी
मनसुख की हत्या का मामला ATS के हाथ से NIA के पास चला गया। केंद्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने इस मामले में अब तक सचिन वझे के अलावा सस्पेंड सिपाही विनायक शिंदे, क्रिकेट बुकी नरेश गोरे और सस्पेंड सहायक पुलिस निरीक्षक रियाजुद्दीन को गिरफ्तार किया है। सचिन वझे की कथित महिला मित्र की गिरफ्तारी की पुष्टि NIA की ओर से नहीं की गई है। वझे फिलहाल मुंबई की तलोजा जेल में ज्यूडिशियल कस्टडी में है।

खबरें और भी हैं...