आमला में विधिक साक्षरता शिविर:न्यायधीशों ने श्रमिकों के अधिकारों की दी जानकारी, शिविर लगाकर किया स्वास्थ्य परीक्षण

आमला10 दिन पहले

आमला के ग्राम ससुंद्रा में तहसील विधिक सेवा समिति और स्वास्थ्य विभाग आमला की ओर से विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान स्वास्थ्य परीक्षण शिविर भी लगाया गया। न्यायाधीश एनएस ताहेड ने कार्यक्रम में कहा कि विभिन्न कानून बने हुए हैं उनका अमल भी होता है।

आपको अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होने की जरूरत है। इसके लिए सूचना का अधिकार अधिनियम का उपयोग किया जा सकता है। न्यायाधीश अतुल राज भलावी ने सरपंच और रोजगार सहायक से गांव में चलने वाले रोजगार गारंटी कार्यक्रम की जानकारी ली और उन्हें नियम अनुसार कार्य करने के लिए निर्देशित किया। न्यायाधीश रीना पिपलिया ने महिला अधिकारों के कानून की जानकारी दी।

अधिवक्ता अनिल पाठक, रानी शेख, रवि देशमुख, हरि शंकर पाल, यशपाल सिंह ठाकुर, डॉक्टर शैलेंद्र, महेश कुमार, कुमारी शीतल कबड़े ने भी संबोधित किया। गौरतलब है कि सर्वोच्च न्यायालय और उच्च न्यायालय के राष्ट्रीय कार्यक्रम के तहत एक मई से 7 मई तक मजदूर सप्ताह मनाया जा रहा है।

इसके तहत नालसा और सालसा की विभिन्न योजनाओं के तहत मजदूरों का स्वास्थ्य परीक्षण कर, उन्हें विधिक जानकारी देने के लिए तहसील विधिक सेवा समिति की ओर से यह आयोजन किया था। कार्यक्रम का संचालन वकील राजेंद्र उपाध्याय ने किया और आभार प्रदर्शन सरपंच संगीता माथनकर ने किया।

खबरें और भी हैं...