पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

PMC बैंक घोटाला:ED टीम ने वीवा ग्रुप के 6 ठिकानों पर की रेड, ठाकुर परिवार और प्रवीण राउत के बीच मिले हैं मनी ट्रेल के सबूत

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
PMC बैंक में फर्जी खातों के जरिए एक डेवलपर को 6500 करोड़ रुपए का कर्ज देने की बात रिजर्व बैंक की नजर में साल 2019 में आई थी। - Dainik Bhaskar
PMC बैंक में फर्जी खातों के जरिए एक डेवलपर को 6500 करोड़ रुपए का कर्ज देने की बात रिजर्व बैंक की नजर में साल 2019 में आई थी।

पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच कर रही प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने शुक्रवार को मुंबई के मीरा भायंदर, वसई-विरार इलाकों में रेड की है। ED की टीम वीवा ग्रुप के मालिक और पूर्व विधायक हितेंद्र ठाकुर और जयेंद्र उर्फ भाई ठाकुर के 6 ठिकानों पर रेड कर रही है। ED को इस घोटाले में गिरफ्तार हुए प्रमुख आरोपी प्रवीण राउत और ठाकुर परिवार के बीच मनी ट्रेल (पैसों की लेन-देन) के सबूत मिले हैं। बताया जा रहा है कि ED ने वीवा ग्रुप के 5 ठिकानों पर छापा मारा है।

वीवा ग्रुप और इसकी समूह कंपनियां भाई ठाकुर के परिवार के सदस्यों द्वारा संचालित और नियंत्रित की जाती हैं। भाई ठाकुर का प्रभाव वसई-विरार के क्षेत्रों में माना जाता है। उनके खिलाफ तस्करी, हत्या, जमीन हड़पने और कई अन्य मामले दर्ज हैं। इनमें से वे कुछ मामलों में जेल भी जा चुके हैं। कुछ साल पहले 'टाडा' कानून के तहत उनके खिलाफ केस भी दर्ज किया गया था।

ठाकुर की पार्टी से विधानसभा में तीन सदस्य
जयेंद्र उर्फ भाई ठाकुर के भाई हितेंद्र ठाकुर बहुजन विकास अगाड़ी(बीवीए) नाम की पार्टी के अध्यक्ष हैं। 2019 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में बहुजन विकास अघाड़ी से राजेश रघुनाथ पाटिल, क्षितिज ठाकुर और हितेंद्र ठाकुर विधायक बने हैं। क्षितिज ठाकुर भाई ठाकुर के भतीजे और हितेंद्र ठाकुर के बेटे हैं। वसई विरार महानगर पालिका पर भी भाई ठाकुर के भाई हितेंद्र ठाकुर की बहुजन विकास अघाड़ी की सत्ता है।

क्या है PMC बैंक घोटाला?
PMC बैंक में फर्जी खातों के जरिए एक डेवलपर को 6500 करोड़ रुपए का कर्ज देने की बात रिजर्व बैंक की नजर में साल 2019 में आई थी। रिजर्व बैंक ने सितंबर 2019 में बैंक पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए थे। 23 सितंबर 2019 से RBI का मोरेटोरियम लगा है। इसके तहत बैंक के जमाकर्ताओं पर निकासी प्रतिबंध लगा है। RBI ने PMC बैंक के बोर्ड को भंग कर दिया था।

इस धोखाधड़ी और घोटाले में बैंक के कई सीनियर अधिकारी शामिल पाए गए थे। बैंक द्वारा रियल एस्टेट कंपनी HDIL को दिए गए लोन की RBI को सही जानकारी नहीं दी थी। इस लोन में भी घोटाले के आरोप हैं।

इस मामले में आर्थिक अपराध शाखा ने HDIL के प्रमुख सारंग वाधवान और राकेश वाधवान को गिरफ्तार किया था। बैंक को डुबाने में जो 44 अकाउंट अहम थे, उनमें से 10 अकाउंट HDIL के थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

और पढ़ें