1.75 करोड़ की संपत्ति का ब्योरा मिला:बालाघाट में समन्वयक अधिकारी के 20 बैंक खाते होल्ड, प्रॉपर्टी होगी राजसात

बालाघाटएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

बालाघाट में 33 साल की सरकारी नौकरी में आय से अधिक संपत्ति जमा करने वाले खैरलांजी जनपद पंचायत में पदस्थ समन्वयक अधिकारी रमेश पटले के घर ईओडब्ल्यू की तलाशी व जांच फिलहाल पूरी हो चुकी है। 13 घंटे चली जांच में टीम को लगभग 1.75 करोड़ की संपत्ति का ब्योरा मिला है, जिसकी अग्रिम जांच शुरू कर दी गई है। डीएसपी, ईओडब्ल्यू मंजीत सिंह ने बताया कि आरोपी रमेश पटले के लांजी, वारासिवनी सहित अन्य स्थानों में 20 बैंक खाते मिले हैं।

सभी खातों को होल्ड कर दिया गया है। बैंक खातों की डिटेल खंगाली जा रही है। इसके लिए ईओडब्ल्यू ने बैंकों को पत्र लिखकर खाता कब खोला गया, कब कितनी राशि का ट्रांजेक्शन हुआ आदि जानकारी मांगी गई है। इसके अलावा आने वाले दिनों में आरोपी की प्रॉपर्टी को राजसात करने की कार्रवाई शुरू की जाएगी।

ईओडब्ल्यू की टीम बीती शाम 7 बजे जबलपुर लौट गई, जो अब जब्त संपत्ति को खंगालने का कार्य शुरू करेगी। गौरतलब है कि भ्रष्टाचार की शिकायत व गोपनीय जांच के बाद ईओडब्ल्यू जबलपुर की टीम ने गुरुवार को आरोपी रमेश पटले के वारासिवनी के गंगोत्री कॉलोनी स्थित मकान में छापामार कार्रवाई की थी। गुरुवार शाम 7 बजे तक चली कार्रवाई में टीम को सोना-चांदी, नगदी सहित पत्नी लक्ष्मी पटले के नाम प्रॉपर्टी व बीमा कंपनियों में निवेश की रसीदें मिली थीं।