केंद्र सरकार पर पवार का प्रहार:NCP चीफ बोले- केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है मोदी सरकार, देशमुख के घर 5 बार रेड की क्या जरूरत

मुंबई12 दिन पहलेलेखक: विनोद यादव
  • कॉपी लिंक
शरद पवार ने कहा- लखीमपुर हिंसा की जिम्मेदारी से यूपी सरकार नहीं बच सकती। - Dainik Bhaskar
शरद पवार ने कहा- लखीमपुर हिंसा की जिम्मेदारी से यूपी सरकार नहीं बच सकती।

NCP चीफ शरद पवार ने केंद्र पर सीबीआई, ED, आईटी और NCB जैसी एजेंसीज के दुरुपयोग का आरोप लगाया है। पवार ने सवाल पूछा कि आखिर क्यों पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के घर पर 5 बार रेड की गई। मुझे आश्चर्य है। एक ही घर पर 5 बार छापेमारी करने की क्या जरूरत है?

पवार ने कहा कि ऐसा माहौल बनाया गया कि अनिल देशमुख को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा। आज उन पर आरोप लगाने वाले मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह गायब हैं। जनता को भी इस बातों को समझना होगा।

सैनिकों पर हमला चिंताजनक: पवार​​​
एनसीपी चीफ शरद पवार ने कहा कि चीन से बातचीत सफल हो रही है, लेकिन कश्मीर में कुछ और ही देखने को मिल रहा है। घाटी में सैनिकों पर हमला निंदनीय और चिंताजनक है। इस पर सभी दलों को सामूहिक भूमिका लेना जरूरी है। राजनाथ सिंह ने मुझे और एंथोनी को बुलाकर सीमा पर क्या चल रहा है, इस मामले की ब्रीफिंग की है। देश की सुरक्षा पर हम एकमत होकर काम करेंगे। हमें जनता को सतर्क करना चाहिए।

क्रूज शिप मामले में NCB के दुरुपयोग का लगाया आरोप
पवार ने कहा है कि भाजपा क्रूज शिप मामले में एनसीबी एजेंसी का दुरुपयोग कर रही है, जिसमें मेगा स्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया है। वहीं इससे पहले एनसीपी के प्रवक्ता नवाब मलिक ने एनसीबी पर बीजेपी (BJP) के साथ मिलकर कार्रवाई करने के आरोप लगाया।

साथ ही आर्यन खान और अरबाज को अरेस्ट करने वाले व्यक्तियों पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि था कि आर्यन खान और अरबाज को अरेस्ट कर जो व्यक्ति ले जा रहा हैं, वह व्यक्ति के पी गोसावी और मनीष भानुशाली है। आर्यन को ले जाने वाले मनीष भानुशाली की तस्वीर बीजेपी के बड़े बड़े मंत्रियों के साथ हैं।

लखीमपुर पर बोले पवार-किसी ने किसानों की नहीं सुनी
पवार ने कहा, किसानों ने स्पष्ट बताया था कि केंद्रीय मंत्री के बेटे की कार से किसान कुचले गए, लेकिन सरकार सुन नहीं रही थी। 5 से 6 दिन बाद सुप्रीम कोर्ट में मामला जाने के बाद सरकार ने मंत्री के बेटे को गिरफ्तार किया। मेरा मानना है कि इसकी जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की है और वे इससे बच नहीं सकते। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री को इस्तीफा देना चाहिए।

खबरें और भी हैं...