शिवसेना का पीएम पर निशाना:सामना की संपादकीय में लिखा-नृत्य गोपाल दास के साथ मंच साझा करने पर क्या पीएम को क्वारैंटाइन नहीं होना चाहिए था; असली आत्मनिर्भर रूस, हम सिर्फ प्रवचन झाड़ते रहे

मुंबईएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सामना की संपादकीय में इससे पहले भी पीएम मोदी पर निशाना साधा जाता रहा है। - Dainik Bhaskar
सामना की संपादकीय में इससे पहले भी पीएम मोदी पर निशाना साधा जाता रहा है।
  • सामना ने लिखा है कि आत्मनिर्भरता का पहला सबक रूस ने पेश किया है, जबकि हम सिर्फ आत्मनिर्भरता का प्रवचन झाड़ते रहते हैं
  • शिवसेना ने दावा किया है कि दिल्ली के लोग आज कोरोना से काफी ज्यादा डर गए हैं, जबकि पहले उन्हें अमित शाह और पीएम मोदी का भी डर था

राम जन्मभूमि न्यास के प्रमुख नृत्य गोपाल दास के कोरोना संक्रमित हो जाने को आधार बनाते हुए शिवसेना ने पार्टी के मुखपत्र 'सामना' में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। शिवसेना ने रविवार की संपादकीय में पूछा है कि 5 अगस्त को अयोध्या में नृत्य गोपाल दास के साथ मंच साझा करने पर पीएम मोदी को क्वारैंटाइन के नियम का पालना नहीं करना चाहिए था?

सामना ने लिखा है कि आत्मनिर्भरता का पहला सबक रूस ने पेश किया है, जबकि हम सिर्फ आत्मनिर्भरता का प्रवचन झाड़ते रहते हैं। शिवसेना ने दावा किया है कि दिल्ली के लोग आज कोरोना से काफी ज्यादा डर गए हैं, जबकि पहले उन्हें अमित शाह और पीएम मोदी का भी डर था।

हिंदुस्तान कोरोना के खिलाफ ‘भाभी जी’ का पापड़ बेलता रहा
सामना ने अपने संपादकीय में आरोप लगाया है कि कोरोना को लेकर केंद्र सरकार के सारे दावे फेल हो गए हैं। संपादकीय में लिखा है, "बीजेपी के भाभी जी पापड़ का हो गया राजफाश। इसका प्रचार करने वाले मंत्री ही हो गए कोरोना पॉजिटिव। हिंदुस्तान कोरोना के खिलाफ ‘भाभी जी’ का पापड़ बेलता रहा और वहां रूस कोरोना पर ‘वैक्सीन’ बनाकर बाजार में ले आ-या। विश्व स्वास्थ्य संगठन को भी इस बारे में नहीं पूछा। इसे कहते हैं महासत्ता। हम हमारे मद में हैं। आत्मनिर्भरता का यह पहला सबक रूस ने पेश किया है।'

क्या पीएम मोदी होंगे क्वारैंटाइन?
सामना ने लिखा है, 'जो आयुष मंत्रालय अपनी दवाइयों के उपयोगी होने का दावा कर रहा था, वही अपने मंत्री को कोरोना पॉजिटिव होने से नही बचा पाया।' सामना ने ये भी पूछा है कि क्या पीएम मोदी ‘क्वारैंटाइन’ होंगे। संपादकीय में लिखा, 'महंत गोपाल दास के संक्रमित होने की जानकारी मिलने के बाद हमारे प्रधानमंत्री मोदी भी ‘क्वारैंटाइन’ होंगे क्या? यह सवाल उठता है। बता दें कि पिछले दिनों महंत गोपाल दास कोरोना पॉजिटीव पाए गए थे। उन्होंने 5 अगस्त को राम मंदिर भूमि पूजन के कार्यक्रम में भाग लिया था जहां पीएम मोदी भी पहुंचे थे।

अमेरिका प्रेम पर निशाना

सामना में कहा गया है कि डंके की चोट पर बेबाकी से बर्ताव करने वाले रूस का आदर्श हमारे राजनेता नहीं रखेंगे। वो आज भी अमेरिका के प्रेम में दीवाने हुए पड़े हैं। रूस द्वारा बनाई गई ‘वैक्सीन’ को गैरकानूनी ठहराने का प्रयास वैश्विक स्तर पर शुरू हो चुका है लेकिन रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने इस वैक्सीन को सबसे पहले अपनी युवा बेटी को ही लगवाया और अपने देश में आत्मविश्वास निर्माण किया।

बढ़ती बेरोजगारी पर चिंता
सामना ने ये भी आरोप लगाया है कि कोरोना के चलते देश भर में बेरोजगारी बढ़ रही है। लिखा है, ' आज देश के 14 करोड़ लोगो के बेरोजगार होने की बात अधिकृत तौर पर कही गई लेकिन देश चलानेवाली दिल्ली को ही काम नहीं है, ऐसी अवस्था है।'

खबरें और भी हैं...