• Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • More Than 750 Villages Of Jalgaon Submerged In Water, More Than 500 Cattle Including A Woman Died; People Are Still Stranded In Many Villages

महाराष्ट्र में फिर बाढ़ का कहर:जलगांव के 750 से ज्यादा गांव पानी में डूबे, एक महिला समेत 500 से ज्यादा मवेशियों की मौत; कई गांवों में लोग अभी भी फंसे हुए हैं

जलगांव3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चालीसगांव में आई बाढ़ की त्रासदी को दर्शाती यह तस्वीर हेलीकॉप्टर से ली गई है। - Dainik Bhaskar
चालीसगांव में आई बाढ़ की त्रासदी को दर्शाती यह तस्वीर हेलीकॉप्टर से ली गई है।

मंगलवार को जलगांव के चालीसगांव में मूसलाधार बारिश की वजह से चालीसगांव तालुका के 750 गांवों को पानी में कमर से ऊपर तक डूबो दिया है। हालांकि, आज बरसात नहीं होने के कारण राहत है, लेकिन गांव में पानी भरा हुआ है। जिला प्रशासन की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, अभी भी कई गांवों में स्थिति भयावह बनी हुई है। अचानक आई बाढ़ की इस त्रासदी में एक महिला की मौत हुई है और 500 से ज्यादा मवेशियों के बहने की जानकारी सामने आ रही है। जिले में कई जगह सड़कें टूट गई हैं। ..

मंगलवार को कन्नड़ घाट और औरंगाबाद के पहाड़ी इलाकों में बादल फटने के बाद से अभी भी औरंगाबाद-धुले हाईवे यातायात के लिए बंद है। कन्नड़ घाट के पास अभी भी सड़क पर कीचड़ भरा हुआ है। हाईवे पर गाड़ियों की लंबी कतार देखने को मिल रही है। अचानक आई बाढ़ की कुछ डराने वाली तस्वीरें और वीडियो भी सामने आये हैं। जिसमें पानी में सब कुछ बहता हुआ नजर आ रहा है। कुछ गांवों में लोग फंसे हुए हैं और उन्हें बचाने के लिए एसडीआरएफ की टीम पहुंच गई है। आपदा प्रबंधन अधिकारी नरवीर रावल ने कहा कि टीम में 35 लोग शामिल हैं। विधायक मंगेश चव्हाण, पूर्व मंत्री गिरीश महाजन, जिला कलेक्टर अभिजीत राउत, पुलिस अधीक्षक डॉ. प्रवीण मुंडे, तहसीलदार अमोल मोरे समेत विभाग के अन्य अधिकारी चालीसगांव पहुंच गए हैं।

चालीसगांव तहसील में कई जगहों पर सड़कें पानी में बह गईं हैं।
चालीसगांव तहसील में कई जगहों पर सड़कें पानी में बह गईं हैं।

मौसम विभाग के अनुसार, विदर्भ के पश्चिमी हिस्सों में कम दबाव का क्षेत्र होने से मुंबई और इसके उपनगरों में अगले 24 घंटों के दौरान बारिश जारी रहेगी। अधिकांश स्थानों पर मध्यम बारिश हो सकती है। अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश (15 सेंटीमीटर से कम) हो सकती है।

जलगांव में कितनी बारिश हुई
पिछले 24 घंटे के दौरान(बुधवार शाम 8 बजे) तक जलगांव के तालेगांव में 145 मिमी और चालीसगांव में 90 मिमी बारिश दर्ज की गई है। स्थानीय प्रशासन की ओर से पंचनामा और आपातकालीन मदद के लिए जल्द से जल्द कदम उठाने को कहा गया है। प्रत्येक गांव में चिकित्सा अधिकारियों, पशु चिकित्सा अधिकारियों, शाखा अभियंताओं और विस्तार/बोर्ड अधिकारियों की टीमों को नियुक्त किया गया है।

यह तस्वीर कन्नड़ घाट की है, यहां बादल फटने के बाद से ट्रक कीचड़ में फंसे हुए हैं।
यह तस्वीर कन्नड़ घाट की है, यहां बादल फटने के बाद से ट्रक कीचड़ में फंसे हुए हैं।

प्रशासन की ओर से हर संभव मदद की जा रही है
पंचायत समिति एवं नगर पालिका द्वारा स्वच्छता एवं अस्थाई आवासों में नागरिकों के लिए मूलभूत सुविधाओं को मुहैया करवाने की योजना बनाई जा रही है। प्रशासन और सामाजिक संस्थाओं ने मंगलवार रात से ही राशन का किट बांटना शुरू कर दिया है। कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक मंगलवार सुबह से ही मौके पर मौजूद हैं और गांवों का दौरा कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...