पुणे में जघन्य वारदात:एकतरफा प्यार में पागल युवक ने दो दोस्तों संग मिल बीच सड़क पर नाबालिग को मौत के घाट उतारा, मरने की पुष्टि होने तक करते रहे चाकू से प्रहार

पुणे14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी ने पीड़िता पर तब प्रहार किया, जब वह कबड्डी की प्रैक्टिस करके लौट रही थी। पीड़िता एक कबड्डी की जिला लेवल की जूनियर खिलाड़ी भी है। इनसेट में इस मामले का मुख्य आरोपी शुभम। - Dainik Bhaskar
आरोपी ने पीड़िता पर तब प्रहार किया, जब वह कबड्डी की प्रैक्टिस करके लौट रही थी। पीड़िता एक कबड्डी की जिला लेवल की जूनियर खिलाड़ी भी है। इनसेट में इस मामले का मुख्य आरोपी शुभम।

सांस्कृतिक राजधानी पुणे के बीबेवाड़ी में मंगलवार शाम को दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां बीच सड़क पर तीन लोगों ने चाकुओं से गोदकर 14 साल की एक नाबालिग किशोरी की निर्मम तरीके से हत्या कर दी। पीड़िता एक कबड्डी की जिला लेवल की जूनियर खिलाड़ी भी है। यह जघन्य वारदात तब हुई जब किशोरी कबड्डी की प्रैक्टिस के लिए जा रही थी। शुरुआती जांच में पता चला है कि कक्षा 8 में पढ़ने वाली नाबालिग के एकतरफा प्यार में नाकाम 22 साल के एक युवक ने इस वारदात को अंजाम दिया है।

इस हत्याकांड में शामिल तीनों आरोपियों को पुलिस ने बुधवार सुबह अरेस्ट कर लिया है। इनमें दो नाबालिग और एक 22 साल का शुभम भागवत है। शुभम भागवत पीड़िता का रिश्तेदार है और कुछ समय तक उसके घर पर ही रहा था।

बीच सड़क पर ऐसे हुई नाबालिग की हत्या

पुलिस ने बुधवार सुबह बताया कि हमने वारदात में शामिल तीनों लड़कों को पकड़ लिया है और उनके पास से हमें दो चाकू बरामद हुए हैं। इसी से वारदात को अंजाम दिया गया था। कुछ देर में कस्टडी के लिए इन्हें अदालत के सामने पेश किया जाएगा। पुणे पुलिस की डीसीपी नम्रता पाटिल ने बताया, नाबालिग बीती शाम करीब 5.45 बजे कबड्डी की प्रैक्टिस के लिए बिबेवाडी इलाके के यश लॉन में जा रही थी। शाम 6 बजे के आसपास वह लॉन के पास अपने दोस्तों के साथ खड़ी थी, तभी एक मोटरसाइकिल पर सवार होकर शुभम लड़के अपने दो साथियों के साथ वहां पहुंचा और पीड़िता पर एक के बाद एक कई प्रहार किए।

वारदात मंगलवार देर शाम को हुई है और आरोपी पीड़िता कि हत्या के बाद मौके से फरार हो गए थे।
वारदात मंगलवार देर शाम को हुई है और आरोपी पीड़िता कि हत्या के बाद मौके से फरार हो गए थे।

नाबालिग पर तब तक किया प्रहार, जब तक नहीं हुई मौत
नम्रता पाटिल ने बताया, 'वे नाबालिग को तब तक मारते रहे, जब तक उसकी मौत नहीं हो गई। हत्या के बाद तीनों आरोपी मौके से फरार हो गए। मौके पर मौजूद लोगों की गवाही और CCTV फुटेज के सहारे पुलिस दो आरोपियों को देर रात पकड़ने में कामयाब रही। हालांकि, इस केस का मुख्य आरोपी 22 साल का शुभम फरार हो गया था और उसे बुधवार सुबह पकड़ा गया।'

पाटिल ने आगे बताया कि शुभम पीड़िता का रिश्तेदार भी है और वह कुछ दिनों तक पीड़िता के घर पर भी रहा था। पिता को उसके एकतरफा प्यार में पड़ने और लड़की को परेशान करने की जानकारी मिली और उसे घर से निकाल दिया गया।

अजित पवार ने भी त्वरित कार्रवाई का दिया निर्देश
इस मामले में डीसीपी (जोन-5) नम्रता पाटिल ने कहा कि मृतक 14 साल की नाबालिग किशोरी की हत्या के घटनास्थल पर पुलिस को मौके से एक पिस्टल बरामद हुई है, यह एक खिलौना बंदूक की तरह दिखती है। पाटिल ने आगे बताया कि पुलिस इसकी सच्चाई का पता लगाने के लिए जांच कर रही है। वहीं, इस मामले में प्रदेश के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार, जो पुणे जिले के संरक्षक मंत्री भी हैं। उन्होंने इस घटना की निंदा करते हुए पुणे पुलिस से मामले में तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए है।

खबरें और भी हैं...