• Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Mumbai: The Girl Rejected The Proposal, Then The Young Man Started Sending Sex Toys At Home, Put The Victim's Picture And Phone Number On The Porn Site

रिजेक्शन बना पागलपन:मुंबई में लड़की ने ठुकराया प्रपोजल तो घर पर सेक्स टॉयज भेजने लगा युवक, पोर्न साइट पर डाली पीड़िता की तस्वीर और फोन नंबर

मुंबई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मालाड पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक धनंजय लिगाड़े ने बताया कि आरोपी के खिलाफ रेप के प्रयास और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। - Dainik Bhaskar
मालाड पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक धनंजय लिगाड़े ने बताया कि आरोपी के खिलाफ रेप के प्रयास और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

मुंबई की मालाड साइबर सेल टीम ने विकृत मानसिकता वाले एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है, जो पड़ोस में रहने वाली एक लड़की को सेक्स टॉय भेज उसे पिछले कई दिनों से परेशान कर रहा था। गिरफ्तार शख्स की पहचान 26 वर्षीय कुनाल अंगोलकर के रूप में हुई है। 21 वर्षीय पीड़िता की शिकायत पर आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

मालाड पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक धनंजय लिगाड़े ने बताया कि आरोपी के खिलाफ रेप के प्रयास और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। जांच में सामने आया है कि आरोपी एक ऑनलाइन वेबसाइट के माध्यम से सेक्स टॉय खरीद कर लड़की के घर लगातार भेज रहा था। इसकी हरकतों से परेशान होकर पीड़िता ने फरवरी 2021 को एक केस दर्ज करवाया था और तकरीबन 8 महीने तक इस मामले की जांच चली और गुरुवार को आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ा।

लड़की की तस्वीर और मोबाइल नंबर भी पोर्न साइट पर डाला
धनंजय लिगाड़े ने ने बताया कि आरोपी लड़की को पसंद करता था, लेकिन पीड़िता ने उसके प्रेम के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। इसी बात से नाराज होकर आरोपी ने यह हरकत शुरू कर दी थी। पकड़ा न जा सके इसलिए आरोपी भेजने वाले का नाम गलत डालता था। लड़की को परेशान करने के लिए पोर्न साइट पर उसका फोन नंबर, फोटो और मेल आईडी भी डाल दिया था। जिसके वजह से लड़की को अलग-अलग नंबर से कॉल आने लगे थे।

IP एड्रेस बदल कर करता था आर्डर प्लेस
धनंजय लिगाड़े ने आगे बताया कि आरोपी हर बार अपना आईपी एड्रेस बदल कर आर्डर प्लेस करता था। इसके लिए वह वीपीएन (वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क) का इस्तेमाल करता था। आरोपी हमेशा सेक्स टॉय के लिए कैश ऑन डिलीवरी का आर्डर देता था। धनंजय लिगाड़े ने बताया कि हमने आरोपी को आईपीसी की धारा 354 (अ) और 354 (द) सहित 67 आईटी एक्ट के तहत अरेस्ट किया है।

500 से ज्यादा नेटवर्क को किया गया स्कैन
धनंजय लिगाड़े ने बताया कि साइबर सेल ने आरोपी को पकड़ने से पहले करीब 500 से ज्यादा लोगो के उपयोग होने वाले नेटवर्क पर नजर रखी। इस बीच पुलिस को VPN इस्तेमाल करने वाले कुछ लोगों पर संदेह हुआ और उनपर नजर रखने के दौरान आरोपी की पहचान हुई। कड़ी मशक्कत के बाद मालाड साइबर एक्सपर्ट विवेक तांबे ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। कस्टडी के लिए उसे आज अदालत में पेश किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...