जनप्रतिनिधियों की समझाइश:बहिष्कार नहीं, अब मतदान करेंगे नवलपुरा के लोग

मंडवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नगर के समीपस्थ ग्राम पंचायत सुराणा के अंतर्गत आने वाले ग्राम नवलपुरा तक पहुंच मार्ग जर्जर हाे गया है। रोड नहीं बनने व गांव की समस्याओं का निराकरण न होने से नाराज ग्रामीणों ने पहले पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने का फैसला लिया था लेकिन जनप्रतिनिधियों की समझाइश पर उन्होंने चुनाव में मतदान करने का निर्णय लिया है।

जनप्रतिनिधियों द्वारा ग्रामीणों को वोट की ताकत बताई गई। साथ ही सरकारी प्रक्रिया के तहत रोड का निर्माण होना है। इसमें कुछ समय लगेगा। लोगों से किसी भी प्रत्याशी को वोट डालने के लिए प्रेरित किया, ताकि लोग चुनाव का बहिष्कार न करें और मतदान कर गांव के विकास में भागीदारी करें।

इसके बाद ग्रामीणों ने चुनाव का बहिष्कार न करते हुए वोट डालने का निर्णय लिया है। सुराणा से नवलपुरा पहुंच मार्ग के जर्जर हालत में होने से निमार्ण नहीं हुआ है। इसके चलते ग्रामीणों ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने का फैसला लिया था। अब जनप्रतिनिधियों के समझाने पर लोग मान गए हैं और वोट देने का फैसला लिया है।

ग्रामीण एक मत होकर इस चुनाव में वोट डालेंगे। नवलपुरा निवासी गोपाल चौहान, विजय सोलंकी, अखिलेश परिहार, संतोष परिहार, लालू फुलसिंह, मगन देवाजी, जगदीश परमार, कैलाश दिपाजी, कैलाश सोलंकी ने बताया जनप्रतिनिधियों ने तर्क दिया है कि चुनाव में अपने वोट का अधिकार होता है।

इस अधिकार से वंचित नहीं होना चाहिए। आप किसी को भी वोट करें लेकिन अपने मताधिकार का उपयोग करें। इसके चलते ग्रामीणों ने मतदान करने का फैसला लिया है।

सांसद का गोद लिया ग्राम है सुराणा
ग्राम पंचायत सुराणा सांसद गजेंद्रसिंह पटेल का गोद लिया ग्राम है। बावजूद ग्राम पंचायत के नवलपुरा में लोगों को मूलभूत सुविधाओं के अभाव में चुनाव के बहिष्कार का फैसला लेना पड़ा। हालांकि अब ये लोग मतदान करेंगे। ग्रामीणों ने बताया कि नवलपुरा तक रास्ता जर्जर हो गया है। पैदल चलना भी मुश्किल है। गिट्टी उखड़कर रोड पर बिखर गई है।

स्कूल वाहन चालकों ने जर्जर मार्ग होने से इस ओर वाहन नहीं लाने की सूचना दी है। ऐसे में परिजनों को बच्चों को सुराणा फाटे पर डेढ़ किमी दूर लाने और छोड़ने जाना पड़ेगा। तीन साल से मुख्यमंत्री नल-जल योजना का काम चल रहा है लेकिन अभी तक पेयजल आपूर्ति नहीं कर पा रहे हैं। नल कनेक्शन कर छोड़ दिए हैं।

खबरें और भी हैं...