पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महाराष्ट्र में लव जिहाद पर राजनीति:मंत्री असलम शेख ने कहा-अपनी नाकामी छिपाने के लिए की जा रही कानून बनने की मांग, भाजपा नेताओं ने की है वकालत

मुंबई3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
महाराष्ट्र सरकार में मंत्री असलम शेख ने एक दिन पहले सीबीआई को 'पान की दुकान' कहकर संबोधित किया था-फाइल फोटो।

उत्तर प्रदेश में ‘लव जिहाद’को रोकने के लिए कानून लाने की तैयारियों के बीच महाराष्ट्र में भी भारतीय जनता पार्टी ने ऐसे ही कानून बनाने की वकालत शुरू कर दी है। महाराष्ट्र में नेता विपक्ष देवेन्द्र फडणवीस ने ‘लव जिहाद’पर कानून का समर्थन किया है। वहीं कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री असलम शेख ने कहा है कि राज्य सरकार ऐसा कोई भी कानून लाने नहीं जा रही है। उन्होंने कहा कि जिस राज्य में सरकार कानून-व्यवस्था के साथ काम कर रही हो, वहां इस कानून की कोई जरुरत नहीं है। शेख ने कहा कि जो सरकारें अपनी नाकामी छिपाना चाहती हैं, वे सरकारें ऐसे कानून ला रही हैं।

फडणवीस ने कानून का किया समर्थन
महाराष्ट्र में नेता विपक्ष देवेन्द्र फडणवीस ने ‘लव जिहाद’ कानून का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि देश में ‘लव जिहाद’ के कई मामले सामने आ रहे हैं। केरल में भी इस बात को माना गया है, जहां बीजेपी की सरकार नहीं है। उन्होंने कहा कि जब इस तरह के मामले आते हैं तो सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि इसे रोकने के लिए कानून बनाया जाए।

सोमैया ने भी साधा निशाना
बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने भी ‘लव जिहाद’ कानून का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस के साथ सरकार बनाने के बाद अब शिवसेना अध्यक्ष और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की भाषा बदल गई है।

शिवसेना की चुप्पी पर सवाल
बीजेपी विधायक राम कदम ने शिवसेना की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए कहा हैं कि क्या सत्ता की लालच की वजह से वे चुप हैं। उन्होंने कहा कि क्या शिवसेना यह भूल गई है कि शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे इस मुद्दे पर क्या कहते थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की ओर से ‘लव जिहाद’ के समर्थन में दिए जा रहे बयानों का सपोर्ट नहीं किया जा सकता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें