नेशनल लोक अदालतों का आयोजन:लोक अदालत में 1897 प्रकरण का किया निराकरण, लॉकडाउन उल्लंघन के  पांच प्रकरणों का भी  किया निराकरण

बड़वानी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में शनिवार को सभी न्यायालय परिसरों में नेशनल लोक अदालतों का आयोजन किया गया। लोक अदालत की शुरुआत जिला न्यायालय परिसर से प्रधान जिला सत्र न्यायाधीश आनंद कुमार तिवारी, एसपी दीपक कुमार शुक्ला व विशेष न्यायाधीश जाकिर हुसैन ने की। प्रधान जिला सत्र न्यायाधीश तिवारी ने कहा लोक अदालतें त्वरित, सुलभ न्याय के अच्छे माध्यम हैं। इन अदालतों में निराकृत प्रकरणों से पक्षकारों के मध्य आपसी सौहार्द बना रहता है। क्योंकि विवाद का निराकरण आपसी समझौते से किया जाता है। इस दौरान 14 मई को आयोजित नेशनल लोक अदालत में कोविड के दौरान लगाए गए लॉकडाउन उल्लंघन के 5 प्रकरणों का निराकरण किया। दर्ज प्रकरण में निंदा करके पक्षकार को मुक्त कर दिया गया।

जिला सहित तहसील न्यायालयों में आयोजित नेशनल लोक अदालत में 1895 प्रकरणों का निराकरण हुआ। 10 करोड़ 59 लाख 45 हजार 34 रुपए का अवार्ड पारित हुआ। निराकृत प्रकरणों से 1897 लोगों को लाभ मिला। जिला न्यायालय में प्रीलिटिगेशन के 8893 प्रकरण प्रस्तुत किए गए। इनमें से 1477 प्रकरणों का निराकरण कर उनमें 86 लाख 53 हजार 95 रुपए का अवार्ड पारित हुआ। वहीं लंबित 2006 प्रकरण में से 418 का निराकरण कर 9 करोड़ 72 लाख 91 हजार 939 रुपए का अवार्ड पारित किया गया।

खबरें और भी हैं...