बैतूल खदान में हादसा:तवा-1 कोयला खदान में 2 मजदूरों की मौत, क्रॉसकट में लेवल सपोर्ट लगा रहे थे मजदूर

बैतूलएक महीने पहले

कोयला कंपनी वेस्टर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड (WCL) की पाथाखेड़ा स्थित तवा-वन कोयला खदान में बीती रात एक हादसे में एक कोयला श्रमिक और ठेका मजदूर की मौत हो गई। जबकि एक घायल हो गया। घटना से मजदूरों में नाराजगी है। ठेकेदार मृत मजदूरों के परिजनों को आर्थिक मदद की मांग कर रहे हैं। हादसा तवा वन खदान में बगड़ोना क्रॉस कट 57 लेवल में सपोर्ट लगाते समय हुआ। हादसे में सपोर्ट मजदूर चैतराम वरकड़े (30) और मजदूर भोला की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं कामगार सुनील के दाहिने पैर में चोट आई है। हादसा मुहाने से भूमिगत खदान में करीब 3 KM दूर हुआ। यहां डेवलपमेंट का काम चल रहा था।

भूमिगत कोयला खदान में हादसे की खबर लगते ही रेस्क्यू वेन लेकर टीम खदान पर पहुँची। साथ ही तीन एम्बुलेंस भी मौके पर पहुँची। इसके बाद तीन अलग अलग एम्बुलेंस से मृतकों और घायल को अस्पताल लाया गया। जांच के बाद चिकित्सकों ने दो लोगों को मृत घोषित कर दिया। वहीं घायल सुनील को इलाज के लिए भर्ती किया गया है।

बगडोना क्रॉस कट 57 लेवल में डेवलपमेंट के समय सपोर्ट लगाते समय करीब तीन मीटर लंबा और एक फ़ीट चौड़ा पत्थर अंबाडा निवासी सपोर्ट मजदूर चैतराम और खैरवानी निवासी ठेका मजदूर भोला पर गिर गया। पत्थर के नीचे दबने से दोनों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि जहां हादसा हुआ। वहां रूफ के आगे-पीछे सपोर्ट नहीं था। बताया जा रहा हैं कि सपोर्ट के समय रेजिंग कैप्सूल का उपयोग किया जाना चाहिए। लेकिन पाथाखेड़ा क्षेत्र में सीमेंट कैप्सूल का उपयोग किया जा रहा। जबकि पाथाखेड़ा क्षेत्र में रेजिंग वाली रेडिएंट मशीन उपलब्ध है पर उपयोग में नहीं लाई जा रही है।

इधर घटना से मजदूरों में नाराजगी है। नाराज श्रमिकों ने तीसरी पाली में काम बन्द करवा दिया। इधर ठेका मजदूर भोला के परिजनों को आर्थिक मदद की मांग को लेकर भी प्रदर्शन किया जा रहा है।