पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संगीनों के साए में वैक्सीन ट्रांसपोर्टेशन:पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट से 25 मिनट में एयरपोर्ट पहुंचे 3 ट्रक,आगे-पीछे हथियारबंद सुरक्षाकर्मी थे

पुणे16 दिन पहले
ट्रकों की सुरक्षा का जिम्मा पुणे की हड़पसर पुलिस को दिया गया था, जबकि पूरे रास्ते तीन पुलिस स्टेशन की टीम तैनात थी।

सीरम इंस्टीटयूट ऑफ इंडिया, पुणे द्वारा तैयार की गई कोरोना वैक्सीन 'कोवीशील्ड' की पहली खेप विशेष फ्लाइट्स से 13 अलग-अलग शहरों के लिए रवाना हुई। वैक्सीन को तीन ट्रकों में भरकर पुणे के लोहगांव एयरपोर्ट तक ले जाया गया, इस दौरान पूरे रास्ते में ट्रकों के आगे और पीछे पुणे पुलिस की कड़ी सिक्योरिटी थी। ट्रकों को रवाना करने से पहले तीनों की पूजा की गई। वैक्सीन से लदे ट्रक के ड्राइवर विक्ट्री साइन बनाकर सीरम इंस्टीट्यूट के गेट से बाहर निकले।

पूरे रास्ते सड़क के दोनों ओर सुरक्षाकर्मी नजर आए।
पूरे रास्ते सड़क के दोनों ओर सुरक्षाकर्मी नजर आए।

संगीनों के साए में एयरपोर्ट पहुंचे ट्रक
तीनों ट्रक तड़के 4.30 बजे सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के हड़पसर प्लांट से निकले। ट्रक के आगे हड़पसर पुलिस स्टेशन का एक एस्कॉर्ट चल रहा था, इसमें एक सब इंस्पेक्टर और चार हथियारबंद कांस्टेबल थे। पुणे ट्रैफिक डिपार्टमेंट में सीरम इंस्टीट्यूट से एयरपोर्ट तक यानी हड़पसर से विमान नगर तक ट्रकों के लिए एक ग्रीन कॉरिडोर तैयार किया था। ट्रकों के पीछे भी एक एस्कॉर्ट वैन थी, जिसमें ड्राइवर समेत 10 पुलिसकर्मी हथियार से लैस बैठे हुए थे। एयरपोर्ट पहुंचने के बाद भी पुणे पुलिस ने ही सभी कन्टेनर्स को अपनी निगरानी में कार्गो पाइंट तक पहुंचाया।

तीन ट्रकों में 56.6 लाख डोज आज रवाना हुईं।
तीन ट्रकों में 56.6 लाख डोज आज रवाना हुईं।

25 मिनट में ट्रकों ने पूरा किया सफर
हड़पसर से पुणे के इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक इन ट्रकों ने तकरीबन 25 मिनट में यह सफर पूरा किया। इस पूरी यात्रा के दौरान सड़क के दोनों ओर हड़पसर, खड़की और विमान नगर पुलिस स्टेशन के जवान तैनात थे। इस दौरान किसी भी प्राइवेट वाहन को सड़क पर चलने की अनुमति नहीं दी गई थी।

टाइट सिक्योरिटी में ही कन्टेनर्स को एयरपोर्ट पर उतारा गया।
टाइट सिक्योरिटी में ही कन्टेनर्स को एयरपोर्ट पर उतारा गया।

SB लॉजिस्टिक को मिली वैक्सीन पहुंचाने की जिम्मेदारी
वैक्सीन को 9 फ्लाइट्स द्वारा देश के 13 अलग-अलग शहरों तक पहुंचाया जाएगा। SB लॉजिस्टिक के एमडी संदीप भोसले ने बताया, 'वैक्‍सीन की पहली फ्लाइट देश की राजधानी दिल्ली के लिए रवाना हुई है। इन वैक्‍सीन को महाराष्ट्र समेत देश के कई हिस्सों में भेजने का कार्य एस बी लॉजिस्टिक कंपनी को सौंपा गया है। ये कंपनी अपने रेफ्रिजरेटर वाले ट्रकों के द्वारा कोरोना वैक्‍सीन को देश के विभिन्‍न स्‍थानों तक पहुंचाएगी। यह कंपनी पिछले 10 वर्षों से वैक्सीन को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने का काम कर रही है।

ड्राइवर विक्ट्री का साइन दिखाकर रवाना हुए।
ड्राइवर विक्ट्री का साइन दिखाकर रवाना हुए।

56.5 लाख डोज इन 13 शहरों तक पहुंचेगे
आज एयर इंडिया, स्पाइसजेट और इंडिगो एयरलाइंस की 9 फ्लाइट्स 56.5 लाख डोज के साथ पुणे से दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, गुवाहाटी, शिलांग, अहमदाबाद, हैदराबाद, विजयवाड़ा, भुवनेश्वर, पटना, बेंगलुरु, लखनऊ और चंडीगढ़ के लिए रवाना हुईं हैं।

तीनों ट्रकों के आगे और पीछे कड़ी सिक्योरिटी लगाई गई थी।
तीनों ट्रकों के आगे और पीछे कड़ी सिक्योरिटी लगाई गई थी।

टीके का दाम 210 रुपए
सोमवार के दिन भारत सरकार की तरफ से सीरम को 1.1 करोड़ वैक्सीन की खुराक खरीदने की अधिकारिक पुष्टि की गई थी। सूत्रों के अनुसार, सरकार को दी जा रही वैक्सीन की प्रत्येक खुराक की कीमत 210 रुपए रखी गई है।

देर रात से ही पुलिस ने सीरम इंस्टि्टयूट को छावनी में बदल दिया था।
देर रात से ही पुलिस ने सीरम इंस्टि्टयूट को छावनी में बदल दिया था।
हड़पसर से विमान नगर तक के रास्ते को ग्रीन कॉरिडोर में बदल दिया गया था।
हड़पसर से विमान नगर तक के रास्ते को ग्रीन कॉरिडोर में बदल दिया गया था।
पूजा के बाद ताली बजाकर सभी ट्रकों को रवाना किया गया।
पूजा के बाद ताली बजाकर सभी ट्रकों को रवाना किया गया।
इस तरह के स्पेशल कंटेनर में वैक्सीन को रखा गया है।
इस तरह के स्पेशल कंटेनर में वैक्सीन को रखा गया है।
पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट से पहला ट्रक सुबह 4.30 बजे रवाना हुआ।
पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट से पहला ट्रक सुबह 4.30 बजे रवाना हुआ।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे। आप कुछ ऐसे कार्य भी करेंगे जिससे आपकी रचनात्मकता सामने आएगी। घर ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser