पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Pune Corona News Today Updates; 65 Year Old Woman Recovers From Coronavirus In Maharashtra Pune Aundh Government Hospital

पुणे:16 दिन बाद कोरोना संक्रमण से मुक्त हुईं 65 साल की महिला, हॉस्पिटल से कदम बाहर रखते ही खुशी से लगी नाचने

पुणे4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हॉस्पिटल से बाहर निकलने के दौरान महिला ने डांस किया। इस दौरान लोगों ने उन पर फूल बरसाए।
  • जब उन्हें भर्ती कराया गया तो वे इस बात को लेकर चिंतित थीं कि वह अपने घर वापस जा पाएंगी या नहीं
  • घर जाते समय महिला ने डॉक्टरों और नर्सों को धन्यवाद दिया और कहा कि वह उनकी वजह से ही बची है

यहां कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर 16 दिन बाद हॉस्पिटल से घर लौटी 65 साल की एक महिला ने जैसे ही हॉस्पिटल के बाहर कदम रखा वह खुशी के मारे झूमने लगी। गठिया के दर्द के बावजूद महिला अपनी छड़ी के सहारे नाचती हुई नजर आई। अब महिला का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। 

दो सप्ताह पहले ऑक्सीजन सपोर्ट पर थी महिला
जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को पुणे के औंध सिविल अस्पताल में एक बुजुर्ग महिला की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। बुजुर्ग महिला के इस उत्साह और खुशी को देखते हुए अस्पताल का स्टाफ भी उनके साथ जश्न में शामिल हो गया। महिला को दो सप्ताह पहले गंभीर हालत में भर्ती कराया गया था। जहां उन्हें ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया था।

12 दिन तक आईसीयू में रहीं
महिला का इलाज करने वाली डॉक्टर शर्मिला गायकवाड़ ने कहा, 'महिला डायबिटीज और गठिया से पीड़ित हैं। कोरोना से संक्रमित पाए जाने के बाद उन्हें कुछ दिन पहले अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सांस लेने में तकलीफ और खांसी के चलते उसकी हालत गंभीर हो गई। इसके बाद उन्हें आईसीयू में शिफ्ट करना पड़ा था। उन्होंने कहा कि 12 दिनों तकआईसीयू में रहने के बाद बुजुर्ग महिला की हालत में सुधार हुआ तो उन्हें जनरल वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। इसके बाद उसकी दोबारा जांच की गई, तो वे कोरोना निगेटिव निकली।'

महिला ने कहा- मुझे नहीं लगता था कि मैं अब बचूंगी
अस्पताल की एक नर्स ने बताया, 'जब उन्हें भर्ती कराया गया तो वे इस बात को लेकर चिंतित थीं कि वह अपने घर वापस जा पाएंगी या नहीं। घर जाते समय महिला ने डॉक्टरों और नर्सों को धन्यवाद दिया और कहा कि वह उनकी वजह से बची है।' नर्स ने बताया कि महिला अक्सर कहती थी कि मैं मर जाती लेकिन आप लोगों ने मेरी जान बचाई। मैं आप सभी को कभी नहीं भूलूंगी।

डीएम ने भी किया महिला के जज्बे को सलाम
जिलाधाकरी नवल किशोर राम ने कहा, 'मैंने कोरोना मुक्त रोगी का घर में स्वागत करते हुए लोगों के वीडियो देखे हैं। लेकिन यह पहली बार है जब मैंने किसी मरीज को अस्पताल के बाहर नाचते हुए सुना है। यह पहला मामला हो सकता है। हमें कोरोना से डरना नहीं चाहिए, बल्कि आत्मविश्वास के साथ सामना करना चाहिए।'

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें