सामाजिक कार्यकर्ता ने सीएम को ईमेल से भेजा पत्र:मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद भी नहीं बना नागलवाड़ी भिलट देव शिखरधाम पहुंच मार्ग

सेंधवा8 दिन पहले

निमाड़ का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल और लाखो श्रद्धालुओ की आस्था का केंद्र नागलवाड़ी शिखरधाम स्थित भिलट देव मंदिर पहुंच मार्ग मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद भी आज तक नही बन पाया है। शहर के सामाजिक कार्यकर्ता बीएल जैन ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ईमेल से पत्र भेजकर पुनः शिकायत पहुंच मार्ग निर्माण की मांग की है।

वही एक दिवसीय शहर के दौरे पर आए प्रभारी मंत्री हरदीप सिंह डंग से पूछने पर उन्होंने कहां मैं भी वहां गया हैं वहां सीसी रोड बनना चाहिए मेरी ओर से भी सीएम को पत्र लिखा है।मुझे विश्वास है जल्द सड़क निर्माण होगा।

राजपुर तहसील के नागलवाड़ी शिखर धाम स्थित भीलट देव मंदिर के पहुंच मार्ग निर्माण की घोषणा प्रदेश के मुख्यमंत्री ने करीब साढे 11 वर्ष पूर्व की गई थी अब तक यह घोषणा मूर्त रूप नहीं ले सकी है। इसके लिए भेजे गए इस्टीमेट को 4 साल बाद भी प्रशासकीय स्वीकृति नहीं मिली है। मुख्यमंत्री ने 29 अक्टूबर 2010 को भीलटदेव शिखरधाम मार्ग पर

सीमेंटीकरण व उद्यान को और सुंदर बनाने की घोषणा की थी। घोषणा पूरी नहीं होने पर सामाजिक कार्यकर्ता बीएल जैन ने 4 अप्रैल 2017 को मुख्यमंत्री को विस्तृत शिकायत दर्ज कराई गई थी। सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज करवाने के बाद अधीक्षण यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा मंडल इंदौर ने 24 फरवरी 2018 को 369.85 लाख रुपए का इस्टीमेट तकनीकी स्वीकृति के साथ मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत बड़वानी को भेजा था। 4 साल होने के बाद भी इसकी प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान नहीं की गई। इस तरह मुख्यमंत्री की घोषणा की धज्जियां उड़ाई जा रही है।

भीलट देव मंदिर में नागपंचमी मेले में 4 से 5 लाख व रोजाना 2 से 5 हजार श्रद्धालु यहां दर्शन करने आते हैं। शिखर धाम घुमावदार पहाड़ी पर स्थित है। जहां वर्तमान में कच्चा रोड बना है। कच्चे रोड के कारण यहां कई बार दुर्घटनाएं हुई है। इसमें 6 से 7 सालों में 50 से अधिक दुर्घटनाओं में 9 लोगो की मौत हो चुकी है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी नागलवाड़ी आकर 26 फरवरी 2019 को इस रोड के निर्माण की घोषणा की थी।

खबरें और भी हैं...