परमंडल के सभी जल स्त्रोत सूखे:ग्रामीण दो किमी दूर से ला रहे पीने का पानी, सभी हैंडपंप भी खराब, खरीदना भी पड़ जाता है पानी

मुलताई8 दिन पहले

जल संकट के दौर से मुलताई क्षेत्र का कोई गांव अछूता नहीं है, लेकिन मुलताई किनारे बसा परमंडल भीषण जल संकट के दौर से गुजर रहा है। यहां के लोगों को 2 किलोमीटर पैदल चलकर हाईवे किनारे एक बोर पर पानी भरने जाना पड़ रहा है। कुछ लोग साइकिल से पानी ला रहे हैं तो कुछ लोग सिर पर पानी लेकर परिजनों की प्यास बुझा रहे हैं।

मुलताई से लगभग 2 किलोमीटर दूर ग्राम परमंडल में सूखा पड़ा हुआ है। परमंडल के सभी बोर सुख गए हैं। ऐसे ने परमंडल से 3 किलोमीटर दूर ग्राम सर्रा से पानी लाना पड़ रहा है, सर्रा के एक बोर में पानी होने से तीन किलोमीटर पाइप लाइन बिछाकर पानी लाया जा रहा, जिससे परमंडल में 4 से 5 दिन के अंतराल में जल प्रदाय किया जा रहा है। गांव के सभी बोर सूख जाने से गांव में पानी की समस्या बनी हुई है।

इधर सांसद द्वारा हाईवे पर स्थित एक बोर में पाइप बढ़वाकर इस बोर को चालू करवाया गया है।ऐसे में ग्रामीण साइकिल और पैदल आकर इस बोर से पानी भर रहे हैं। परमंडल में नल जल योजना के माध्यम से घर-घर पानी तो पहुंच रहा है, लेकिन हर चौथे, पांचवें दिन 30 से 40 मिनट पानी दिया जा रहा है।

ऐसे में लोगों के पानी की पूर्ति नहीं हो पा रही है, जिस कारण उन्हें गांव से लगभग डेढ़ से 2 किलोमीटर दूर आकर पानी भरना पड़ रहा है। यहां भी पानी भरने के लिए भारी संख्या में लोग जमा रहते हैं व नंबर आने पर पानी मिल पाता है।

ग्रामीणों ने बताया कि गांव के सभी हैंडपंप खराब है और सुख चुके हैं। गर्मी में हर साल पानी को लेकर ग्रामीण परेशान रहते हैं। इस साल सर्रा से पानी आ रहा है,वरना ग्रामीणों को पानी खरीदकर पीना पड़ता।

खबरें और भी हैं...