2 गांव में अतिक्रमण पर चला बुलडोजर:वर्षों पुराने जीर्णशीर्ण भवन को तोड़ा, प्ले ग्राऊंड का अतिक्रमण भी हटवाया

अशोकनगर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ईसागढ़ में 2 गांव में शासकीय अतिक्रमण की भूमि को मुक्त कराया गया है जिसमें सारसखेड़ी गांव एवं जाजनखेड़ी गांव से अतिक्रमण हटाया है । दोनों गांव में अलग-अलग टीम भेजी गई जहां पर राजस्व एवं पुलिस की मौजूदगी में अतिक्रमण मुक्त कराया। सारसखेड़ी चौकी के पास एक दो कमरों का भवन बना हुआ था। जब ग्राम पटवारी ने मौका जांच कर रिपोर्ट दी कि यह भवन शासकीय भूमि पर है और वर्षों से इसमें कोई रहता नहीं है। गांव के कुछ दबंगों ने आदिवासी व गरीब मजदूरों के माध्यम से इस कीमती जमीन पर कब्जा करने की कोशिश की, लेकिन इनमें से कोई भी प्रशासन के सामने ना तो उपस्थित आया । पंचायत की ओर से भी जब यह स्पष्ट कर दिया गया कि यह अतिक्रमण है । फिर पटवारी तहसीलदार एवं पुलिस बल ने जेसीबी ले जाकर 10 लाख की कीमत के भवन को तोड़ दिया ।

जाजनखेड़ी में सरकारी जमीन से हटवाया अतिक्रमण

जाजनखेड़ी में सामुदायिक भवन के पास में सरकारी जमीन पर अतिक्रमणकारी ने पहले एक छोटी सी झोपड़ी बनाई और इसके बाद बड़ा सा क्षेत्र घेरकर बल्लियों के सहारे तारफेंसिंग कर दी। अतिक्रमणकारी यही नहीं रुका और उसने पक्का मकान बनाने की नियत से नींव खोदकर बिल्डिंग मटेरियल तक डलवा दिया था और वह पक्का निर्माण करने की तैयारी में था। सूचना के बाद कुछ दिनों पूर्व नायब तहसीलदार आलोक श्रीवास्तव ने मौके पर पहुंचकर उसका पक्का निर्माण रुकवा दिया था और बिल्डिंग मटेरियल हटवा दिया था। शेष अतिक्रमण हटाने अतिक्रमणकारी ने मोहलत मांगी थी। मोहलत बीत जाने के बाद भी उसने अपना अतिक्रमण नहीं हटाया था तो अतिक्रमण हटाकर शासकीय भूमि को अतिक्रमणकारी के अवैध कब्जे से मुक्त कराया।