वाहनों की रफ्तार पर नहीं लग रहा ब्रेक:धानीटोला में पिकअप की टक्कर से युवक की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया चक्काजाम

बालाघाट10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बालाघाट में तेज भागते वाहनों पर आरटीओ की अनदेखी के कारण कई जिंदगियों को सड़क पर अपनी जान देनी पड़ रही है। एक बार फिर तेज रफ्तार का कहर जिले की सड़क पर देखने को मिला है। जहां धान से ओवरलोड भरे पिकअप वाहन की तेज रफ्तार के कारण एक युवक की दर्दनाक मौत हो गई।

घटना वारासिवनी थाना क्षेत्र अंतर्गत धानीटोला की है, जहां बुधवार सुबह वारासिवनी से कटंगी की ओर से जा रहे पिकअप वाहन क्रमांक सीजी 04 जे 3403 के चालक ने लापरवाही पूर्वक तेज रफ्तार में वाहन चलाते हुए साइकिल सवार 20 वर्षीय युवक को टक्कर मार दी। जिससे गंभीर रूप से घायल पंकज पिता विजय फुलबांधे की अस्पताल लाते समय मौत हो गई।

घटना के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने पिकअप वाहन में भरी धान की बोरियों को ही सड़क पर रखकर चक्का जाम कर दिया। ग्रामीणों का कहना है कि रोड बनने के बाद बड़े-बड़े वाहन रोज तेज रफ्तार से गुजरते है। इसी वजह से हादसे हो रहे है। जल्द ही इस मार्ग पर स्टापर लगाया जाए। आखिर घंटे भर के प्रदर्शन के बाद पुलिस की समझाइश पर ग्रामीणों ने आंदोलन को खत्म किया। जिसके बाद मार्ग पर आवागमन सुचारु हो सका।

बताया जाता है कि युवक पंकज सुबह 8.30 बजे किराना का सामान लेने साइकिल से किराना दुकान जा रहा था। इसी दौरान वारासिवनी से कटंगी की ओर धान से भरे पिकअप वाहन ने उसे जबरदस्त टक्कर मार दी और उसके बाद वाहन पलट गया। घटना में युवक पंकज को गंभीर हालत में सिविल अस्पताल ले जाया जा रहा था, इसी दौरान उसकी मौत हो गई।

अस्पताल तहरीर के बाद वारासिवनी पुलिस ने शव बरामद कर पंचनामा कार्यवाही के बाद शव का पीएम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। घटना पर आयोग अध्यक्ष गौरीशंकर बिसेन ने दुख जाहिर करते हुए कहा कि तेज रफ्तार पर ब्रेक लगाने की जरूरत है।

गौरतलब हो कि विगत दिनों तेज रफ्तार में महिला की मौत के बाद मचे बवाल पर आयोग अध्यक्ष व विधायक बिसेन ने आरटीओ को चेताते हुए साफ कहा था कि तेज रफ्तार पर ब्रेक लगे, लेकिन उसके बाद भी तेज रफ्तार वाहनों पर कोई ब्रेक नहीं लग रहा है।

खबरें और भी हैं...