बड़वानी की पानसेमल जनपद की काउंटिंग:3,50,000 की संपत्ति वाली 10वीं पास रंजीता बनीं जलगोन ग्राम पंचायत की सरपंच, भाजपा के 24 प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की, देखें पूरी लिस्ट

बड़वानी2 महीने पहले

बड़वानी जिले के विकासखण्ड पानसेमल से ग्राम पंचायत जलगोन से बीजेपी प्रत्याशी रंजीता आर्य ने जीत दर्ज की है।रंजीता आर्य ने 10वी पास की है। ये 3,50,000 की सम्पति की मालिक हैं। बड़वानी जिले के विकासखण्ड पानसेमल में शनिवार को प्रथम चरण में 39 ग्राम पंचायतो में मतदान हो चुका है। आज 187 मतदान केंद्रों पर कुल 102902 मतदाताओं ने मतदान किया है। मतों की गिनती शुरू हो चुकी है। बारिश के कारण वोटिंग में परेशानी आई। कुछ पोलिंग बूथ पर गिनती हो चुकी है। 71.8% वोटिंग दर्ज की गई है। मतराला पंचायत में भाजपा प्रत्याशी सुनील जाधव 96 वोट से जीते। ग्राम पंचायत कानसुल से अक्का बाई नारगावे 500 वोट से जीतकर सरपंच बनीं हैं। ये बीजेपी प्रत्याशी हैं।

पानसेमल की 39 पंचायतों में से भाजपा के 24, कांग्रेस के 14 ओर एक निर्दलीय सरपंच ने जीत दर्ज की है। 14 जनपदों में से 11 पर भाजपा की जीत, 2 कांग्रेस और 1 निर्दलीयों जितने की बात सामने आई है। ग्राम देवधर में भाजपा कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाया।त्रि- स्तरीय पंचायत चुनाव में पहले चरण में पानसेमल ब्लॉक के 39 ग्राम पंचायतों में चुनाव हुए। इसमें 14 जनपद पंचायत सदस्य और 1 जिला पंचायत सदस्यों के चुनाव हुए। इसमें मतगणना होने के बाद उम्मीदवारों से मिली जानकारी के अनुसार इस बार भाजपा ने जिला पंचायत की सीट सहित जनपद ओर पंचायतों में अधिकतम उम्मीदवारो की जीत का दावा किया है। हालांकि अधिकृत घोषणा 14 और 15 जुलाई को होगी।

शनिवार को हुए मतदान में 39 ग्राम पंचायतों में 80.87 फीसदी लोगों ने मतदान किया। इसमें पुरुष 40869 और 40314 महिला मतदाताओं ने मतदान किया। रात में 2 बजे बाद मतगणना पूरी होने के बाद उम्मीदारों ने अपने अभिकर्ताओं से जानकारी जुटाना शुरू की। इसमें रविवार शाम तक जिला पंचायत सदस्य के लिए भाजपा उम्मीदवार जुलाल वसावे 5 हजार से ज्यादा वोटो से जीतने की बात सामने आई। वहीं उनकी पत्नी रेलुबाई वसावे ने भी ग्राम देवधर पंचायत में सरपंच पद के लिए 93 वोटों से जीत हासिल की। वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के अनुसार पानसेमल जनपद की 14 सीटों में से भाजपा ने 11 सीट जीती है। वहीं 2 सीटों पर कांग्रेस और 1 पर निर्दलीय उम्मीदवार के जितने की जानकारी सामने आई है। वहीं ग्राम पंचायतों की बात करे तो 39 में से 24 ग्राम पंचायतों में भाजपा समर्थित उम्मीदवारों ने सरपंच का चुनाव जीता। वहीं 14 सरपंच पद पर कांग्रेस पार्टी के समर्थित प्रत्याशी जीते है। वहीं 1 निर्दलीय उम्मीदवार सरपंच का चुनाव जीता है। चुनाव मतगणना और रुझान आने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने देवधर पहुंचकर जिला पंचायत प्रत्याशी और उनकी पत्नी का स्वागत कर आतिशबाजी की।

बीजेपी प्रत्याशी रंजीता आर्य ने जीत दर्ज की है।
बीजेपी प्रत्याशी रंजीता आर्य ने जीत दर्ज की है।

जहां हुआ चुनाव का बहिष्कार वहां अब मतदान दल का स्वागत

शुरुआत में मेन्द्रना में खराब रोड के विरोध में ग्रामीणों ने मतदान नहीं किया। मतदान दल के लौटने पर शासकीय महाविद्यालय पानसेमल पहुंचा। यहां सहायक निर्वाचन अधिकारी अपर कलेक्टर रेखा राठौड़, संयुक्त कलेक्टर एसडीएम पानसेमल अंशु जावला ने गिनती कर सबसे पहले पहुंचने वाले मतदान दल का फूलों के हार से स्वागत किया। मेन्द्रना गांव से सिर्फ 10 वोट दर्ज किए गए।

मतदान दल का किया गया स्वागत।
मतदान दल का किया गया स्वागत।
पोलिंग बूथ पर लोगों की लंबी लाइन लगी रही।
पोलिंग बूथ पर लोगों की लंबी लाइन लगी रही।
मतों की गणना जारी
मतों की गणना जारी

चुनाव बहिष्कार के बीच एक जलगोन पंचायत से एक दिल्स्चप तस्वीर सामने आई। पोता अपनी 85 साल की दादी को गोद में लेकर मतदान केंद्र पहुंचा।

85 साल की दादी को ले कर वोट डलवाने आया पोता
85 साल की दादी को ले कर वोट डलवाने आया पोता

अधिकारियों से नाराजगी के बीच देर सवेर लोग मतदान केंद्र पहुंचने लगे। पानसेमल के कई मतदान केंद्रों पर निर्धारित समय 3 बजे के बाद भी लोगों की लाइन लगी है। लाइन में लगे मतदाताओं को पीछे से टोकन दिया जा रहा है। ओसवाड़ा पंचायत में 154 मतदाता बाकी रह गए हैं।

खराब सड़क के कारण वोट देने नहीं गए लोग
खराब सड़क के कारण वोट देने नहीं गए लोग

पानसेमल के मेन्द्राणा में मतदाताओं ने मतदान का बहिष्कार कर रहे थे । वे सड़क और नाली बनाने की बात पर अड़े रहे। प्रशासन के अफसर उन्हें मनाने में लगे रहे।

यहां 700 मतदाता हैं। सुबह से 12 बजे तक सिर्फ 4 वोट डाले गए। ग्रामीणों का कहना है की सरपंच और नेता सिर्फ चुनाव के वक्त आते है। हमारे गांव में न तो कोई रोड है न ही पंचायत को सुविधा मिली है। इस कारण कोई भी वोट नही डाल रहा है। सुबह से अधिकारी ग्रामीणों को मनाने में लगे हुए है। जिसमे 4 वोट डाले गए है जिस पर भी ग्रामीणों ने आपत्ति ली है कि शासन द्वारा छुप कर डलवाए गए है।

तहसीलदार राकेश सस्तिया ने बताया ग्रामीणों ने विकास कार्य नहीं होने के चलते विरोध किया है। मतदान केंद्र पर 4 वोट डले है। इसलिए हम मतदान का बहिष्कार नहीं मान रहे हैं। वहीं सरपंच अमरसिंह मकवाने ने बताया हमने काम किया है लेकिन फिर भी विरोध हो रहा है। सचिव ने पंढरीनाथ पाटील ने कहा मेन्द्राणा में नाली पानी की टंकी और हौज का निर्माण किया है। लोगों का कहना है की पूर्व सरपंच सचिव ने भ्रष्टाचार कर रोड का काम नहीं किया। उनका प्रकरण जिला पंचायत में चल रहा है।

वही सेक्टर एवं कार्यपालिक मजिस्ट्रेट तथा पुलिस पदाधिकारियों ने भी अपनी उपस्थिति क्षेत्र में सतत् बनाये रखी। मतदान प्रक्रिया शांतिपूर्ण रूप से संचालित होती रही।

कई मतदान केन्द्रों पर बांटे गये 300 से अधिक टोकन

लंबी लाइन के कारण कार्यवाहक मजिस्ट्रेट और सेक्टर अधिकारियों ने लाईन में लगे मतदाताओं को पीछे से टोकन देकर मतदान की प्रक्रिया को जारी रखा। कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा और पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार शुक्ला के साथ निर्वाचन आयोग के प्रेक्षक प्रभात कुमार वर्मा ने पूरे दिन क्षेत्र में घूम-घूमकर मतदान प्रक्रिया का निरीक्षण किया।

पहले चरण के मतदान के दौरान पानसेमल के कई ऐसे मतदान केन्द्र थे, जहां पर 150 से अधिक टोकन वितरित किये गए। इसमें विकासखण्ड पानसेमल के ग्राम ओसवाड़ा में 156, पिपलोद में 152, टेमला में 151, तो सबसे कम जूनापानी एवं चिचवानी में क्रमशः 15 एवं 14 टोकन बांटे गये। विकासखण्ड पानसेमल में टोकन बांटने वाले केन्द्रों की संख्या 39 थी।

दोपहर 1 बजे तक हो चुकी थी 50 प्रतिशत वोटिंग

जिला निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार दोपहर 1 बजे तक विकासखण्ड पानसेमल की ग्राम पंचायतो में 52.80 प्रतिशत मतदान हो चुका था । इसके बाद भी अधिकांश मतदान केन्द्रों पर लम्बी-लम्बी कतार लगी थी ।

पानसेमल जनपद की पूरी जानकारी

  • 1 जिला पंचायत सदस्य
  • 14 जनपद पंचायत सदस्य
  • 39 सरपंच
  • 753 पंच का निर्वाचन करेंगे
  • महिला मतदाता 52665
  • पुरूष मतदाता 50237
  • 30 संवदेनशील मतदान केन्द्र

मतों की गिनती और परिणाम की घोषणा मतदान के तुरंत बाद की जाएगी। इसमें सरपंच, पंच, जनपद पंचायत सदस्य और जिला पंचायत सदस्य के मतों की गिनती की जाएगी। पंच, सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य की मतगणना का आधिकारिक रिजल्ट 14 जुलाई को आएगा।

पानसेमल के जलगोन पंचायत पर रहेंगी सबकी नजर

पानसेमल क्षेत्र में सिर्फ एक जिला पंचायत की सीट है। इस सीट पर 3 उम्मीदवार मैदान में है। पानसेमल के इतिहास में आज तक जिला पंचायत में न तो अध्यक्ष बना है और न ही उपाध्यक्ष। इस बार अगर भाजपा उम्मीदवार जीतता है तो लोगों को उम्मीद है कि इस बार अध्यक्ष पानसेमल क्षेत्र से बन सकता है।

जानकारी सूत्रों के अनुसार है। अधिकृत रिजल्ट 14 जुलाई को निर्वाचन आयोग जारी करेगा।

बड़वानी की सेंधवा पंचायत की वोटिंग LIVE:सुबह 11 बजे तक 26.3% मतदान, वोट डालने में महिलाएं सबसे आगे

खबरें और भी हैं...