चुनावी घोषणा नहीं हुई पूरी:सेंधवा की चुनावी सभा में सीएम ने किया था वादा- अगली कैबिनेट में मंडी टैक्स कम करूंगा

सेंधवा3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कपास पर मंडी शुल्क के कारण दिक्क्त हो रही है। जिनिंग फैक्ट्रियां बाहर जा रही थी। कैबिनेट की अगली बैठक में कपास पर मंडी टैक्स वापस करूंगा और बाकी राज्यों के जैसी स्थिति पैदा करूंगा। जो उद्योग बाहर चले गए हैं उन्हें वापस लेकर आऊंगा। उद्योग और व्यापार में जो भी रुकावट हो बताना। नगरीय निकाय चुनाव के दौरान 14 जनवरी को सेंधवा में हुई सभा में मंच ये घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की थी।

इससे व्यवसायी खुश थे। कैबिनेट का इंतजार कर रहे थे। 24 जनवरी मंगलवार को भोपाल में कैबिनेट की बैठक हुई लेकिन इसमें मंडी टैक्स कम करने को लेकर फैसला तो दूर कोई निर्णय नहीं लिया गया। इस तरह मुख्यमंत्री की चुनावी घोषणा फिलहाल पूरी नहीं हुई है।

हड़ताल की थी, मिला था प्रतिनिधिमंडल
कपास से मंडी शुल्क कम करवाने को लेकर मध्यांचल कॉटन जिनर्स एंड ट्रेडर्स एसोसिएशन के आव्हान पर जिले के कपास कारोबारियों ने पिछले साल नवंबर माह में हड़ताल की थी। खरगोन-बड़वानी सांसद गजेंद्रसिंह पटेल ने मध्यस्थता कर हड़ताल स्थगित करवाई थी। इसके बाद खरगोन-बड़वानी के कपास कारोबारियों का प्रतिनिधिमंडल सीएम से मिला था। सीएम ने आश्वासन दिया था। सेंधवा के कपास व्यवसायी चाचरिया में आयोजित पेसा एक्ट जागरुकता कार्यक्रम के दौरान भी मिले थे।

मांग : पड़ोसी राज्यों के समान टैक्स करें
वर्तमान में प्रदेश में 1.50% मंडी शुल्क व 0.20% निराश्रित शुल्क अर्थात कुल 1.70% शुल्क लग रहा है। जबकि पड़ोसी प्रदेशों महाराष्ट्र व गुजरात में मंडी शुल्क सिर्फ 0.50% है। राजस्थान में मंडी टैक्स हटा दिया है। मप्र में भी दूसरे राज्यों के समान टैक्स करने की मांग की जा रही है। टैक्स कम होता है तो प्रदेश सहित निमाड़ के कपास उद्योग को राहत मिलेगी।

समस्या : एक महीना ही बचा है सीजन
कपास का सीजन एक महीना ही बचा है। सरकार यदि जल्दी टैक्स कम नहीं करती है तो वर्तमान सीजन में व्यापारियों को लाभ नहीं मिल पाएगा। उधर, मंडी बोर्ड ने क्षेत्र की मंडियों में पिछले 3-4 साल में कपास की आवक और उससे मिले मंडी टैक्स की जानकारी मांगी है। मंडियों से ये जानकारी मंगलवार को भेजी गई है।

ये बोले बैठक के प्रत्यक्षी...

सरकार निर्णय लेगी

सीएम ने बोला है तो प्रदेश सरकार निर्णय लेगी। कपास से मंडी टैक्स कम हो जाएगा। अगली एक-दो कैबिनेट बैठक में करवा लेंगे।
-गजेंद्रसिंह पटेल, सांसद खरगोन-बड़वानी

अगले सप्ताह चर्चा करूंगा

व्यापारियों का प्रतिनिधि मंडल जब सीएम से मिला था तब भी उन्होंने टैक्स कम करने की बात कही थी। अगले सप्ताह बैठक में चर्चा करूंगा। सीएम ने घोषणा की थी तो जरूर पूरी करेंगे।
-प्रेमसिंह पटेल, कैबिनेट मंत्री

प्रक्रिया की जा रही है

कपास पर मंडी टैक्स कम करने को लेकर प्रक्रिया की जा रही है। मुख्यमंत्री ने घोषणा की है तो जरूर पूरी होगी।
- अंतरसिंह आर्य, पूर्व मंत्री

जानकारी लेकर बताऊंगा

मुख्यमंत्री ने सेंधवा में क्या घोषणा की थी और उस संबंध में क्या हुआ इसकी जानकारी लेकर बता पाऊंगा।
-हरदीप सिंह डंग, जिला प्रभारी मंत्री

खबरें और भी हैं...