आरक्षण खत्म करने का विरोध:21 मई को मप्र बंद कराने का निर्णय

अशोकनगर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बगैर ओबीसी आरक्षण प्रक्रिया पूरी किए हो रहे निकाय व पंचायत चुनाव को लेकर अब ओबीसी महासभा ने भी मैदान में उतरने का निर्णय ले लिया है। बाकायदा इसके लिए शनिवार को महासभा की बैठक हुई और आगामी 21 मई को प्रदेश बंद कराने की चेतावनी दे डाली।

ओबीसी महासभा की जिला स्तरीय मीटिंग में सभी सदस्यों ने सर्वसम्मति से अपनी राय रखी और अपने अपने समाज के लोगों को प्रेरित करने और 21 मई को आंदोलन के लिए समर्थन में लाने के लिए जिम्मेदारी दे दी। पदाधिकारियों ने कहा कि ओबीसी आरक्षण खत्म हो रहा है। इसके विरोध राजनैतिक पार्टियों में पदों पर बैठे ओबीसी वर्ग के नेताओं को भी अपने पद से त्यागपत्र दिलाने के लिए तैयार करेंगे। साथ ही बैठक में मौजूद ओबीसी वर्ग के व्यापारियों से इस दिन दुकान बंद रखने के साथ ही अपने साथियों को भी समर्थन देने के लिए तैयार करने का जिम्मा दे दिया।

बैठक में कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष डॉ. बृजेंद्र सिंह यादव, प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ. भगवत सिंह लोधी, प्रदेश संगठन मंत्री दौलत प्रताप सिंह लोधी, प्रदेश सचिव नारायण प्रजापति, जिला संरक्षक डॉ. बीरेंद्र सिंह यादव, जिला अध्यक्ष कार्यकारी रमेश कुमार कुशवाह, जिला महामंत्री अशोक रजक, नगर अध्यक्ष रामस्वरूप शिवहरे, तहसील अध्यक्ष नेपाल कुशवाह आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...