स्थानीय रहवासियों को भारी परेशानी:केशोपुर रोड पर नहीं बनी नालियां, बाल्टी से गड्ढ़ों का गंदा पानी फेंकते हैं रहवासी

पिपरई24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पिपरई-अशोकनगर-कुशोपु र रोड पर शहरी क्षेत्र में सड़क किनारे नालियां नहीं बनी है। सड़क किनारे नालियां नहीं बनने से स्थानीय रहवासियों को भारी परेशानी होती है। नालियां नहीं होने से लोगों के घरों से निकलने वाला पानी सड़क पर बहता रहता है। इससे सड़क पर कीचड़ होने से कई बार पैदल राहगीर फिसलकर गिर जाते हैं। शहर में शक्ति चौराहे से रेलवे फाटक तक नाली का निर्माण नहीं हुआ है।

इससे लोगों के घरों से निकलने वाले पानी मुख्य सड़क पर फैलता रहता है। इससे लोगों को भारी परेशानी होती है। सबसे अधिक परेशानी केशोपुर रोड पर स्थानीय रहवासियों को होती है। स्थानीय रहवासियों ने अपने घरों के आगे पाइप डालकर गड्ढ़ा खोद लिया है। इस गड्ढे में दिनभर लोगों के घरों से निकलने वाला पानी भर जाता है। इस पानी को स्थानीय रहवासियों द्वारा सुबह बाल्टियों में भरकर फेंक दिया जाता है।

वहीं कई लोगों के घरों से निकलने वाला पानी सीधा सड़क पर फैलता है। इससे सड़क से गुजरने वाले वाहन चालकों को परेशानी होती है। वहीं कीचड़ होने के कारण कई बार पैदल राहगीर यहां से निकलते समय फिसलकर गिर जाते हैं।

रहा मच्छरों का लार्वा
गंदे पानी में मच्छरों का लार्वा पनप रहा है। इससे मच्छरों की संख्या में वृद्धि हो रही हैं। क्षेत्र में मच्छर जनित बीमारियां फैल रही हैं। वहीं गंदे पानी में कई तरह के कीटाणु और मक्खियां गंदगी पर बैठती हैं। इसके बाद यह मक्खियां लोगों के घरों में आकर खाद्य सामग्री पर बैठकर उसे दूषित कर रही है। इससे बीमारियां फैलने की संभावना है।

आए दिन होते हैं विवाद
केशोपुर रोड पर पानी भरने से यहां से निकलने वाले वाहन चालकों और पैदल राहगीरों के बीच आए दिन वाद-विवाद होता रहता है। सड़क पर फैले पानी में से जब तेज गति से वाहन निकलता है तो सड़क पर भरा पानी उचट कर पैदल राहगीरों पर गिर जाता है। इससे आए दिन वाद-विवाद की स्थिति बनती है।

सड़क किनारे हुए गड्ढ़ों में कई सालों से गंदा पानी भरा है। इस गंदे पानी के सड़ने के दिन भर बदबू उठती है। इससे रहवासियों को सांस लेने में भी परेशानी होती है। रहवासियों ने नगर परिषद का गठन होने के बाद कई बार नगर परिषद कार्यालय और स्थानीय पार्षद से भी केशोपुर रोड पर नाली बनवाने के लिए आवेदन दिया है। हर बार नगर परिषद के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा जल्द नाली बनाने का आश्वासन दिया जाता है। लेकिन अभी तक इस सड़क पर नाली निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ है।

नगर परिषद की बैठक में भी उठा मुद्दा
शनिवार को हुई नगर परिषद की मासिक बैठक में भी वार्ड क्रमांक 4 की पार्षद लक्ष्मीबाई जगदीश अहिरवार ने यह मुद्दा उठाया। पार्षद ने बैठक में बताया कि पुरानी पानी की टंकी से लेकर रामलीला मैदान, केशोपुर रोड, रेलवे फाटक तक सड़क के दोनों तरफ नाली नहीं बनी है। इससे लोगों को भारी परेशानी होती है। उन्होंने इस नाली को जल्द बनाने की मांग की है।

"हमने नालियों के निर्माण का प्रस्ताव मीटिंग में रख दिया है। प्रस्ताव पारित होने के बाद उसे भोपाल भेजेंगे। वहां से मंजूरी मिलने पर शक्ति चौराहे से रामलीला मैदान, केशोपुर रोड होते हुए रेलवे फाटक तक नाली का निर्माण कराया जाएगा।"
-अशोक बाल्मीकि, सीएमओ, पिपरई

खबरें और भी हैं...