MP की लुटेरी दुल्हन का इंटरव्यू:कहा- पति पानी लेने गया, मैं मौका देखकर भाग गई'; जानिए ससुरालवालों को कैसे दिया धोखा?

नरेंद्र मुकाती, बड़वानी7 दिन पहले

मेरे पति सेंधवा में जिनिंग फैक्ट्री में काम करते हैं। मैं अपने तीन बच्चे और पति के साथ सेंधवा (मूल निवासी मड़गांव) रहती थी। पति से व ससुराल में अनबन होने पर कुछ समय पहले बड़वानी स्थित सेगांव में आकर रहने लगी। यहां पर दिनेश नाम के युवक से पहचान हुई। जिसका घर आना-जाना था। उसने झांसे में लिया और फर्जी शादी कराने की बात कही। उसने बताया कि ऐसा करने में उसे भी रुपए मिलेंगे। मैंने दिनेश की बात मान ली और शादी करने के लिए राजी हो गई। इसमें मुझे 30 हजार रुपए मिले।

यह कहना है बड़वानी में पकड़ी गई लुटेरी दुल्हन सोनू उर्फ जानू का। जो कि पहले से शादीशुदा और तीन बच्चों की मां है। सोनू ने बताया कि दिनेश ने पूरी प्लानिंग की और शादी के लिए लड़का तलाश किया। लड़का मुझे देखने के लिए आया। शादी की तारीख तय हुई। करी में एक महिला के घर ले जाकर शादी कराई। यहां डेढ़ लाख रुपए लिए, लेकिन मुझे 30 हजार रुपए ही दिए। बाकी दिनेश व मेरे दो फर्जी भाई व फर्जी मां ने रख लिए।

ससुरालवालों का व्यवहार देखा तो लगा धोखा ना दूं
गुजरात में ससुराल पहुंची तो यहां पर लोग बहुत खुश थे। मन तो नहीं किया कि इन्हें धोखा दें, लेकिन पहले से ही तय था कि किस तरह के बहाने बनाकर यहां से भागना है। आठ दिन बाद दिनेश के साथी राजाराम (फर्जी भाई) का फोन पति के पास आया और बड़वानी आने का कहा। पति मुझे बड़वानी लेकर आया और राजपुर चलने के लिए कहा। पहले से ही राजाराम ने बता दिया था कि रास्ते में प्यास का बहाना करना। मैंने राजपुर के पहले पति से पानी मांगा। जो पास की दुकान पर लेने के लिए गया। जैसे ही पति पानी लेने गया, मैं मौका देखकर भाग गई।

पीरियड्स का बहाना बना, नहीं मनाने दी सुहागरात
आरोपी सोनू ने गुजरात के युवक अर्जुन सिंह से शादी की थी। महिला इतनी शातिर है कि शादी के बाद पीरियड्स का बहाना बनाकर पति को सुहागरात भी नहीं मनाने दी। 8 दिन बाद ही आरोपी जेवर और डेढ़ लाख रुपए लेकर फरार हो गई। इस मामले में पीड़ित अर्जुन ने कोतवाली थाने में शिकायत की। उसने बताया कि एक रिश्तेदार के माध्यम से सोनू से मेरा परिचय हुआ। हमें बताया गया कि लड़की कुंवारी है, लेकिन भागने के बाद पता चला कि वो दो बच्चों की मां है। मेरे साथ इतना बड़ा धोखा, मैं सोच भी नहीं सकता। मेरा सब कुछ लुट गया, अब मैं क्या करूं।

ये है पूरा मामला
पुलिस ने बताया शुक्रवार को बड़वानी कोतवाली में एक लुटेरी दुल्हन का मामला सामने आया, जो डेढ़ लाख रुपए लेकर फरार हो गई थी। जिसके बाद पुलिस ने लुटेरी दुल्हन व उसकी फर्जी मां को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। अब मास्टरमाइंड दिनेश व अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस के अनुसार लुटेरी दुल्हन सोनू उर्फ जानू ने गुजरात के युवक से 22 अप्रैल को बड़वानी के करी गांव में शादी की थी। आठ दिन तक वह पति के साथ रही और बीमारी का बहाना बनाकर बड़वानी आने की जिद करने लगी। बड़वानी आते समय दुल्हन ने पति से पानी मांगा। जैसे ही वह दुकान पर पानी लेने गया, तो वह रफूचक्कर हो गई। युवक गुजरात लौटा और परिजन को पूरी बात बताई। युवक ने शुक्रवार को कोतवाली में इसकी FIR दर्ज कराई थी। जिसके बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

6 माह पहले ग्वालियर में की थी शादी, लिए थे 1.20 लाख रुपए
लुटेरी दुल्हन ने 6 महीने पहले ग्वालियर के एक युवक को भी ठगा था। उससे शादी करने के एवज में इन ठगों ने 1.20 लाख रुपए लिए थे। इसके लिए वो 5 दिन वहां रुकी थी और फिर रफूचक्कर हो गई। पीड़ित युवक ने सेंधवा ग्रामीण थाने में लुटेरी दुल्हन व इसके साथियों के खिलाफ FIR दर्ज कराई थी। इस शादी में सोनू को 40 हजार रुपए मिले थे।

दो फर्जी शादी करने के बाद भी असली पति को नहीं लगी भनक
लुटेरी दुल्हन की गिरफ्तारी के बाद उसके पति को भी कोतवाली बुलाया गया। पति ने बताया कि उसकी पत्नी क्या कर रही है, उसे अब पता चला है। वह कई दिनों में घर आता था। इस बीच पत्नी क्या करती थी। उसे इस बारे में कुछ भी पता नहीं।