केंद्र सरकार द्वारा:एक्साइज ड्यूटी कम करने का विरोध, दो घंटे बंद रहे पंप

बड़वानीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल व डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाने के विरोध में पंप संचालकों ने विरोध जताया। बुधवार रात को दो घंटे जिले के कई पंप बंद रखे। 21 मई को केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 8 और डीजल पर 6 रुपए लीटर एक्साइज ड्यूटी घटा दी थी। 22 मई को रविवार होने से पंप संचालकों ने पेट्रोल व डीजल का स्टॉक किया था।

पंप संचालकों ने बताया केंद्र द्वारा अचानक एक्साइजड्यूटी घटाने से लाखों रुपए का नुकसान हुआ है। क्योंकि हमने पुरानी एक्साइज ड्यूटी का भुगतान कर पेट्रोल,डीजल बुलवाया। लेकिन सरकार ने एक्साइज ड्यूटी कम कर दी। इसके चलते पेट्रोल के दाम में 9.50 व डीजल के रेट में 7.26 रुपए की कमी आ गई थी।

एसोसिएशन द्वारा सरकार के फैसले के खिलाफ बुधवार को शाम 7 से रात 9 बजे तक पेट्रोल पंप बंद रखने का निर्णय लिया था। जिला बड़वानी पेट्रोल डीलर वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष राधेश्याम साहू ने बताया केंद्र सरकार जिस तरह से रोजाना पेट्रोल,डीजल में 80-90 पैसे बढ़ा रही थी।

2013 से नहीं बढ़ा कमीशन
पंप संचालकों ने बताया 2013 के बाद से कमीशन नहीं बढ़ाया है। अब 1.80 रुपए डीजल पर व पेट्रोल पर 2.80 रुपए कमीशन डीलर को मिलता है। इसमें से ही डीलर को कर्मचारियों का वेतन, बिजली बिल, बैंक में राशि जमा कराने का कैश हैंडलिंग चार्ज आदि खर्च वहन करना होते हैं।

सरकार ने एक्साइज ड्यूटी घटा दी। लेकिन कमीशन नहीं बढ़ाया जा रहा है। पंप संचालकों ने बताया एक बार में 5 लाख रुपए जमा कराने पर बैंक 1800 से 1900 रुपए कैश हैंडलिंग चार्ज वसूलती है। बैंक में क्रेडिट लिमिट डीलर लेता है।

खबरें और भी हैं...