• Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Mumbai Crime Branch Police Raid On Deepa Dance Bar News And Update: 17 Dancers Were Hidden In The Basement Of Deepa Bar

मुंबई के दीपा बार में सीक्रेट तहखाना:ठूंस कर छिपाई गई थीं 17 डांसर; तहखाने में लगे थे ऑटोमेटिक डोर, AC और बिस्तर

मुंबई5 महीने पहले
छोटे से तहखाने में लड़कियां तकरीबन 15 घंटे तक ठूंस कर छिपाई गई थीं।

मुंबई के अंधेरी इलाके में स्थित फेमस दीपा बार में एक अंडरग्राउंड तहखाने का पता चला है। इस तहखाने के अंदर 17 लड़कियों को ठूस कर बंद किया गया था। यह सभी बार बालाएं बताई जा रही हैं। इनमें से कइयों की उम्र बहुत कम है। जिस तहखाने का पता पुलिस को चला है, उसमें खड़ा हो पाना भी मुश्किल था।

तकरीबन 15 घंटे से ज्यादा की कार्रवाई के बाद मुंबई पुलिस की सोशल सर्विस ब्रांच की टीम ने इस गुप्त तहखाने का राज खोला है।

खास बात यह है कि इस तहखाने के अंदर जाने का रास्ता मेकअप रूम की दीवार में लगे शीशे के पीछे से जाता था। इसमें ऑटोमेटिक इलेक्ट्रिक डोर लगे थे। तहखाने के अंदर एक AC भी लगा था। उसके अंदर बिस्तर भी लगे हुए थे। सोशल सर्विस ब्रांच के डीसीपी राजु भुजबल ने बताया कि मुंबई की NGO कवच की शिकायत पर यह कार्रवाई की गई है।

भुजबल ने बताया कि यह रेड रविवार शाम से शुरू हुई और पूरी रात चली। 15 घंटे की कड़ी कार्रवाई के बाद 17 डांसर को मुक्त करवाया गया और बार के मैनेजर, कैशियर समेत 3 स्टाफ को अरेस्ट कर लिया गया। अंधेरी पुलिस स्टेशन में इस मामले को लेकर FIR दर्ज की गई है और पड़ताल जारी है। इन सभी पर कोविड नियमों के उल्लंघन और ऑर्केस्ट्रा की परमिशन पर डांस बार चलाने का केस दर्ज किया है।

तहखाने के अंदर लगा था AC और यहां था बिस्तर का इंतजाम।
तहखाने के अंदर लगा था AC और यहां था बिस्तर का इंतजाम।

लॉकडाउन में भी चल रहा था यह बार
मुंबई में कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत सभी डांस बार को अगले आदेश तक बंद रखने का आदेश दिया गया था। इसके बावजूद यह धड़ल्ले से चल रहा था। पुलिस टीम को यह भी जानकारी मिली है कि यहां हर दिन सैकड़ों लोग आते थे और डांस के दौरान इन बार बालाओं पर रुपए लुटाते थे। पुलिस की रेड से बचने के लिए ही ऐसे तहखाने का निर्माण किया गया था। सूत्रों की मानें तो यह बार तब भी चल रहा था, जब देश में कोरोना के प्रतिबंध लगे हुए थे।

इसी शीशे के पीछे था यह तहखाना।
इसी शीशे के पीछे था यह तहखाना।

आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम से लैस था यह बार
पुलिस से बचने के लिए इस डांस बार में आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम का बेहतरीन इंतजाम किया गया था। पुलिस की गाड़ी इस इलाके में जैसे ही आती थी, बार के बाहर लगे कैमरे अंदर बैठे लोगों को अलर्ट कर देते थे और लड़कियों को तुरंत गायब कर दिया जाता था। इससे पहले भी कई बार यहां रेड हुई, लेकिन पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा था।

इसकी ऊंचाई इतनी थी कि खड़ा हो पाना भी मुश्किल था।
इसकी ऊंचाई इतनी थी कि खड़ा हो पाना भी मुश्किल था।

ऐसे हुआ बार में तहखाने का खुलासा
बार में डांसर्स होने की पुख्ता सूचना के बाद देर रात हुई रेड में बाथरूम, स्टोरेज रूम, किचन हर जगह छापा मारा गया, लेकिन पुलिस टीम के हाथ कुछ नहीं लगा। बार के मैनेजर, कैशियर, वेटर सबसे घंटों पूछताछ हुई, लेकिन बार में डांसर होने की बात को वे खारिज करते रहे।

इसी बीच NGO की टीम के लोग मेकअप रूम में गए तो उन्होंने देखा कि वहां एक बड़ा सा मिरर लगा हुआ था। इस पर उन्हें संदेह हुआ और फिर उसे हटाने का प्रयास शुरू हुआ। जब इस शीशे को दीवार से अलग करने की कोशिश की गई तो पता चला कि ये दीवार में इस कदर फिट है कि इसे निकाल पाना असंभव है। इसके बाद बड़ा सा हथौड़ा मंगवाया गया और शीशे को तोड़ा गया।

इसमें शराब की कई बोतलें भी छिपा कर रखी गई थीं।
इसमें शराब की कई बोतलें भी छिपा कर रखी गई थीं।

कई दिनों तक लड़कियों को इसमें रखने की थी प्लानिंग
शीशे को पुलिस ने जैसे ही तोड़ा, वे अवाक रह गए। उसके पीछे एक बड़ा सा सीक्रेट रूम था, जिसे 'कैविटी' कहते हैं। इसकी क्षमता इतनी थी कि इसमें कुल 17 बार डांसर को छुपा कर रखा गया था। इसके बाद तहखाने से एक के बाद एक बार डांसर्स के निकलने का सिलसिला शुरू हुआ। इस तहखाने में जाने का रास्ता एक ऑटोमेटिक डोर से था।

हालांकि पुलिस इस बात का पता लगाने में नाकाम रही कि आखिर इस गुप्त तहखाने का रिमोट कंट्रोल कहां था। AC और बिस्तर के अलावा इसमें कई फूड पैकेट भी मौजूद थे। पुलिस का मानना है कि तहखाने में लड़कियों को कई दिनों तक रखने की प्लानिंग यहां के लोगों ने की थी। इस कमरे में AC तो था, लेकिन वेंटिलेशन के लिए कोई जगह नहीं थी।

खबरें और भी हैं...