• Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Sachin Vaze Antilia Case; Mukesh Ambani Antilia House Security | National Investigation Agency, Mumbai Police Latest News

एंटीलिया केस में नया खुलासा:सचिन वझे ने ही खरीदी थी स्कॉर्पियो से बरामद जिलेटिन की छड़ें, काले रंग की एक ऑडी भी इस केस में जब्त

मुंबई2 वर्ष पहले

कारोबारी मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर खड़ी स्कॉर्पियो से जो 20 जिलेटिन की छड़ें बरामद हुई थीं, उसे इस केस में गिरफ्तार मुख्य आरोपी सचिन वझे ने ही खरीदा था। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने इसकी पुष्टि की है। हालांकि, NIA ने यह क्लियर नहीं किया है कि इन छड़ों को कब और कहां से खरीदा था। जांच में सामने आया था कि ये छड़ें नागपुर की सोलर इंडस्ट्रीज कंपनी में बनाई गई थीं।

जिलेटिन की छड़ों पर दर्ज नाम के आधार पर NIA जल्द ही कंपनी के लोगों को बुलाकर पूछताछ कर सकती है। इससे पहले नागपुर पुलिस ने कंपनी के मालिक का बयान दर्ज किया था। बरामद छड़ों पर वैसे तो कोई सीरियल नंबर नहीं था, लेकिन अगर NIA वह बॉक्स खोज लेती है, जिसमें से इन छड़ों को निकाला गया था तो यह गुत्थी सुलझ सकती है कि इन्हें कब खरीदा गया था और किसने इसे बेचा था। हर बॉक्स पर एक विशेष QR कोड होता है, जिसका रिकॉर्ड कंपनी के पास होता है।

यह कार भी सचिन वझे के नाम पर रजिस्टर्ड बताई जा रही है।
यह कार भी सचिन वझे के नाम पर रजिस्टर्ड बताई जा रही है।

इस केस में इस्तेमाल 8वीं कार बरामद
एंटीलिया केस में NIA ने 8वीं कार आखिरकार बरामद कर ली है। सचिन वझे के नाम पर रजिस्टर्ड काले रंग की ऑडी कार (MH04 FZ6561) की तलाश कई दिनों से महाराष्ट्र ATS और NIA की टीम कर रही थी। मनसुख हिरेन की हत्या में इस कार की क्या भूमिका है और इसका इस्तेमाल किसने किया? फिलहाल NIA इसकी जांच कर रही है। NIA को शक है कि सचिन वझे ने इसी ऑडी कार का इस्तेमाल मनसुख हिरेन की मौत से ठीक पहले किया था। इससे पहले ATS ने भी NIA को सौंपी अपनी जांच रिपोर्ट में सचिन वझे के एक ऑडी कार के इस्तेमाल की बात बताई थी। NIA को अब भी एक स्कोडा कार की तलाश है।

मनसुख की मौत से 3 दिन पहले टोल प्लाजा पर दिखी ऑडी
31 मार्च को बरामद हुई ऑडी कार का एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। यह वीडियो फुटेज बांद्रा वर्ली सी लिंक पर बने टोल प्लाजा का है। माना जा रहा है कि ऑडी कार में बैठे दो लोग सचिन वझे और मनसुख हिरेन हैं। सूत्रों के मुताबिक, यह फुटेज मनसुख हिरेन की कथित मौत से तीन दिन पहले की यानी 2 मार्च की है। मनसुख की बॉडी 5 मार्च को मुंब्रा क्रीक में मिली थी।

2 मार्च का यह वीडियो फुटेज बांद्रा वर्ली सी लिंक पर बने टोल प्लाजा का है।
2 मार्च का यह वीडियो फुटेज बांद्रा वर्ली सी लिंक पर बने टोल प्लाजा का है।

अब तक बरामद हुई यह कारें

कारतारीख
स्कॉर्पियो25 फरवरी (इसी में मिला था विस्फोटक)
इनोवा15 मार्च (सचिन वझे लगातार इस सरकारी इनोवा से स्कॉर्पियो का पीछा कर रहा था)
ब्लैक मर्सिडीज16 मार्च (मुंबई में पुलिस गैराज में छिपाई गई थी)
ब्लू मर्सिडीज18 मार्च( क्राफर्ड मार्केट से बरामद हुई थी।)
लैंड क्रूजर प्राडो18 मार्च (ठाणे से बरामद हुई थी)
वॉल्वो22 मार्च (महाराष्ट्र ATS ने दमन से इस कार को जब्त किया था)
आउटलैंडर30 मार्च (नवी मुंबई के कमोठे क्षेत्र से हुई थी बरामद)
ऑडी31 मार्च (वसई विरार इलाके से बरामद हुई थी)

मिलिंद काठे को CIU की कमान
इंस्पेक्टर मिलिंद काठे को मुंबई पुलिस की क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट (CIU) का नया प्रमुख बनाया गया है। पूर्व प्रमुख सचिन वझे की गिरफ्तारी और निलंबन के बाद इस पद पर किसे नियुक्त किया जाएगा इसे लेकर अटकलें लग रही थीं। हाल ही में अपराध शाखा से 65 अधिकारियों के तबादले के बाद यहां 24 नए अधिकारियों को भी नियुक्त किया गया है। इसके अलावा योगेश चव्हाण को एंटी एक्सटॉर्शन स्क्वाड की कमान सौंपी गई है।