एक ईमेल ने करवाई PM से मुलाकात:10 साल की अनीशा से मिले प्रधानमंत्री मोदी; बच्ची ने पूछा- आप राष्ट्रपति कब बनेंगे, इस पर अपनी हंसी नहीं रोक पाए

मुंबई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

महाराष्ट्र में रहने वाली 10 साल की अनीशा पाटिल बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिली। अनीशा ने मेल कर उनसे मिलने की इच्छा जाहिर की थी। इस पर प्रधानमंत्री मोदी का बुलावा आ गया। अनीशा के पास प्रधानमंत्री के लिए कई सवाल थे। उन्होंने सभी सवालों के जवाब भी दिए। बात-बात में बच्ची ने पूछ लिया कि आप राष्ट्रपति कब बनेंगे। यह सवाल सुनकर प्रधानमंत्री अपनी हंसी नहीं रोक पाए।

अहमदनगर की अनीशा किसी सामान्य परिवार से नहीं है। उसके पिता डॉ. सुजय विखे पाटिल सांसद हैं। दादा राधाकृष्ण विखे पाटिल भी महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री रहे हैं और कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए हैं। अनीशा पिछले कई महीने से प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करना चाह रही थी। पेरेंट्स उसे समझाते रहे कि PM का शेड्यूल काफी बिजी होता है और वे शायद मिलने का समय न दे सकें।

मेल पर जवाब मिला- दौड़ के चली आओ बेटा
पेरेंट्स ने अनीशा की नहीं सुनी तो छोटी बच्ची ने अपने पिता के लैपटॉप से प्रधानमंत्री को एक ई-मेल भेजा। मेल में अनीशा ने लिखा, 'हैलो सर, मैं हूं अनीशा और मैं सच में आकर आपसे मिलना चाहती हूं।' कुछ दिन बाद इसका जवाब आया तो अनीशा को सपना पूरा होता लगा।

PM की ओर से जो मेल आया उसमें लिखा था, 'दौड़ के चली आओ बेटा।’ जब विखे पाटिल परिवार संसद पहुंचा तो PM मोदी का पहला सवाल था कि अनीशा कहां है? फिर अनीशा ने PM मोदी से मिलने पर खुशी जाहिर की।

10 मिनट तक चली PM और अनीशा की मुलाकात
अनीशा की प्रधानमंत्री से मुलाकात करीब 10 मिनट तक चली। PM ने उसे चॉकलेट दी। अनीशा के मन में प्रधानमंत्री को लेकर जितने भी सवाल थे, उसने वे सभी पूछ डाले। अनीशा ने PM से पूछा-आप यहां बैठते हैं?, क्या यह आपका ऑफिस है?, यह कितना बड़ा ऑफिस है?

इसके जवाब में PM मोदी ने कहा कि यह मेरा परमानेंट ऑफिस नहीं है। मैं आपसे मिलने आया था, क्योंकि आप यहां आई थीं। PM मोदी जवाब दे ही रहे थे कि अनीशा ने फिर पूछा, क्या आप गुजरात से हैं? आप राष्ट्रपति कब बनेंगे। इस पर PM मोदी हंस पड़े।

खबरें और भी हैं...