पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भारतीय सेना में पहली बार:दो महिला ऑफिसर उड़ाएंगी हेलिकॉप्टर, नासिक के कॉम्बैट आर्मी एविएशन ट्रेनिंग स्कूल में हुआ सिलेक्शन

नासिक11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आर्मी एविएशन के एक साल के कोर्स में शामिल होने के लिए 15 महिला अधिकारियों ने स्वैच्छिक आवेदन किया था। - Dainik Bhaskar
आर्मी एविएशन के एक साल के कोर्स में शामिल होने के लिए 15 महिला अधिकारियों ने स्वैच्छिक आवेदन किया था।

इंडियन आर्मी में कार्यरत दो महिलाएं ऑफिसर पहली बार हेलिकॉप्टर उड़ाएंगी। आर्मी एविएशन कोर में पहली बार दो महिला अधिकारियों को नासिक स्थित कॉम्बैट आर्मी एविएशन ट्रेनिंग स्कूल में प्रशिक्षण के लिए चुना गया है। इंडियन आर्मी की ओर से बुधवार को बताया गया कि अभी तक महिला अधिकारियों को केवल ग्राउंड ड्यूटी ही दी जाती थी।

जुलाई 2022 में पूरी होगी ट्रेनिंग

आर्मी एविएशन के एक साल के कोर्स में शामिल होने के लिए 15 महिला अधिकारियों ने स्वैच्छिक आवेदन किया था। लेकिन, कड़ी चयन प्रक्रिया के बाद केवल दो अधिकारी ही इसमें जगह बना सकी। इस चयन प्रक्रिया में 'पायलट एप्टीट्यूड बैटरी टेस्ट' और मेडिकल टेस्ट शामिल था। इस बैच में 47 ऑफिसर शामिल हैं। जुलाई में शुरू होने वाली यह ट्रेनिंग जुलाई 2022 में पूरी होगी।

आर्मी में एविएशन विंग में तैनात महिलाओं को अभी तक एयर ट्रैफिक कंट्रोल या ग्राउंड ड्यूटी पर ही लगाया जाता था। आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने महिला अधिकारियों को आर्मी एविएशन शाखा में चयन करने की अनुमति देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। सरकार ने फरवरी 2021 में संसद को बताया था कि वर्तमान में सेना, नौसेना और वायु सेना में 9,118 महिलाएं कार्यरत हैं।

महिलाओं के लिए सेना में नए रास्ते खोलना सराहनीय:राजेश्वरी कोरी

नवंबर 1986 में स्थापित, आर्मी एविएशन कोर उन्नत हल्के हेलिकॉप्टर ध्रुव, चेतक, चीता और चीतल हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल करता है। पिछले 6 साल के दौरान सेना में महिलाओं की संख्या में तीन गुना वृद्धि हुई है। सिविल डिफेंस (महाराष्ट्र) की डिप्टी कंट्रोलर और पूर्व लेफ्टिनेंट कमांडर राजेश्वरी कोरी ने कहा, ''सशस्त्र बलों को महिलाओं के लिए नए रास्ते खोलते देखना वाकई अद्भुत है।" राजेश्वरी कोरी 1997 में युद्ध पोतों पर महिलाओं को तैनात करने के लिए एक शार्ट टर्म इंडियन नेवी एक्सपेरिमेंट का हिस्सा रहीं थीं।

खबरें और भी हैं...